भोपाल न्यूज़ (Bhopal News)

गुस्से में श्योपुर की जनता

  • ऊर्जा मंत्री को सुनाई खरी-खोटी, सिर्फ अफसर और नेताओं से मिले प्रभारी मंत्री
  • कलेक्टर-एसपी को पर फूटा आक्रोश, गाडिय़ों के कांच तोड़े

भोपाल/श्योपुर। ग्वालियर-चंबल (Gwalior-Chambal) के जिलों में 500 गांव बाढ़ में डूब गए हैं। जबकि पोहरी, शिवपुरी, श्योपुर एवं अन्य शहरेां मे भी पानी भरा है। श्योपुर में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। तीन दिन तक पूरा शहर 10 से 20 फीट पानी में डूबा रहा है। इस बीच शासन प्रशासन की ओर से किसी तरह की मदद नहीं पहुंची। जब तीन दिन बाद बाढ़ का पानी उतरा तो अफसर और नेता जनता के बीच पहुंचे तो लोगों का गुस्सा फूट पड़ा।
श्योपुर कलेक्टर एपी (Sheopur Collector AP) को खरी खोटी सुनाई और भीड़ ने गाडिय़ों पर पथराव कर दिया। विधायक जंडेल सिंह (MLA Jandel Singh) एवं सीताराम आदिवासी (Sitaram Adivasi) को खदेड़ दिया। जनता का आक्रोश इतना था कि ऊर्जा मंत्री को भी खरीखोटी सुननी पड़ी। मुख्यमंत्री के निर्देश पर गुरुवार देर शाम प्रभारी मंत्री भारत सिंह कुशवाह (Minister in charge Bharat Singh Kushwaha) श्योपुर पहुंचे, लेकिन वे जनता के बीच नहीं गए। वे भाजपा नेता और अफसरों की बैठक लेते रहे।
श्योपुर जिला 2 अगस्त से ही बाढ़ की चपेट में आ गया था, लेकिन प्रशासन ने 4 अगस्त को बाढ़ में फंसे लेागों की सुध ली। 5 अगस्त को पानी उतर गया तब मदद तेजी हुई। पीडि़तों को राशन किट से लेकर भोजन के पैकेट भेजे गए। गृहस्थी नष्ट होने की वजह से लोग सड़कों पर ही हैं। ऐसे में अधिकारी जब शहर का हाल जानने निकले तो उन्हें नाराजगी का शिकार होना पड़ा। बाढ़ में फंसे लोगों को प्रशासन की ओर से कोई मदद न मिलने और अब बाढ़ का पानी निकल जाने के 2 दिन बाद भी बिजली, पानी और भोजन की व्यवस्था न करने के कारण लोगों में यह गुस्सा पनपा। जिले में कूनो, क्वारी, अमराल, सीप नदी में बाढ़ से शहर के साथ कई गांव डूब गए थे। मकान गिरने या बुरी तरह क्षतिग्रस्त होने से बड़ी संख्या में लोग बेघर हो गए हैं।

कलेक्टर-एसपी ने भागकर बचाई जान
लोगों ने कलेक्टर और एसपी को घेर लिया और उनके साथ झूमा झटकी की। कलेक्टर की कार का पिछला शीशा भी तोड़ दिया। बमुश्किल पुलिस फोर्स की मदद से कलेक्टर-एसपी को भीड़ से निकाला गया। इस दौरान एसपी ने लोगों का गुस्सा भांपकर वहां से दौडऩा शुरू कर दिया था। इससे पहले कलेक्टर राकेश कुमार श्रीवास्तव को कुछ महिलाओं ने घेर लिया। वे उनके पैरों में जा गिरीं। महिलाओं ने कलेक्टर से कहा कि आप तो एसी बंगलों में रहते हैं। आपको ऐसे हमारी पीड़ा सुनकर समझ नहीं आएगी।

सीएम का दौरा टला, मंत्री ने दी सफाई
मुख्यमंत्री गुरुवार केा श्योपुर जाने वाले थे, लेकिन खराब मौसम की वजह से दौरा निरस्त हो गया। हालांकि शाम श्योपुर पहुंचे ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा कि हेलीकॉप्टर में तकनीकी खराबी आने के कारण मुख्यमंत्री श्योपुर नहीं आ सके। ऊर्जा मंत्री ने सब स्टेशनों का निरीक्षण किया। लोगों का गुस्सा देखकर वे पीडि़तों से नहीं मिले। ऊर्जा मंत्री के बाद देर रात जिले के प्रभारी मंत्री भारत सिंह कुशवाह श्योपुर पहुंचे। वे अफसर और नेताओं से मिले, लेकिन जनता के बीच अभी तक नहीं गए।

Share:

Next Post

Kamalnath कल बाढ़ प्रभावित इलाकों का करेंगे हवाई दौरा

Fri Aug 6 , 2021
भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) 7 अगस्त को बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा करेंगे। कांग्रेस (Congress) के मीडिया समन्ययक नरेंद्र सलूजा (Narendra Saluja) के मुताबिक शनिवार को सुबह कमलनाथ ग्वालियर से दतिया, शिवपरी और श्योपुर का हवाई दौरा करने वाले हैं। साथ ही वे ग्वालियर में पार्टी नेता एवं अधिकारियों से बाढ़ को लेकर […]