जीवनशैली स्‍वास्‍थ्‍य

गर्मियों में चाहते हैं चेहरे पर ग्‍लोइंग निखार तो ट्राई करें ये होममेड स्‍क्रब

नई दिल्‍ली। गर्मी के मौसम(summer season) में त्वचा बहुत जल्दी टैनिंग का शिकार हो जाती है. जरूरी नहीं कि आप धूप के सीधे संपर्क में आए तभी टैनिंग की समस्या(tanning problem) होगी. बल्कि आप अधिक तापमान वाले स्थान पर यदि शेड में भी बैठे होंगे, तभी भी त्वचा पर टैनिंग हो सकती है. इसकी वजह होती हैं, गर्म हवाएं और सूरज की हीट. अगर आप भी स्लीवलेस कपड़े पहनना पसंद करती हैं लेकिन टैनिंग की वजह से ऐसा नहीं पा रही हैं तो यहां बताए गए टिप्स आपके बहुत काम आएंगे. हम यहां आपको कुछ खास घरेलू स्क्रब(home scrub) के बारे में बता रहे हैं, जिनके जरिए आप अपनी त्वचा को टैनिंग फ्री रख सकती हैं…

1. बेसन का स्क्रब
बेसन में कुछ बूंद सरसों का तेल, गुलाबजल और चंदन पाउडर (Rose water and sandalwood powder) मिलाकर पेस्ट तैयार करें. इस पेस्ट को त्वचा पर स्क्रब की तरह उपयोग करें और फिर 15 मिनट के लिए लगा छोड़ दें. इसके बाद आप नहा लें. यह स्क्रब आपकी त्वचा को शांत करने और बढ़ी हुई डार्कनेस (Darkness) को दूर करने का काम करेगा.


2. कॉफी का स्क्रब
आप एक कटोरी में कॉफी पाउडर, बूरा और नारियल तेल मिलाकर स्क्रब तैयार करें. कॉफी और बूरे की मात्रा समान रखें. अब इस स्क्रब से त्वचा की सफाई करें और फिर 10 मिनट के लिए त्वचा पर लगा छोड़ दें. यह स्क्रब आपकी डेड सेल्स हटाकर, टैनिंग रीमूव(tanning remover) करने में मदद करेगा.

3. सौंफ का स्क्रब
आप सौंफ को मिक्सी में पीस लें और इसे एक जार में भरकर रख लें. अब इसमें से एक चम्मच पिसी हुई सौंफ लें, गुलाबजल लें और सौंफ जितनी मात्रा में ही मुलतानी मिट्टी लें. तीनों चीजों को मिलाकर पेस्ट तैयार करें. इसे स्क्रब की तरह त्वचा पर लगाएं और 15 मिनट लगाने के बाद नहा लें. इससे त्वचा को ठंडक मिलेगी और डार्कनेस भी दूर होगी. यह स्क्रब स्किन की स्मूद और ग्लोइंग बनाने में भी मददगार है. आप इसे हर तरह की त्वचा पर उपयोग कर सकते हैं.

नोट- उपरोक्‍त दी गई जानकारी व सुझाव सामान्‍य जानकारी के लिए हैं हम इसकी सत्‍यता व जांच का दावा नही करते हैं.

Share:

Next Post

नेपाल-अमेरिका में 65.9 करोड़ डॉलर के विकास मदद समझौते पर हस्ताक्षर, चीन ने जताई खुशी

Sat May 7 , 2022
काठमांडो। नेपाली संसद द्वारा अमेरिका से मिलेनियम चैलेंज कॉरपोरेशन (MCC) अनुदान की पुष्टि के कुछ ही सप्ताह बाद दोनों देशों ने एक और समझौते पर दस्तखत किए हैं। इससे हिमालयी देश को सहायता में 65.9 करोड़ डॉलर की अमेरिकी सहायता मिलेगी। काठमांडो पोस्ट ने खबर दी है कि अगले पांच वर्षों के लिए अनुदान मध्यम […]