बड़ी खबर

कोविड-19 के बावजूद जेईई में पिछली बार के मुकाबले 10 प्रतिशत का ही अंतर : निशंक

नई दिल्ली। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बुधवार को इस बात पर संतोष व्यक्त किया कि कोरोना के बावजूद इस साल संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई-मेन्स) में पिछले साल के मुकाबले छात्रों के उपस्थिति में मात्र 10 प्रतिशत का ही अंतर है।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने जेईई परीक्षा के दूसरे दिन छात्रों की उपस्थिति का हवाला देते हुए कहा कि मुझे खुशी है कि देश जेईई-मेन्स और नीट परीक्षाओं के आयोजन के लिए केंद्र सरकार के फैसले के साथ मजबूती से खड़ा है। उन्होंने कहा कि इस बार की परीक्षाओं में पिछली बार के मुकाबले छात्र उपस्थिति में मुश्किल से 10 प्रतिशत का ही अंतर है। सरकार ने छात्रों के हित में ये फैसला लिया। मुझे खुशी है कि आज पूरा देश इस निर्णय के साथ खड़ा है।

निशंक ने कहा कि मैं छात्रों को बधाई देता हूं कि उन्होंने इन विषम परिस्थितियों में अध्ययन किया और परीक्षा दे रहे हैं। मुझे अभिभावकों के बहुत सारे संदेश आए हैं वो व्यवस्थाओं से काफी ज्यादा खुश हैं। इसके लिए मैं प्रदेशों के मुख्यमंत्री गणों का आभार प्रकट करता हूं।

उल्लेखनीय है कि इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिए मंगलवार से जेईई – मेन्स की परीक्षा 660 केन्द्रों पर शरू हो गई। यह 6 सितंबर तक चलेंगी। जेईई के 8.58 लाख उम्मीदवारों में से 7,77,465 से अधिक उम्मीदवाररों ने इस साल अपने एडमिट कार्ड डाउनलोड किए हैं। (एजेंसी, हि.स.)

Next Post

राजस्थानः राज्य मंत्रिमण्डल की बैठक में नई पर्यटन नीति को मंजूरी

Wed Sep 2 , 2020
जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में बुधवार को हुई राज्य मंत्रिमण्डल की बैठक में राज्य की नई पर्यटन नीति-2020 का अनुमोदन करने के साथ ही कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। प्रदेश के पर्यटन विकास की दृष्टि से महत्वपूर्ण इस नई नीति में पर्यटन विकास के नीतिगत दिशा-निर्देश प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री की अध्यक्षता […]