विदेश

लाहौर मेट्रो अपने चीनी स्टाफ को देती है पाकिस्तानियों से ज्यादा वेतन

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पंजाब मास ट्रांजिट अथॉरिटी फॉर ऑरेंज लाइन मेट्रो ट्रेन (ओ एलएमटी) अपने चीनी स्टाफ को पाकिस्तानी स्टाफ की तुलना में बहुत ज्यादा वेतन दे रही है। इस तरह का भेदभाव पूर्ण रवैया पाकिस्तानी स्टाफ के मनोबल को भी ठेस पहुंचाता है, जिनको चीनी स्टाफ की तुलना में अलग ग्रेड दिया जाता है। इसके बाद चीनी स्टाफ को युआन में सैलरी दी जाती है जबकि पाकिस्तानियों को पाकिस्तानी रुपये में। बुधवार को एक सीएनवाई एक पीकेआर की तुलना में 24.02 रुपए के बराबर था । एक डाटा के अनुसार ओएलएमटी के 93 चीनी कर्मियों की सैलरी का अध्ययन किया गया तो पता चला कि चीनी कर्मियों की सैलरी बहुत ज्यादा थी।

पाकिस्तानी कर्मी जो चीनी कर्मियों के समकक्ष पद पर कार्यरत हैं, उनको अपने चीनी समकक्ष की तुलना में बहुत कम पैसे मिल रहे हैं। डाटा के अनुसार एक चीनी डेप्युटी चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर/ सीएफओ/ ग्रेड एल 2 के डायरेक्टर को प्रति महीने 1,36,000 सीएनवाई मिल रहे हैं जोकि 3.26 मिलियन रुपये के बराबर हैं। यह तीन पोजीशन हैं, जिन पर चीनी कर्मी काबिज है । कोई भी पाकिस्तानी इन पदों पर कार्यरत नहीं है । एक चीनी अधिकारी जोकि डीजीएम रैंक पर है उसे 83,000 सीएनवाई प्रतिमाह मिलते हैं जोकि 1.9 मिलियन रुपये के बराबर होते हैं। एक पाकिस्तानी व्यक्ति जोकि डीजीएम के रैंक पर है उसे 6,25,000 रुपए मिलते हैं। इस रिपोर्ट के अनुसार 43 ऐसे चीनी है जो टेक्नीशियन और ट्रेन ऑपरेटर के पद पर कार्यरत हैं और 47,500 सीएनवाई लगभग 1.13 मिलियन रुपये के बराबर सैलरी के रूप में प्राप्त करते हैं जबकि एक स्थानीय ट्रेन ऑपरेटर को 60,000 प्रतिमाह मिलते हैं।

पाकिस्तानी कर्मियों ने अपने चीनी समकक्षों के वेतन का हवाला देते हुए कई बार वेतन में बढ़ोतरी की मांग की है । इसी बीच पंजाब मास ट्रांजिट अथॉरिटी के जनरल मैनेजर (ऑपरेशन) उजेर शाह ने कहा कि ओएलएमटी में कार्यरत पाकिस्तानियों का मनोबल नहीं गिरेगा अगर वह अपने स्थानीय कर्मियों से अपने वेतन की तुलना करेंगे। उन्होंने आगे कहा कि चीनी और पाकिस्तानियों की वेतन की तुलना कभी भी नहीं की जा सकती।

Next Post

कलयुगी पिता ने नाबालिग बेटी के साथ किया बलात्कार का प्रयास

Fri Nov 6 , 2020
मां के साथ थाने पहुंची बेटी ने दर्ज कराई बलात्कार की एफआईआर भोपाल। कोलार इलाके में रहने वाला सरकारी विभाग का एक ड्राइयर अपनी ही बेटी पर कई दिनों से बुरी नजर रख रहा था। कल मौका मिलते ही उसने बेटी के प्राइवेट पार्ट्स के साथ छेडख़ानी शुरू कर दी। बच्ची ने शोर मचाया तो […]