देश

अजमेर में मदरसे के बच्चों ने ही किया था मौलवी का कत्ल, कारण जानकर खिसक जाएगी पैरों तले जमीन

अजमेर. अजमेर (Ajmer) पुलिस (Police) ने कंचन नगर मस्जिद (Mosque) के मौलाना (Maulvi) की हुई हत्या (murdered ) की वारदात का सनसनीखेज खुलासा किया है. मौलवी की हत्या किसी और नहीं बल्कि मस्जिद में ही तालीम लेने वाले बच्चों ने की थी. उन्होंने मौलाना के अत्याचारों से तंग आकर पहले उसे नींद की गोली देकर सुला दिया. फिर लाठी डंडों से पीट पीटकर उसे मौत के घाट उतार दिया. बाद में पुलिस के सामने झूठी कहानी गढ़ दी. पुलिस ने पूरे मामले की जांच पड़ताल कर मौलवी की हत्या के इस मामले में मस्जिद में पढ़ रहे 6 बच्चों को निरुद्ध किया है. उनसे इस मामले में और पूछताछ की जा रही है.


मामले का खुलासा करते हुए अजमेर एसपी देवेंद्र बिश्नोई ने बताया कि 27 अप्रेल को मोहम्मद तौफीक अशरफ ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि रामगंज थाना इलाके के कंचन नगर स्थित मोहम्मदी मस्जिद के इमाम मौलाना मोहम्मद माहिर की हत्या कर दी गई है. इस मामले में वहीं के बच्चों ने तीन लोगों को हमला कर भागते हुए देखा है. मौलाना की हत्या लाठियों और डंडों से पीट-पीटकर की गई है.

मनोवैज्ञानिक रूप से की गई पूछताछ में सामने आया सच
रिपोर्ट दर्ज होने और मौका मुआयना करने के बाद पुलिस ने केस की जांच पड़ताल शुरू की. बच्चों के बयान के आधार पर अपनी जांच को आगे बढ़ाया. इसके साथ ही आसपास के लोगों से भी पूछताछ की गई. मामले में कई तथ्य और साक्ष्य खंगाले गए लेकिन पुलिस को सफलता नहीं मिली. इसके बाद फिर अलग-अलग थाना अधिकारियों के नेतृत्व में टीमों का गठन कर केस की नए सिरे से जांच शुरू की गई. बच्चों से मनोवैज्ञानिक रूप से पूछताछ करने के साथ ही हर एंगल को खंगाला गया. सीसीटीवी कैमरे के फुटेज देखे गए.

अश्लील फिल्में दिखाकर गलत हरकतें करता था
उसके बाद इस ब्लाइंड मर्डर की जो कहानी सामने आई वह चौंकाने वाली थी. एसपी देवेंद्र बिश्नोई ने बताया कि मौलाना माहिर की हत्या करने वाले कोई और नहीं बल्कि वहीं पढ़ाई करने वाले बच्चे ही थे. उनसे पूछताछ में सामने आया कि मौलाना माहिर उन्हें अश्लील फिल्में दिखाकर गलत हरकतें करता था. एक नए लड़के के साथ उसने अप्राकृतिक कृत्य भी किया. सभी के साथ इस तरह का काम करने का दबाव बनाया गया.

निरुद्ध किए गए बच्चों की उम्र लगभग 14 से 16 वर्ष है
इससे तंग आकर उन्होंने मौलाना को मौत के घाट उतारने का प्लान बनाया. निरुद्ध किए गए सभी बच्चों की उम्र लगभग 14 से 16 बताई जा रही है. उन्होंने ही हत्या की पूरी साजिश रची. इसके तहत मौलाना को पहले नींद की गोली दी गई. वह जब गहरी नींद में सो गया तो लाठियों और डंडों से पीटा. उसके बाद उसका गला भी दबा दिया. इससे मौलवी की मौत हो गई. इस मामले में पुलिस ने सभी साक्ष्य और सबूत जुटा लिए हैं. बच्चों से भी बातचीत कर इसकी पुष्टि की गई है.

Share:

Next Post

ब्राजील में भारी बारिश के कारण नदी का स्तर बढ़ा, 20 लाख लोग प्रभावित, जानें मरने वालों की संख्या

Mon May 13 , 2024
रियो डी जेनेरियो। भयंकर बाढ़ के कारण ब्राजील में तबाही मच गई। रविवार को भारी बारिश के कारण दक्षिणी ब्राजील में नदी का स्तर फिर एक बार बढ़ गया। बाढ़ के कारण अबतक 145 लोगों की मौत हो गई। भारी बारिश के कारण रियो ग्रांडे डो सुल के निवासियों को परेशानी का सामना करना पड़ […]