बड़ी खबर

PFI के खिलाफ NIA का एक्शन, 4 राज्यों के करीब दर्जन जगहों पर मारा छापे

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने प्रतिबंधित संगठन पीएफआई के खिलाफ एक्शन लेते हुए देश में दर्जनों जगहों पर छापेमारी की है. इसमें उत्तर प्रदेश ,राजस्थान, महाराष्ट्र और दिल्ली जैसे राज्य भी शामिल हैं.


पीएफआई को पिछले साल आतंकवाद विरोधी गैरकानूनी गतिविधियां अधिनियम (UAPA) के तहत बैन कर दिया गया था. समाचार एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि ये छापेमारी केस नंबर 31/2022 के तहत की गई है. ये मामला पीएफआई, उसके नेताओं और कैडरों की हिंसक और गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल होने से जुड़ा हुआ है. मामले से जुड़े सभी आरोपी पटना के फुलवारी शरीफ इलाके में हिंसक और गैरकानूनी गतिविधियों के उद्देश्य से इकट्ठा हुए थे.

किन-किन जगहों पर चल रही छापेमारी

दिल्ली के थाना हौज काजी इलाके के बल्ली मारान, राजस्थान के टोंक समेत कई ठिकाने, तमिलनाडु के मदुरै, उत्तर प्रदेश के बाराबंकी, लखनऊ, बहराइच, सीतापुर और हरदोई में रेड मारी है. लखनऊ के मदेगंज के बड़ी पकरिया इलाके में एजेंसी ने छापेमारी की. उधर, एनआईए ने मुंबई, ठाणे, नवी मुंबई और महाराष्ट्र के कई जिलों में लगभग पांच स्थानों पर छापेमारी की. एनआईए की टीम ने अब्दुल वाहिद शेख के विक्रोली स्थित आवास के अलावा भिवंडी, मुंब्रा और महाराष्ट्र के कई अन्य जिलों में भी तलाशी ली.

एजेंसी ने अब्दुल वाहिद शेख नाम के शख्स के विक्रोली स्थित आवास पर भी तलाशी ली. 7/11 ब्लास्ट मामले में वाहिद शेख को बरी कर दिया गया था. सूत्रों ने बताया कि एनआईए ने पीएफआई के लिए संदिग्ध अभियानों और धन उगाही गतिविधियों में शामिल होने के संदेह के कारण अलग-अलग जगहों से लगभग 7 से 10 व्यक्तियों को हिरासत में लिया है.

इससे पहले एनआईए ने रविवार (08 अक्टूबर) को तिरुवनंतपुरम हवाई अड्डे से पीएफआई संदिग्ध को हिरासत में लिया था. ये शख्स कुवैत जाने के लिए उड़ान भरने वाला था उससे पहले ही एजेंसी ने उसे पकड़ लिया.

Share:

Next Post

Assembly elections: पांच राज्यों मे चुनावी बिगुल बजते ही CM योगी की मांग बढ़ी

Wed Oct 11 , 2023
लखनऊ (Lucknow.)। मध्य प्रदेश (Madhya pradesh), राजस्थान (Rajasthan), छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) और तेलंगाना (Telangana) में विधानसभा चुनाव (Assembly elections) का शंखनाद हो गया है। चुनाव की तारीखों का एलान होते ही चारों राज्यों से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) की सभा, रैली और रोड शो की मांग बढ़ने लगी है। भाजपा के विश्वस्त सूत्रों […]