इंदौर न्यूज़ (Indore News)

अब नदी-नाले किनारे हुए अवैध निर्माणों पर भी चलेंगे बुलडोजर

  • मध्य क्षेत्र से लेकर कई अन्य इलाकों में हुए निर्माणों की पड़ताल कर रहे निगम के अफसर

इन्दौर। अवैध निर्माणों और अतिक्रमण के खिलाफ नगर निगम का अमला अब कार्रवाई में जुट गया है। पिछले कई दिनों से अवैध निर्माणों को ढहाने की बंद पड़ी मुहिम कल से शुरू हो गई है और कल दो मकानों पर कार्रवाई के साथ ही अब नदी-नाले किनारे बने अन्य मकानों और अवैध निर्माणों की पड़ताल की जा रही है, ताकि वहां भी कार्रवाई की जा सके। ऐसे करीब 50 से ज्यादा स्थानों पर निगम जांच कर रहा है। छत्रीबाग से लेकर हरसिद्धि, मच्छी बाजार, माणिकबाग, त्रिवेणी कालोनी, बद्रीबाग दयानंद नगर, गाडराखेड़ी, सीपी शेखर नगर, तोड़ा, ब्रह्मबाग, वंृंदावन कालोनी, सिकंदरबाद, गोविंदनगर, खारचा, आजादनगर के साथ कई अन्य क्षेत्रों में नदी-नालों के आसपास के हिस्सों में किए अवैध निर्माण की झोनल अधिकारियों के साथ-साथ क्षेत्र के बीओ, बीआई जांच कर रहे हैं, क्योंकि कई शिकायतों के मामले में निगम द्वारा पूर्व में कार्रवाइयां नहीं की गई थी और अब अभियान के चलते सभी जगह के ऐसे मामलों पर कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।


कई लोगों द्वारा नदी-नालों के आसपास के हिस्सों में अवैध निर्माण कर लिए है, जबकि नदी-नालों से 30 मीटर की दूरी तक निर्माण नहीं किए जा सकते। कल लालबाग के समीप त्रिवेणी कालोनी में ऐसे ही दो मकान को नदी के छोर तक बना लिए थे। अधिकारियों का कहना है कि प्रारम्भिक रूप से इसकी पड़ताल कराई जा रही है और सूची बनाई जा रही है, ताकि उसी आधार पर कार्रवाई का प्लान किया जा सके। निगम रिमूवल अमला सभी जगह अधिकारियों के साथ कार्रवाई कर अभियान शुरू करेगा।

Share:

Next Post

पटवारियों और अधिकारियों की मिलीभगत से निरस्त हो रहे मामले, आदेश की कॉपी नहीं हो रही अपलोड

Sat Dec 30 , 2023
538 साइबर तहसील के मामले पेंडिंग 1 जनवरी से पूरे प्रदेश में लागू होने जा रही व्यवस्था इंदौर। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव (CM Mohan Yadav) किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए तेजी से साइबर तहसील के माध्यम से नामांतरण करवाने की तैयारी कर रहे हैं, लेकिन विभागीय अधिकारियों और पटवारियों की मिलीभगत के चलते आवेदकों […]