देश

खून की एक बूंद से पुलिस ने निकाला कातिलों का पता, खाड़ी में फेंका था महिला का शव

मुंबई: महाराष्ट्र के मुंबई की सेशन कोर्ट ने मंगलवार को एक सैलून की फाइनेंस मैनेजर की हत्या के मामले में दो आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. हैरानी वाली बात ये है कि मृतक महिला का शव आजतक नहीं मिला है.पुलिस ने खून की एक बूंद से इस हत्याकांड का खुलासा किया है.

मृतक महिला का नाम कीर्ति व्यास था. कीर्ति बी ब्लंट नाम के एक सैलून में सिद्देश और खुशी के साथ काम करती थी. कीर्ति इस सैलून की फाइनेंस मैनेजर भी थी. जानकारी के मुताबिक, सिद्देश ठीक से काम नहीं कर रहा था. इस वजह से कीर्ति ने उसे एक महीने का नोटिस देते हुए काम सुधारने का मौका दिया था. लेकिन यह बात सिद्देश और खुशी दोनों को नागवार गुजरी. खुशी सिद्देश की गर्लफ्रेंड थी. कीर्ति की ओर से दिए गए नोटिस के बाद से दोनों गुस्से में थे. इस दौरान सिद्देश और खुशी ने कीर्ति को मारने का प्लान बनाया.


जानकारी के मुताबिक, 16 मार्च 2018 को कीर्ति लापता हो गई थी, जिसके बाद उसके घरवालों ने उसे ढूंढा लेकिन वह कहीं नहीं मिली. इसके बाद घबराए घरवालों ने पुलिस से न्याय की गुहार लगाई.वहीं, जानकारी मिलते ही पुलिस की टीम मामले की जांच में जुट गई थी. घटना के करीब चार महीने बाद जांच में जुटी पुलिस की टीम को खुशी की गाड़ी की डिक्की से खून की एक बूंद मिली.

जब पुलिस ने इस खून की बूंद का डीएनए टेस्ट करवाया तो यह कीर्ति के माता-पिता के डीएनए से मैच कर गया, जिसके बाद पुलिस की टीम ने सिद्देश और खुशी को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के मुताबिक, सिद्देश और खुशी ने कीर्ति के अपहरण के बाद गाड़ी में गला घोंटकर हत्या कर दी थी. दोनों ने मृतक कीर्ति के शव को वडाला की खाड़ी में फेंक दिया था. फिलहाल 28 मई को दोनों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है. वहीं, पुलिस आज तक मृतक कीर्ति के शव को ढूंढने में जुटी है.

Share:

Next Post

पत्नी के भरोसे पार्टी और परिवार, पंजाब में बादल फैमिली के अस्तित्व पर संकट

Wed May 29 , 2024
नई दिल्ली: पंजाब की सियासत कभी बादल परिवार के इर्द-गिर्द सिमटी रही है, लेकिन 2017 से अकाली दल सत्ता से दूर ही नहीं बल्कि विधायकों की संख्या घटकर इकाई अंक में पहुंच गई है. बीजेपी से गठबंधन टूटने और शिरोमणि अकाली दल के संरक्षक प्रकाश सिंह बादल के निधन के बाद पहला लोकसभा चुनाव हो रहा […]