विदेश व्‍यापार

नेपाल के रास्‍ते भारत में चाइनीज टमाटर की एंट्री, बॉर्डर पर एसएसबी की पैनी नजर

पूर्णिया (Purnia)। इस समय भारत में लाल टमाटर (Red tomatoes) की तरह ही उसका भाव भी खूब लाल है। मतलब आजकल टमाटर खूब भाव खा रहा है। कई जगहों पर ये 200 के पार पहुंच गया है। बिहार (Bihar) में भी टमाटर 150 रुपए किलो से ज्यादा कीमत पर बिक रहा है। टमाटर की आसमान छूती कीमत को देखते हुए भारत के पड़ोसी देश नेपाल से इसकी खूब तस्करी हो रही है।

बता दें कि नेपाल से रोजाना 200 से 300 टमटम टमाटर तस्करी कर रक्सौल पहुंच रहा है. इसके बाद रक्सौल से ट्रकों में भरकर देश के दूसरे हिस्सों में इसे भेजा जा रहा है। नेपाल में चाइनीज टमाटर की कीमत नेपाली एक सौ रुपये में पांच किलो है, जबकि पूर्णिया की खुश्कीबाग मंडी में अच्छी क्वालिटी के टमाटर की कीमत सौ से डेढ़ सौ रुपये प्रतिकिलो है। जो भारत में सौ रुपये किलो तक बिक जाता है। इस बाबत इंडो – नेपाल बॉर्डर अररिया जिले के फुलकाहा बॉर्डर के समीप ड्यूटी पर तैनात एसएसबी के जवानों ने बताया कि टमाटर की बढ़ती कीमत के साथ ही सीमाई इलाकों पर पैनी निगाह रखी जा रही है। नो मैंस लैंड एरिया पर भी सख्ती बढ़ा दी गई है।



दरअसल, भारतीय क्षेत्रों में रोज बढ़ रही टमाटर की कीमत के कारण चीन लगातार नेपाल में टमाटर की खेप भेज रहा है। जोगबनी बॉर्डर के समीप रानी हाट निवासी बिरजू थापा, आरजू गुरुंग और सब्जी विक्रेता सीता देवी का कहना है कि नेपाल के रानी बाजार में टमाटर पहले की तरह बिक रहा है।

नेपाल के अधिकांश होटल, रेस्टोरेंट में खाने-पीने में चाइनीज आइटम की बिक्री अधिक होती है। इसमें टमाटर की उपयोगिता बहुत ज्यादा है। रानी के दुकानदार ने बताया कि चीन से महज पांच रुपये किलो में टमाटर मिल रहा है। भारतीय क्षेत्रों टमाटर की तस्करी होने से अब नेपाल में धीरे-धीरे टमाटर की कीमतों में इजाफा होने लगा है।

भारत के सीमाई इलाकों पर चीन की पैनी नजर
चीन सीमाईं इलाकों के बाजार पर पैनी नजर रखता है। इस इलाके में जिस भी सामान की अधिक डिमांड होती है, उसे चीन नेपाल के माध्यम से सप्लाई करने का काम शुरू कर देता है। टमाटर के मामले में भी यही तरीका चीन अपना रहा है।
विराटनगर व्यापार संघ के सदस्य राजेश कुमार शर्मा कहते हैं कि नेपाल द्वारा सीमाई इलाकों पर काफी पैनी नजर रखी जा रही है। नेपाल में कंटेनर से लगातार टमाटर आ रहा है। यही वजह है कि नेपाल में सस्ते टमाटर की तस्करी सीमाई इलाकों में होने लगी है।

खुश्कीबाग मंडी से जाता है सभी जिलों में टमाटर
सीमाई इलाकों के लोग रोज नेपाल से टमाटर खरीद कर खा रहे हैं। सीमांचल के अररिया, कटिहार और किशनगंज में पूर्णिया की खुश्कीबाग मंडी से ही टमाटर जाता है। खुशकीबाग मंडी में टमाटर बेंगलुरु और नासिक से आता है।

खुश्की बाग मंडी के टमाटर के थोक विक्रेता मृत्युंजय कुमार यादव ने बताया कि बेंगलुरु और नासिक में इस बार टमाटर की खेती सही नहीं होने की वजह से टमाटर डिमांड के अनुसार नहीं आ रहा है। पहले प्रत्येक दिन खुश्कीबाग मंडी में 14 चक्का तीन से चार ट्रक टमाटर आता था। अब मात्र एक ट्रक ही आ रहा है। उन्होंने बताया कि मंडी में फिलहाल थोक में 120 से 150 रुपये प्रति किलो टमाटर बिक रहा है।

 

Share:

Next Post

पाकिस्तान की आर्थिक हालात खराब- अमेरिका में एक और इमारत बिकी

Fri Jul 14 , 2023
वाशिंगटन (Washington)। पाकिस्तान की आर्थिक (Economic of Pakistan) हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। अपनी तंगहाली दूर करने के लिए उसने वाशिंगटन स्थित अपने दूतावास की इमारत को 71 लाख डॉलर में बेच दिया है। इससे पहले वहां की सरकार ने एक होटल (Hotel) बेच दी थी। पाकिस्तानी अखबार डॉन (Pakistani newspaper Dawn) […]