विदेश

पाकिस्तान में जापानी नागरिकों की गाड़ी पर आत्मघाती हमला, ड्राइवर और सिक्योरिटी गार्ड की मौत, आतंकी भी ढेर

कराची. पाकिस्तान (Pakistan) के कराची शहर में विदेशी (Foreigner) नागरिकों को निशाना बनाकर हमला किया गया. विदेशी नागरिकों के वाहन पर आत्मघाती हमला (Suicide attack ) किया गया है. इस वाहन में कुल सात लोग सवार थे, जिनमें पांच जापानी नागरिक (Japanese citizens)  भी थे. यह हमला कराची (karachi) के मानसेहरा कॉलोनी में हुआ है. इस हमले में पांचों जापानी नागरिक बाल-बाल बच गए हैं. लेकिन वाहन के ड्राइवर (driver) और सिक्योरिटी गार्ड (security guard) की मौत हो गई है. इस हमले के बाद पुलिस की जवाबी कार्रवाई में दो आतंकियों (terrorists) को मार गिराया गया है.

पुलिस का कहना है कि ये हमला जापानी नागरिकों को निशाना बनाकर किया गया. लेकिन इस हमले में विदेशी नागरिकों को किसी तरह की चोट नहीं पहुंची. उन्हें तुरंत सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने आत्मघाती हमले की पुष्टि की है. पाकिस्तान में बीते कुछ सालों से चीनी नागरिकों को भी इसी तरह निशाना बनाकर उन पर हमले किए जा रहे हैं. हाल ही में चीन के पांच इंजीनियर्स की पाकिस्तान में आतंकी हमले में मौत हो गई थी.

पिछले कई सालों से बलोच आतंकी चीनी नागरिकों को निशाना बनाते रहे हैं. अप्रैल 2022 में कराची के कन्फ्यूशियस इंस्टीट्यूट के एक बस पर आतंकी हमला किया गया था, जिसमें तीन चीनी शिक्षकों और उनके स्थानीय ड्राइवर की मौत हो गई थी. इस हमले की जिम्मेदारी भी बीएलए ने ली थी. अगस्त 2021 में भी ग्वादर में चीनी नागरिकों को निशाना बनाकर किए गए हमले में दो बच्चों की मौत हो गई और तीन घायल हो गए थे.


जुलाई 2021 में भी आतंकवादियों ने पाकिस्तान में एक शटल बस को निशाना बनाया था जिसमें नौ चीनी नागरिकों और चार पाकिस्तानियों की मौत हो गई थी. अप्रैल 2021 में, बलूचिस्तान प्रांत के क्वेटा में चीनी राजदूत की मेजबानी कर रहे एक होटल में कार बम विस्फोट हुआ था जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई थी. इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान तालिबान ने ली थी.

2018 में बीएलए ने दक्षिण पाकिस्तान के कराची में चीनी वाणिज्य दूतावास पर हमला किया, जिसके दौरान दो पुलिस अधिकारी मारे गए. मई 2017 में मोटरसाइकिल पर सवार दो बंदूकधारियों ने चीनी प्रोजेक्ट पर काम कर रहे 10 श्रमिकों की हत्या कर दी थी. इस हमले की जिम्मेदारी बीएलए ने लेते हुए कहा था कि यह हमला उन्होंने चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर (CPEC) के विरोध में किया.

Share:

Next Post

Britain: लंबे समय तक सिक लीव पर रहते हैं लोग, अब नियमों को सख्त करने की तैयारी

Fri Apr 19 , 2024
लंदन (London)। ब्रिटेन (Britain) में लोग लंबे समय तक सिक लीव (sick leave) पर रहते हैं, जिसके कारण काम प्रभावित (Work affected) हो रहा है। ऐसे में अब प्रधानमंत्री ऋषि सुनक (Prime Minister Rishi Sunak) लंबे समय वाली सिक लीव के नियमों को कड़ा (Tighten the rules) करने पर विचार करेंगे। सुनक इसलिए यह कदम […]