जीवनशैली धर्म-ज्‍योतिष

इमोशंस समझने-हैंडल करने में अव्‍वल होते हैं ये राशि 5 वाले लोग, रिश्‍ते निभाना कोई इनसे सीखे

डेस्क: इमोशनल इंटेलीजेंस (Emotional Intelligence) यानी कि खुद के इमोशंस (भावनाओं) को अच्‍छी तरह हैंडल करना और दूसरों के इमोशंस (Emotions) को बिना कहे समझ जाना हर किसी के लिए आसान नहीं होता है. वहीं जो लोग ऐसा कर पाने में सक्षम हो जाते हैं, वे अपनी जिंदगी में बहुत सफल होते हैं और उनके निजी-सामाजिक रिश्‍ते (Relations) भी बहुत अच्‍छे रहते हैं. कुछ राशियों के जातकों में यह अहम खूबी होती है.

कर्क राशि (Cancer) : अच्‍छी-बुरी कैसी भी स्थिति में अपने इमोशंस को अच्‍छी तरह संभालना इस राशि के लोगों को बखूबी आता है. खास बात यह भी है कि ये लोग दूसरों की भावनाओं को भी अच्‍छी तरह समझ पाते हैं और उन्‍हें उस स्थिति से उबरने में मदद भी करते हैं.

कन्या राशि (virgo) : कन्या राशि वाले जातक बहुत इमोशनल होते हैं. यह लोगों की दुख-तकलीफ को समझते हैं और उनकी मदद करने के लिए हमेशा तत्‍पर भी रहते हैं. इसी वजह से ये लोग रिश्‍ते निभाने में बहुत अच्‍छे होते हैं. उनकी इस खूबी के कारण उनका पार्टनर हमेशा उनसे बहुत खुश रहता है.


तुला राशि (Libra) : तुला राशि के जातकों का मूल स्‍वभाव ही संतुलन का होता है. इसकी झलक उनके इमोशंस में भी दिखती है. ये लोग न्‍यायप्रिय होते हैं. ना तो खुद के साथ अन्‍याय बर्दाश्‍त करते हैं और ना दूसरों के साथ होने देते हैं. उनकी यह खूबी लोगों के साथ उनके अच्‍छे रिश्‍ते बनाती है. ये लोग भावनात्‍मक रूप से काफी संतुलित होते हैं.

वृश्चिक राशि (Scorpio) : इस राशि के लोग अपने इमोशंस को लेकर तो सजग रहते ही हैं, दूसरों की भावनाओं को भी जल्‍दी समझ जाते हैं. इन लोगों का अपने परिजनों के साथ गहरा जुड़ाव होता है लेकिन बदले में वे ऐसी ही उम्‍मीद अपने लिए भी करते हैं.

मीन राशि (Pisces) : इमोशनल इंटेलीजेंस के मामले में मीन राशि के लोग भी जबरदस्‍त होते हैं. इन्‍हें भावनाओं को समझना और उन्‍हें हैंडल करना अच्‍छे से आता है. कोई इन्‍हें दर्द-तकलीफ दे तो वे उससे भी जल्‍दी उबर जाते हैं.

Share:

Next Post

अभी भी है कोरोना की दूसरी लहर, इन राज्यों को चेताया

Wed Aug 4 , 2021
नई दिल्‍ली। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (global pandemic corona virus) के कम होते केस के बीच लोगों की ओर से बढ़ती जा रही लापरवाही ही कोरोना (carelessness is corona) को निमंत्रण देना है। इसी को देखते हुए केंद्र सरकार ने एक बार फिर चेतया कि अभी कोरोना की दूसरी लहर (second wave) खत्‍म नहीं हुई […]