बड़ी खबर

पुलिस के सामने BJP महिला कार्यकर्ता को TMC समर्थकों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, मचा बवाल

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना के नैहाटी इलाके में डेंगू के खिलाफ भाजपा के नगर निगम के अभियान के दौरान पुलिस की उपस्थिति में बीजेपी की महिला समर्थक को टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटने का आरोप लगा है. शनिवार को नैहाटी नगर पालिका के सामने तृणमूल कांग्रेस और भाजपा समर्थकों में भिड़ंत हो गई थी. इसमें भाजपा की कार्यकर्ता घायल हो गईं.

बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने रविवार को एक वीडियो ट्वीट किया है, जिसमें महिला को पीटते देखा जा सकता हैं. बता दें कि इस घटना के बाद बीजेपी ने तृणमूल के खिलाफ केस दर्ज कराई है. भाजपा ने आरोप लगाया कि पार्टी की महिला कार्यकर्ताओं पर भी हमला किया गया. दूसरी ओर, तृणमूल ने जवाबी दावा किया है, ‘आम आदमी ने जवाब दे दिया है.’

डेंगू के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे भाजपा कार्यकर्ता पर बोला हमला
नैहाटी नगर पालिका भाजपा के डेंगू विरोधी अभियान के दौरान तृणमूल पर हमले का आरोप लगा है. भाजपा कार्यकर्ताओं ने यह आरोप लगाते हुए नैहाटी नगर पालिका की ओर मार्च किया कि डेंगू के मामले बढ़ रहे हैं, जबकि नगर पालिका कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. पुलिस ने उन्हें नगर पालिका के सामने रोका. वहां भाजपा कार्यकर्ताओं और पुलिसकर्मियों के बीच झड़प हो गई.

बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने ट्वीट किया,” पुलिस की मौजूदगी में तृणमूल कार्यकर्ताओं ने महिला भाजपा कार्यकर्ता पर हमला बोल दिया. यह ममता बनर्जी का बंगाल है. अगर कोई महिला बीजेपी करती है तो उस पर हमला किया जाता है. पीटा जाता है.कहां है महिलाओं की सुरक्षा? कहां है महिलाओं की सुरक्षा!”

भाजपा और टीएमसी कार्यकर्ताओं में हुई भिड़ंत
भाजपा कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि इस समय तृणमूल कार्यकर्ताओं का एक समूह ममता बनर्जी के नाम पर नारे लगाने लगा. आरोप है कि बीजेपी की तरफ से ‘जय श्री राम’ का मुद्दा लगाया गया था. कथित तौर पर उनके बीच हाथापाई शुरू हो गई. भाजपा कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि तृणमूल कार्यकर्ताओं ने उन पर हमला किया.

एक प्रभावित भाजपा महिला कार्यकर्ता ने शिकायत की, “मैं नगर पालिका में प्रतिनियुक्ति देने आई थी. हमारा आंदोलन शांतिपूर्ण था. हम अंदर जा रहे थे. हमें फाटक के सामने रोक दिया गया. वहां से वे नारे लगाने लगे. हम भी शांति बनाए रखने के नारे लग रहे थे. अचानक उन्होंने ईंटें फेंकनी शुरू कर दी. फिर पीछे से आकर पिटाई करना शुरू कर दिया. लात-घूंसों से मारना शुरू कर दिया.स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा रही हैं, डेंगू ठीक नहीं हो रहा है. लोग दिन-ब-दिन मर रहे हैं. नालों की सफाई नहीं हो रही है, लेकिन टीएमसी बीजेपी कार्यकर्ताओं को मारने में लगी है.”

टीएमसी ने हमले से झाड़ा पल्ला, कहा- इस हमले से कोई लेना-देना नहीं
हालांकि तृणमूल ने सभी आरोपों से इनकार किया है. तृणमूल कार्यकर्ताओं का दावा है कि उनका इस घटना से कोई लेना-देना नहीं है. तृणमूल कार्यकर्ताओं का आरोप है कि नगर पालिका में काम पर आने पर भाजपा कार्यकर्ता आम लोगों से भिड़ गए. बीजेपी कार्यकर्ताओं की मंशा तृणमूल कार्यकर्ताओं को बदनाम करने की है.

Share:

Next Post

योग गुरु बाबा रामदेव को महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग ने भेजा नोटिस

Sun Nov 27 , 2022
मुंबई । योग गुरु बाबा रामदेव (Yog Guru Swami Ramdev) को महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग (Maharashtra State Women’s Commission) ने नोटिस भेजा (Sent Notice) । महाराष्ट्र की राज्य महिला आयोग ने बाबा रामदेव से महिलाओं पर उनके आपत्तिजनक बयान पर तीन दिन में स्पष्टीकरण मांगा है। महिला आयोग ने बाबा रामदेव से नोटिस में कहा […]