बड़ी खबर

G20 बैठक में दिल्ली पुलिस के लिए सिरदर्द बन रहा बाइडेन का काफिला, चीन ने भी दी टेंशन

नई दिल्ली: दिल्ली (Delhi) में होने जा रहे जी 20 शिखर सम्मेलन (g20 summit) की तमाम तैयारियों को अब अंतिम रूप दिया जा रहा है. मेहमानों की सुरक्षा से लेकर, उनको ठहराने, खान-पान, ट्रैफिक रूट, साज सज्जा सभी तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई है. G20 नेताओं के शिखर सम्मेलन के लिए 19 देशों के अलावा अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठनों (international organizations) और यूरोपीय संघ (European Union) के राष्ट्राध्यक्ष दिल्ली आ रहे हैं. ऐसे में अतिथियों की सुविधा कि हिसाब से ही दिल्ली में तैयारियां की जा रही है. अलग-अलग देश से आ रहे इन नेताओं के काफिले (Convoy) में कितनी गाड़ियां होंगी यह भी एक बड़ा सवाल है, सुरक्षा एजेंसियां (​​security agencies) भी इससे जूझ रही है.

दरअसल, जी 20 समिट सम्मेलन में आने वाले देशों ने अपने-अपने नेताओं को काफिले की जानकारी भारत सरकार को दी है. सूत्रों के मुताबिक अमेरिका और चीन (America and China) सहित कुछ अन्य बड़े देशों ने भी भारत के विदेश मंत्रालय (Ministry of External Affairs of India) से कहा है की वो अपने देश से कुछ गाड़ियां लेकर आएंगे. विदेश मंत्रालय से यह जानकारी दिल्ली पुलिस की सुरक्षा यूनिट (Delhi Police Security Unit) को उपलब्ध कराई गई थी, जिसके बाद इस विषय को लेकर बड़ी बैठक भी की गई.

सूत्रों के अनुसार अमेरिका करीब 75- 80 लक्जरी कार भारत लाना चाहता था, वहीं चीन क़रीब 46 लक्ज़री गाड़ियों के साथ भारत आना चाहता था. इसके इतर कुछ अन्य देशों जिसमें संयुक्त अरब अमीरात, फ्रांस, तुर्की के साथ-साथ यूरोपीए संघ ने भी अपने-अपने नेताओं की गाड़ियों की जानकारी दी है.


अमेरिका 60 तो चीन 25 गाड़ी लाने पर हुए राजी
इस मामले को लेकर एक बैठक के बाद अब जो जानकारी निकाल कर सामने आई है वो यह है की अमेरिका अब करीब 60 ,चीन करीब 25 गाड़ियां भारत में लेकर आएगा जो सम्मेलन खत्म होने के बाद वापस चली जाएगी. कुछ अन्य देशों से भी कहा गया है की वो भारत सरकार द्वारा उपलब्ध कराई का रही गाड़ियों को ही उपयोग करें. सूत्रों के अनुसार जी 20 सम्मेलन में 19 सदस्य देश हैं और 9 देश मेहमान के तौर पर शामिल है. इन सभी के करीब 32 काफिले दिल्ली की सड़कों पर दौड़ते नजर आएंगे. इनमें फ्रांस, टर्की, यूएई जैसे देश भी अपनी गाड़ियां लेकर भारत आ रहे है.

दिल्ली पुलिस ने वाहनों में कटौती का दिया था प्रस्ताव
सम्मेलन में राष्ट्रअध्यक्षों के काफिले में 12- 15 गाड़ियां और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के काफिले में तीन से पांच गाड़ियां चलेंगीं. असल में सरकार और पुलिस के आगे बड़ी चुनौती रूट पर सुरक्षा देने के साथ इन सभी गाड़ियों की पार्किंग की भी होगी. ऐसे में इतनी ज़्यादा गाड़ियां लाने की इजाज़त नहीं दी जा सकती. सूत्रों के मुताबिक नेताओं के इतने बड़े काफिले से दिक्कत हो सकती है, ऐसे मे दिल्ली पुलिस ने प्रस्ताव दिया है कि वाहनों में कुछ कटौती की जाए. दिल्ली पुलिस ने यह जानकारी विदेश मंत्रालय को भेजी थी. जिसके बाद विदेश मंत्रालय की तरफ से यह जानकारी जी20 समिट में आने वाले अतिथि देशों को दी गई है.

भारत आ रहीं 25 बुलेटप्रूफ गाड़ियां
सूत्रों के अनुसार दिल्ली में जी 20 की बैठक के लिए मेहमानों के लिए मेबैक मर्सिडीज किराए पर ली गई है. 300 से ज्यादा लक्जरी गाड़ियां जिसमें ऑडी Q7,मर्सिडीज बेंज, जैगुआर, बीएमडब्लू शामिल है. ना केवल दिल्ली बल्कि पड़ोसी राज्यों से भी लक्जरी गाड़ियां मंगाई जा रही है. मुंबई, राजस्थान, पंजाब जैसे राज्यों से गाड़ियां दिल्ली पहुंच रही है. इसके इतर जी20 सम्मेलन के लिए विदेशी मेहमानों और खास तौर से राष्ट्राध्यक्षों के लिए सुरक्षा के लिहाज़ से भी 25 बुलेटप्रूफ गाड़ियां भारत आ रही है. 20 ऑडी कार ऐसी आ रही है जो बाई तरफ होंगी. कुछ काले कलर की मर्सिडीज भारत आ चुकी है. जिन्हें सुरक्षा यूनिट्स को सौंपा गया है.

Share:

Next Post

जरूरतमंदों का पैसे के अभाव में इलाज नहीं रुकेगा - मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

Mon Aug 28 , 2023
लखनऊ । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री (Chief Minister of UP) योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा कि जरूरतमंदों (Needy) का पैसे के अभाव में (Due to Lack of Money) इलाज (Treatment) नहीं रुकेगा (Will Not Stop) । जिन जरूरतमंदों का पैसे के अभाव में इलाज नहीं हो पा रहा है, सरकार उनके साथ सदैव खड़ी […]