व्‍यापार

अडानी समूह ने किया भारत के इस बड़े ग्रुप को खरीदने का ऐलान

नई दिल्ली। अडानी ग्रुप (Adani group) की कंपनी डिफेंस सिस्टम्स एंड टेक्नोलॉजीज लिमिटेड (ADSTL) ने भारत के सबसे बड़े इंडिपेंडेंट एयरक्राफ्ट मेंटनेंस मरम्मत और ओवरहाल (MRO) ऑर्गेनाइजेशन एयर वर्क्स ग्रुप (Air works group) को खरीदने का ऐलान किया है। इसके लिए एक डील साइन (deal sign) की गई है। यह डील 400 करोड़ रुपये की है। बता दें कि एयर वर्क्स ग्रुप का 27 शहरों में सबसे बड़ा पैन इंडिया नेटवर्क है।

अडानी समूह की डिफेंस कंपनी ने एक बयान में कहा, “एयर वर्क्स कंपनी प्रमुख रक्षा और एयरोस्पेस प्लेटफार्म्स के लिए देश के भीतर बड़े स्तर पर कारोबार कर रही है। बयान के मुताबिक, भारतीय वायु सेना के 737 वीवीआईपी विमानों के लैंडिंग गियर पर पहले पी-8आई विमान फेज, फेज 32 से फेज 48 चेक और एमआरओ तक, एयर वर्क्स अपने ईएएसए से विमान के एटीआर 42/72, ए320 और बी737 बेड़े के लिए रखरखाव करता है।


कंपनी के पास मुंबई, दिल्ली, होसुर और कोच्चि में डीजीसीए-सर्टिफाइड सुविधाएं भी हैं। अडानी ग्रुप ने अपने बयान में यह भी कहा कि अडानी डिफेंस एंड एयरोस्पेस समूह की 250 अरब डॉलर वैल्यू की डिफेंस यूनिट है। एयर वर्क्स ग्रुप के एमडी और सीईओ डी आनंद भास्कर ने कहा, “भारत में रक्षा और नागरिक विमानों के क्षेत्र के लिए एमआरओ हब बनने की क्षमता है। यह एयर वर्क्स और उसके कर्मचारियों के लिए अडानी डिफेंस एंड एयरोस्पेस प्लेटफॉर्म के तहत शामिल होने का एक शानदार अवसर है। इससे भविष्य में बड़े पैमाने पर अर्थव्यवस्थाएं और रोजगार के अवसर पैदा होंगे।”

Share:

Next Post

ब्रिटेन के पूर्व सैन्य पायलटों को पैसे का लालच देकर ट्रेनिंग के लिए बुला रहा चीन

Tue Oct 18 , 2022
नई दिल्ली: ब्रिटेन की सरकार (UK government) ने मंगलवार को कहा कि वह चीन में पीपल्स लिबरेशन आर्मी (People’s Liberation Army) के जवानों को ट्रेनिंग देने के लिए सेवारत और पूर्व ब्रिटिश सैन्य पायलटों (former British military pilots) की भर्ती की चीन की कोशिशों को रोकने के लिए निर्णायक कदम उठा रही है. ऐसा माना […]