खेल

ऑस्ट्रेलिया सरकार ने निरस्त किया जोकोविच का वीजा, लग सकता है तीन साल का बैन

नई दिल्ली। नोवाक जोकोविच (Novak Djokovik) को लेकर चल रहे विवाद ने अब एक नया मोड़ ले लिया है। ऑस्ट्रेलिया के मंत्री एलेक्स हॉक (Australian Minister Alex Hawke) ने सर्बियाई दिग्गज का वीजा निरस्त (Serbian veteran’s visa revoked) कर दिया है। मंत्री ने अपने निजी अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए जोकोविच का वीजा निरस्त किया है। यह दूसरा मौका है जब जोकोविच का ऑस्ट्रेलिया का वीजा निरस्त किया गया है। यह भी बताया जा रहा है कि उन्हें तीन साल के लिए बैन भी किया जा सकता है।

मंत्री हॉक ने अपने बयान में कहा, “आज मैं माइग्रेशन एक्ट के सेक्शन 133C(3) के अंडर अपने अधिकारों का उपयोग करके श्रीमान जोकोविच के वीजा को रद्द करता हूं। मैं इसलिए ऐसा कर रहा हूं क्योंकि वह स्वास्थ्य से संबंधित है और इसका पब्लिक पर प्रभाव पड़ सकता है।” उन्होंने यह भी कहा कि वह फैसला लेने से पहले गृह मंत्रालय, ऑस्ट्रेलिया की बॉर्डर फोर्स और जोकोविच से इनपुट ले चुके हैं।

06 जनवरी को पहली बार रद्द हुआ था जोकोविच का वीजा
बीते 06 जनवरी को पहली बार जोकोविच का वीजा निरस्त किया गया था। उन्होंने अपने वैक्सीनेशन के स्टेटस को सार्वजनिक नहीं किया था और इसी कारण उन्हें एयरपोर्ट पर ही रोक लिया गया था। जोकोविच विशेष मेडिकल छूट लेकर ग्रैंड स्लैम में हिस्सा लेना चाहते थे, लेकिन मेलबर्न एयरपोर्ट पर मौजूद अधिकारियों के मुताबिक जोकोविच के पास मेडिकल छूट के पर्याप्त दस्तावेज नहीं थे। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ने वीजा रद्द करने की घोषणा की थी।

अदालत की शरण में जाकर जोकोविच ने जीता था केस
वीजा रद्द होने के बाद जोकोविच ने अदालत की शरण ली थी और उन्होंने 10 जनवरी को अपना केस जीता भी था। केस जीतने से पहले उन्हें इमिग्रेशन डिटेंशन (नजरबंदी) में रखा गया था। उस समय भी यह बताया गया था कि अदालत में केस जीतने के बावजूद एलेक्स हॉक के पास जोकोविच को ऑस्ट्रेलिया से वापस भेजने के अधिकार हैं। अब हॉक ने अपने उसी अधिकार का प्रयोग किया है।

ऑस्ट्रेलियन ओपन के बादशाह हैं जोकोविच
जोकोविच ने पिछले साल की शुरुआत में फाइनल में डेनियल मेदवेदेव को हराकर रिकॉर्ड नौवां ऑस्ट्रेलियन ओपन खिताब जीता था। यह दूसरा ऐसा मौका था, जब उन्होंने लगातार तीन बार (2019-2021) ये खिताब जीता हो। इससे पहले वह 2011-2013 में ऐसा कर चुके हैं। ऑस्ट्रेलियन ओपन (जीत प्रतिशत: 91) में उनका जीत-हार का रिकॉर्ड 82-8 का है। यह एकमात्र ग्रैंडस्लैम है, जहां उन्होंने 80 से ज्यादा मैच जीते हैं।

Share:

Next Post

Pro Kabaddi : बेंगलुरु को मिली गुजरात के खिलाफ जीत, पटना को हराकर जयपुर टॉप-4 में

Sat Jan 15 , 2022
बैंगलुरु। कप्तान पवन सहरावत के दमदार प्रदर्शन की बदौलत बेंगलुरु बुल्स (Bengaluru Bulls) ने प्रो कबड्डी लीग के 8वें सीजन (Pro Kabaddi League-2021) के मुकाबले में गुजरात जायंट्स को हरा दिया। वहीं, न्य मुकाबले में जयपुर पिंक पैंथर्स ने पटना पायरेट्स (Jaipur Pink Panthers vs Patna Pirates) को 38-28 से हराया. प्रो कबड्डी लीग (PKL) […]

Leave a Reply

Your email address will not be published.