देश

Chief Bhupesh Baghel ने FCI में 40 लाख मीट्रिक टन चावल खरीद की मांग दोहराई

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Chief Minister of Chhattisgarh)ने केन्द्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गोयल से यहां रेल भवन में मुलाकात की। इस दौरान केन्द्रीय पूल में 40 लाख मीट्रिक टन चावल उपार्जित किये जाने की मांग की ओर गोयल का पुनः ध्यान आकृष्ट कराया। बघेल ने खाद्य सब्सिडी की दावा राशि 5214.97 करोड़ की प्रतिपूर्ति जल्द किए जाने का आग्रह किया, जिस पर गोयल ने बजट की राशि जारी होने पर 4832 करोड़ जारी करने का भरोसा दिलाया है।


मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल (Chief Bhupesh Baghel )  ने कहा कि प्रदेश में किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान का उपार्जन विकेन्द्रीकृत उपार्जन योजना के अंतर्गत खाद्य विभाग भारत सरकार के साथ हुए एमओयू के तहत की जाती है। इस दौरान उन्होने केंद्र सरकार से चावल उपार्जन पर पूर्व की 60 लाख मीट्रिक टन चावल केन्द्रीय पूल में लिये जाने की सैद्धांतिक सहमति पर अमल करते हुये एफसीआई में 40 लाख मीट्रिक टन चावल खरीदी करने की मांग की।

मुख्यमंत्री (Chief Bhupesh Baghel ) ने बताया कि प्रदेश में खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में समर्थन मूल्य पर 20.53 लाख किसानों से 92 लाख मीट्रिक टन धान का उपार्जन किया गया है। एमओयू की कंडिका 18 के तहत उपार्जित धान में से राज्य की पीडीएस की आवश्यकता के अतिरिक्त चावल का स्टॉक भारतीय खाद्य निगम को प्रदाय किये जाने के निर्देश हैं, इसलिए उक्त प्रावधानों के तहत केंद्र सरकार द्वारा राज्य की आवश्यकता के अतिरिक्त शेष समस्त सरप्लस धान का अनुपातिक चावल 40 लाख मीट्रिक टन को भारतीय खाद्य निगम में केन्द्रीय पूल के अंतर्गत लिये जाने की मांग है। उन्‍होंने बताया कि विकेंद्रीकृत खाद्यान्न उपार्जन योजना के संचालन के लिए निष्पादित एमओयू के प्रावधान अनुसार विभिन्न योजनाओं के तहत चावल वितरण करने के उपरांत केंद्र सरकार को खाद्य सब्सिडी दावा प्रस्तुत किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री (Chief Bhupesh Baghel )ने केंद्र सरकार से खाद्य सब्सिडी की दावा राशि 5214.97 करोड़ की प्रतिपूर्ति जल्द किए जाने का अनुरोध किया है, जिस पर केन्‍द्रीय मंत्री गोयल ने खाद्य सब्सिडी की दावा राशि 4832 करोड़ की राशि जारी करने का आश्वासन दिया है।

मुलाक़ात के दौरान मुख्यमंत्री (Chief Bhupesh Baghel ) ने पुराने जूट बारदाने में चावल उपार्जन की अनुमति की मांग भी रखी। मुलाक़ात के दौरान छत्तीसगढ़ के खाद्य मंत्री अमरजीत भगत, कृषि मंत्री रवींद्र चौबे, मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी और खाद्य विभाग के सचिव डॉ कमलप्रीत सिंह उपस्थित रहे। एजेंसी

Next Post

खेतों में लहलहा रही है Afim की फसल, खेत ही बने किसानों के आशियाने

Fri Feb 26 , 2021
मंदसौर। मालवांचल की सबसे प्रमुख फसल अफीम (Afim) के डोडों से अफीम निकलने को तैयार है। किसानों ने खेतों में मां कालिका और गणेशजी की पूजा कर डोडों में चीरा लगाने का कार्य शुरू कर दिया है। अब प्रतिदिन डोडों से अफीम निकलेगी और सुबह-सुबह किसान उसे बर्तन में एकत्र कर घरों में सुरक्षित रखेंगे। […]