जीवनशैली स्‍वास्‍थ्‍य

काली किशमिश खाने से सेहत को होंगे इतने फायदे कि यकीन नहीं कर पाएंगे

खट्टी मीठी नारंगी किशमिश (Raisins) तो आपने खूब खाई होगी, लेकिन क्या कभी काली किशमिश का स्वाद चखा है ? अगर आपने काली किशमिश (Black Raisins) कभी नहीं खाई तो आप इसके फायदों से भी वाकिफ नहीं होंगे। दरअसल नारंगी किशमिश हरे अंगूरों और काली किशमिश काले अंगूरों से बनती है।

काली किशमिश की तासीर में गर्म होती है और नारंगी किशमिश की तुलना में ये कहीं ज्यादा फायदेमंद होती है। काली किशमिश में प्रोटीन, कार्ब्स, फाइबर, शुगर, कैल्शियम, सोडियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, आयरन और विटामिन सी जैसे ढेरों पोषक तत्व पाए जाते हैं। ये एनीमिया से लेकर हार्ट, बीपी, हड्डियों, पेट, बालों और स्किन के लिए भी फायदेमंद होती है।

जानिए इसके हैरान कर देने वाले फायदों के बारे में…

पाचनतंत्र करती दुरुस्त : काली किशमिश में फाइबर पाया जाता है। इसका रोजाना सेवन करने से पाचन तंत्र की तमाम समस्याएं दूर होती हैं। साथ ही ये कब्ज की भी परेशानी को दूर करती है, जिससे पेट अच्छी तरह साफ होता है और कई दिक्कतों से निजात मिलती है।

ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या में लाभकारी : काली किशमिश में बोरोन पाया जाता है जो हड्डियों के विकास के लिए जाना जाता है। इसके अलावा इसमें कैल्शियम और मैग्नीशियम भी पर्याप्त मात्रा में होता है जो हड्डियों की बोन डेंसिटी को मजबूत करता है। ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या में काली किशमिश का सेवन काफी लाभकारी है।

एनीमिया की समस्या दूर करती : आजकल पोषक तत्वों के अभाव से खून की कमी की समस्या तमाम लोगों में देखने को मिलती है। खासतौर पर महिलाओं के बीच तो ये बहुत आम है। लेकिन रोजाना काली किशमिश का सेवन करने से खून की कमी बहुत तेजी से दूर होती है।

हाई बीपी की समस्या को करता नियंत्रित : पोटेशियम और फाइबर दोनों को ही हाई बीपी को नियंत्रित करने वाला माना जाता है। काली किशमिश में ये दोनों चीजें भरपूर मात्रा में होती हैं, इसलिए हाई बीपी के मरीजों के लिए ये काफी लाभकारी है।

हार्ट को सेहतमंद रखता : बैड कोलेस्ट्रॉल एलडीएल को भी हार्ट अटैक के बड़े कारणों में से एक माना जाता है। काली किशमिश में मौजूद पॉलिफिनॉल्स और फाइबर बैड कोलेस्ट्रॉल और ब्लड में मौजूद फैट को दूर करने का काम करते हैं। इस तरह काली किशमिश का सेवन हार्ट को तमाम गंभीर समस्याओं से बचाने का काम करता है।

बालों के लिए फायदेमंद : बालों के झड़ने की एक वजह शरीर में आयरन और विटामिन सी जैसे पोषक तत्वों की कमी भी होती है। काली किशमिश का पर्याप्त सेवन शरीर में इन पोषक तत्वों की कमी को दूर करता है, जिससे बाल झड़ने की समस्या नियंत्रित होती है और ग्रोथ बेहतर होती है। काली किशमिश सफेद बालों की ग्रोथ को भी नियंत्रित करती है।

स्किन को बनाती चमकदार : काली किशमिश में कई एंटी बैक्टीरियल गुण होते है, जो स्किन को कई समस्याओं से बचाते हैं। इसे नियमित रूप से खाने से त्वचा चमकदार बनती है और हेल्दी होती है।

याददाश्त को बेहतर करती : अगर आपकी याददाश्त कमजोर होने लगी है तो आपको काली किशमिश जरूर खानी चाहिए। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट तत्व याददाश्त को मजबूत करने में मददगार माने जाते हैं।

ऐसे करें सेवन : काली किशमिश के औषधीय गुणों का पूरा लाभ लेने के लिए 7 से 8 काली किशमिश को रातभर के लिए पानी में भिगोकर रखें। सुबह उठकर इसका पानी पी लें और किशमिश को खा लें। इसे खाने के बाद आधे घंटे तक कोई और चीज न खाएं। इसके अलावा आप इसे सीधे तौर पर या किसी व्यंजन में डालकर भी खा सकते हैं।

Share:

Next Post

देश की इस दिग्गज कंपनी ने किया बड़ा ऐलान, कोरोना इलाज के लिए कर्मचारियों को देगी लोन

Thu May 13 , 2021
ITC लिमिटेड ने कहा कि कोरोना संकट के बीच वह अपने कर्मचारियों को मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए लोन की सुविधा उपलब्ध करवाएगा। हालांकि यह सुविधा केवल उन कर्मचारियों के लिए दी गई है जो कंपनी की इंश्योरेंस पॉलिसी के अंतर्गत कवर नहीं किए गए हैं। कंपनी अपने कर्मचारियों और उनके परिजनों को कोरोना होने पर […]