खेल

IPL: लखनऊ ने लगाई जीत की हैट्रिक, दिल्ली को 6 विकेट से हराया

मुम्बई। इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2022 (Indian Premier League (IPL) 2022) के 15वें मैच में लखनऊ सुपर जाइंट्स (Lucknow Super Giants-LSG) ने दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals-DC) को छह विकेट से हरा दिया है। DC ने पहले खेलते हुए पृथ्वी शॉ के अर्धशतक की मदद से तीन विकेट खोकर 149 रन बनाए। जवाब में LSG ने क्विंटन डिकॉक (80) की बदौलत आखिरी ओवर में दिल्ली को छह विकेट से हरा दिया। मौजूदा सीजन में LSG की यह लगातार तीसरी जीत है।

DC ने पृथ्वी की आक्रामक बल्लेबाजी की बदौलत पॉवरप्ले में बिना विकेट के 52 रन बनाए। अच्छी शुरुआत के बाद DC ने 74 के स्कोर तक तीन विकेट खो दिए। आखिरी ओवरों में LSG की कसी हुई गेंदबाजी के सामने पंत (39*) और सरफराज (36*) तेजी से रन बटोरने में नाकाम रहे। जवाब में LSG से क्विंटन डिकॉक ने पहले विकेट के लिए 73 रन जोड़े। आखिर में क्रुणाल पांड्या (गेंद-14, रन-19*) और आयुष बडोनी (गेंद-3, रन-10*) ने जीत दिलाई।


पिछली पारी में सिर्फ 10 रनों की पारी खेलने वाले पृथ्वी शॉ ने इस सीजन में अपना पहला अर्धशतक लगाया। लय में नजर आ रहे पृथ्वी ने सिर्फ 30 गेंदों में 50 रनों का आंकड़ा छूआ। यह उनके IPL करियर का 11वां अर्धशतक है। पृथ्वी ने 34 गेंदों में नौ चौकों और दो छक्कों की मदद से 64 रन बनाए। वह कृष्णप्पा गौतम की गेंद पर 67 के स्कोर पर पहले विकेट के रूप में आउट हुए।

लक्ष्य का पीछा करते हुए क्विंटन डिकॉक ने अपने IPL करियर का 18वां अर्धशतक 36 गेंदों में पूरा किया। डिकॉक ने कप्तान राहुल (24) के साथ पहले विकेट के लिए 73 रनों की साझेदारी करते अच्छी शुरुआत दिलाई। विस्फोटक बल्लेबाजी कर रहे डिकॉक ने 52 गेंदों में नौ चौकों और दो छक्कों की मदद से 80 रन बनाए। वह 16वें ओवर में 122 के स्कोर पर आउट हुए।

पृथ्वी ने DC की ओर से अब तक 1,414 रन बना लिए हैं और वह मौजूदा टीम से 1400 रनों का आंकड़ा छूने वाले सिर्फ छठे बल्लेबाज बने हैं। पृथ्वी ने दो छक्के लगाए और DC की ओर से पांचवे सर्वाधिक छक्के लगाने वाले खिलाड़ी बने हैं। डिकॉक (80) ने दिल्ली के खिलाफ अपना सर्वोच्च स्कोर बनाया है। इसके अलावा यह उनका तीसरा सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर बन गया है।

Share:

Next Post

नजीर साबित होगा ‘बाल पुलिस थाना' का गठन

Fri Apr 8 , 2022
– डॉ. रमेश ठाकुर …जिसका काम उसी को साजै, और करे तो डंडा बाजै!- बाल अपराध के मामले अब पारंपरिक पुलिस थानों को नहीं सौंपे जाएंगे। अलग से व्यवस्था की जा रही है। उत्तर प्रदेश राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सिफारिश पर किशोर अपराध से जुड़े प्रत्येक किस्म के मामलों को सुलझाने के लिए […]