विदेश

रूसी एयरपोर्ट पर इजरायल विमान पहुंचने पर मचा हंगामा, अल्लाह-हू-अकबर के लगे नारे, भीड़ ने बोला धावा

मॉस्को (moscow) । आधी रात को रूस (Russia) के दागेस्तान एयरपोर्ट (Dagestan Airport) पर एक बड़ा हादसा टल गया। दरअसल, ऐसी खबर चली कि इजरायल (Israel) से एक विमान (plane) रूसी एयरपोर्ट पहुंचा है। जिसके बाद उन्मादी भीड़ अल्लाह-हू-अकबर के नारों के साथ एयरपोर्ट में घुस गई। भीड़ हमास के खिलाफ जंग में इजरायल के खिलाफ गुस्से में नजर आई।

घटना के वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे भीड़ इजरायली लोगों को मारने के उतावली थी और वे रनवे में दौड़ते हुए दिखाई दिए। भीड़ में मौजूद लोग विमान के ऊपर भी चढ़ गए। किसी तरह एयरपोर्ट और पुलिस अधिकारियों को हवाई अड्डे को बंद करना पड़ा और उड़ानों का रूट बदलना पड़ा।

रूस की विमानन एजेंसी रोसावित्सिया ने कहा, “मखाचकाला हवाईअड्डे के यातायात क्षेत्र में अज्ञात लोगों के प्रवेश के बाद, हवाईअड्डे को आने और जाने वाली उड़ानों के लिए अस्थायी रूप से बंद करने का निर्णय लिया गया है।” उन्होंने कहा कि सुरक्षा बल वहां पहुंच गए हैं।

यहूदियों को ढूंढ रही थी भीड़
रूसी राज्य मीडिया इज़्वेस्टिया और आरटी के अनुसार, कथित तौर पर यह बताए जाने के बाद कि इज़रायल से एक व्यक्ति आया है, कई दर्जन लोग हवाई अड्डे और रनवे पर आ गए। भीड़ यहूदियों को ढूंढ रही थी। रिपोर्ट के अनुसार, हमास के खिलाफ जंग में गाजा पट्टी पर चल रहे कत्लेआम से नाराज भीड़ इजरायली लोगों को निशाना बनाना चाह रही थी।


टेलीग्राम पर प्रकाशित वीडियो में लोगों को बाधाओं को पार करते हुए, हवाईअड्डे से निकलने वाली और हवाईअड्डे में आने वाली कारों पर नियंत्रण लेते हुए दिखाया गया है। एक वीडियो में एक व्यक्ति को दिखाया गया जो रूसी रेड विंग्स कंपनी के विमान के पंख पर चढ़ गया था।

फ्लाइटराडार के अनुसार, तेल अवीव से आने वाली रेड विंग्स फ्लाइट स्थानीय समयानुसार शाम 7:00 बजे (1600 GMT) मखचकाला में उतरी थी। रूसी स्वतंत्र मीडिया सोता के अनुसार, उड़ान को मॉस्को के लिए उड़ान भरने से पहले माखचकाला में रुकना था।

एयरपोर्ट पर गूंजे अल्लाह-हू-अकबर के नारे
सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई तस्वीरों के मुताबिक, भीड़ में से कुछ लोगों ने विमान की ओर जाने से पहले हवाईअड्डे पर लोगों से उनके पासपोर्ट देखने को कहा था। उनमें से एक व्यक्ति के हाथ में पोस्टर था जिस पर लिखा था, “बच्चों के हत्यारों के लिए दागिस्तान में कोई जगह नहीं है” और अन्य “अल्लाह-हू-अकबर” के नारे लगा रहे थे।

क्रेमलिन ने अभी तक घटनाओं पर कोई टिप्पणी नहीं की है। इससे पहले रविवार को, आरआईए नोवोस्ती समाचार एजेंसी ने बताया कि एक अन्य उत्तरी काकेशस गणराज्य – काबर्डिनो-बलकारिया – में नालचिक शहर में एक यहूदी केंद्र में आग लगा दी गई थी।

Share:

Next Post

भारत 2047 तक बनेगा 30 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था, यूके -फ्रांस पीछे, अब जापान-जर्मनी की बारी

Mon Oct 30 , 2023
नई दिल्‍ली (New Delhi) । 2047 तक भारत (India) के 30 ट्रिलियन डॉलर की विकसित अर्थव्यवस्था (economy) होने का अनुमान है। नीति आयोग के सीईओ बीवीआर सुब्रमण्यम (BVR Subramaniam) ने रविवार यह जानकारी देते हुए बताया कि अगले तीन महीनों में पीएम मोदी (PM Modi) द्वारा विजन इंडिया@2047 डॉक्यूमेंट (Vision India@2047 Document) को जारी किए […]