बड़ी खबर मध्‍यप्रदेश

मध्य प्रदेश के सभी शहरी क्षेत्रों में शुक्रवार शाम 6 सोमवार सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन रहेगा

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर विस्फोटक होती जा रही है। एक दिन में यहां पर महामारी रोकने के लिए राज्य सरकार ने सभी शहरी इलाकों में शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक पूर्ण लॉकडाउन लागू कर दिया है। इससे पहले शहरी क्षेत्रों में नाइट कर्फ्यू लागू रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक जारी रहेगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को कहा कि बढ़ते संक्रमण को देखते हुए शहरी क्षेत्रों में दो दिन तक सबकुछ बंद करने का फैसला किया गया है। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वह कभी नहीं चाहते कि राज्य में पूर्ण बंदी लागू हो, लेकिन बेकाबू हालात के मद्देनजर सरकार ने यह फैसला लिया है।  बता दें कि इससे पहले प्रदेश के कई जिलों में पूर्ण बंदी की गई है। छिंदवाड़ा, शाजापुर समेत अन्य जगहों पर लॉकडाउन लगाया गया है। छिंदवाड़ा में अगले 7 दिन तक पूर्ण लॉकडाउन लागू है।  

प्रदेश में ऑक्सीजन का अभाव
बता दें कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 4043 नए मामले सामने आए हैं। प्रदेश के 4 बड़े शहरों में सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज निकल रहे हैं।  इंदौर, भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर में 50 फीसदी संक्रमित मरीज पाए गए हैं। प्रदेश का इंदौर शहर सबसे ज्यादा संक्रमित है। यहां पर बड़ी संख्या में नए मरीज सामने आ रहे हैं। इसके साथ ही प्रदेश के कई शहरों में ऑक्सीजन की कमी हो गई है। सरकार ने भिलाई स्टील प्लांट से ऑक्सीन को लेकर समझौता किया है। 

सरकारी दफ्तर 5 दिन ही खुलेंगे
कोरोना की भयंकर स्थिति को देखते हुए सरकार ने सभी सरकारी कार्यालयों को सप्ताह में पांच दिन खोलने का आदेश जारी किया है।  सरकारी दफ्तर की टाइमिंग सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक होगी। यानी अगले आदेश तक शनिवार और रविवार को सरकारी दफ्तर बंद रहेंगे।

Next Post

इधर बीमारी का हाहाकार, उधर डाक्टरों की हड़ताल

Thu Apr 8 , 2021
ऐसे समय में मांगों पर अड़े डाक्टर, हालांकि समानांतर ओपीडी लगाई इंदौर। इधर शहर में बीमारी का हाहाकार है, शहर के सभी अस्पताल (Hospital) कोरोना मरीजों (Corona Patients) से भरे पड़े हैं। ऐसे में एमवाय अस्पताल (MY Hospital) अन्य मरीजों के लिए संजीवनी बना हुआ है, लेकिन यहां भी अपनी विभिन्न मांगों को लेकर जूनियर […]