बड़ी खबर

देश के लिए कुर्बान हुआ मेरी मां का मंगलसूत्र – कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी


बेंगलुरु 1 कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Congress General Secretary Priyanka Gandhi) ने कहा, “मेरी मां का मंगलसूत्र (My Mother’s Mangalsutra) इस देश को कुर्बान हुआ (Was Sacrificed for the Country) । अगर मोदी जी मंगलसूत्र का महत्व समझते तो ऐसी अनैतिक बातें नहीं करते।”


बेंगलुरु में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए प्रियंका ने कहा कि पिछले दो दिनों से बहकी-बहकी बातें की जा रही हैं। कहा जा रहा है कि कांग्रेस पार्टी आपका मंगलसूत्र, आपका सोना छीनना चाहती है। 70 सालों से ये देश स्वतंत्र है, 55 साल कांग्रेस की सरकार रही है, क्या किसी ने आपका सोना छीना, आपके मंगलसूत्र छीने। उन्होंने कहा कि जब जंग हुई थी, तब इंदिरा गांधी ने अपना सोना देश को दिया था। मेरी मां का मंगलसूत्र मंगलसूत्र (राजीव गांधी) इस देश के लिए कुर्बान हुआ है। मोदी जी अगर मंगलसूत्र का महत्व समझते तो ऐसी अनैतिक बातें नहीं करते। प्रियंका ने कहा कि किसान पर कर्ज चढ़ता है तो उसकी पत्नी अपना मंगलसूत्र गिरवी रखती है। बच्चों की शादी होती है या दवाई की जरूरत होती है तो महिलाएं अपने गहने गिरवी रखती हैं। यह बात ये लोग नहीं समझते।

प्रियंका ने मणिपुर हिंसा और लॉकडाउन पर कहा, “जब मणिपुर में एक सैनिक की पत्नी को निर्वस्त्र करके घुमाया गया तब मोदी जी चुप थे, कुछ नहीं बोले। जब उन्होंने देश में लॉकडाउन लगाया और मजदूर देश भर से यूपी-बिहार और अलग-अलग जगहों के लिए पैदल निकले, जब इन्होंने ट्रेनें-बस बंद कर दीं। जब खाना नहीं मिल रहा था, जब कोई चारा नहीं था, तब महिलाओं ने अपने गहने गिरवी रखे। तब मोदी जी कहां थे ?”

प्रियंका ने किसान आंदोलन का जिक्र करते हुए कहा, “600 किसान शहीद हुए, उनकी विधवाओं के मंगलसूत्र के बारे में मोदी जी ने नहीं सोचा । आज चुनाव और वोट के लिए महिलाओं को डरा रहे हैं। उनको शर्म आनी चाहिए। लॉकडाउन में महिलाओं ने गहने गिरवी रखे… तब मोदी जी कहां थे? किसान आंदोलन में सैकड़ों किसान शहीद हुए, उनकी विधवाओं के मंगलसूत्र के बारे में मोदी जी ने नहीं सोचा। आज वोट के लिए महिलाओं को डरा रहे हैं।”

प्रियंका ने कहा, “एक समय था जब कोई नेता खड़ा होता था तो देश के लोग उससे एक नैतिक व्यक्ति होने की उम्मीद करते थे, लेकिन आज देश के सबसे बड़े नेता ने नैतिकता छोड़ दी है और आपके सामने नाटक कर रहे हैं ष एक समय था जब हमें उम्मीद थी कि हमारे नेता सच्चाई पर चलेंगे। हालांकि, आज देश का सबसे बड़ा नेता अपना रसूख, अपना गौरव और अपनी प्रसिद्धि दिखाने के लिए बाहर जाता है, लेकिन सच्चाई के रास्ते पर नहीं चलता है । एक समय था जब नेता परोपकारी और सेवा-उन्मुख होते थे, लेकिन अब लोग देश के सबसे बड़े नेता में केवल अहंकार देखते हैं।”

प्रियंका ने कहा कि सच्चाई के रास्ते पर चलना और दूसरों की सेवा करने के भाव के साथ देश की सेवा करना हिंदू परंपरा के साथ-साथ राजनीतिक परंपरा भी रही है। सभी पिछले प्रधानमंत्रियों ने अपनी पार्टी से जुड़े होने के बावजूद, देश के लोगों के लिए समर्पण के साथ काम किया, लेकिन आज नरेंद्र मोदी की सरकार पर झूठ हावी है । कोई भी भाजपा की निंदा करने की हिम्मत नहीं करता है, जिसने सरकारों को गिराने के लिए सभी लोकतांत्रिक मूल्यों को तोड़ दिया।

चुनावी बॉन्ड योजना के बारे में बोलते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि जिन कंपनियों पर छापे मारे गए, उन्होंने बीजेपी को चंदा दिया और फिर उनके खिलाफ मामले बंद कर दिए गए। उन्होंने आगे आरोप लगाया, “अब यह स्पष्ट हो गया है कि कैसे नोटबंदी के जरिए काले धन को सफेद किया गया और फिर इसे बीजेपी के खाते में जमा किया गया। जो कंपनियां 100 करोड़ रुपये भी कमाने में असमर्थ थीं, उन्होंने भाजपा को (चुनावी बांड योजना के तहत) 1,100 करोड़ रुपये का दान कैसे दिया? विपक्ष को भ्रष्ट कहकर निशाना बनाया जाता है, लेकिन वास्तविकता यह है कि भाजपा भ्रष्ट है और उसने पिछले 10 वर्षों में देश को गुमराह किया है।”

भाजपा नेता कभी भी रोजगार के बारे में नहीं करते हैं, शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं पर नहीं बोलते हैं, लेकिन वे केवल भड़काऊ और ध्यान भटकाने वाले विषय पर बोलते हैं। लोग कहते हैं कि मोदी दुनिया के सबसे बड़े नेता हैं। इतने दबदबे, गर्व, प्रसिद्धि और अहंकार के साथ, यह कहा जाता है कि मोदी दुनिया में चल रहे युद्धों को चुटकियों से रोक सकते हैं. मैं आपसे पूछना चाहती हूं कि क्या वह (मोदी) इतने बड़े नेता हैं, अगर उनका इतना दबदबा है कि कोई उनसे सवाल नहीं पूछ सकता, तो वह आपके लिए रोजगार पैदा करने में क्यों विफल रहे, महंगाई कम क्यों नहीं की जा सकी. युवाओं के लिए कोई नई योजना क्यों नहीं लाई गई और आपके परिवारों में विकास क्यों नहीं   हुआ ?”

प्रधानमंत्री ने राजस्थान की चुनावी रैली में कहा था कि कांग्रेस महिलाओं के गहने और मंगलसूत्र लेकर पैसा ऐसे लोगों में बांट देगी, जिनके अधिक बच्चे हैं, जो घुसपैठिए हैं। राजस्थान के बांसवाड़ा में रविवार को मोदी ने कहा था कि अगर कांग्रेस की सरकार बनेगी तो प्रॉपर्टी का सर्वे किया जाएगा। हमारी बहनों के पास कितना सोना-चांदी है, इसकी जांच की जाएंगी और फिर वो सबको समान रूप से बांट दिया जाएगा। मेरी माताओं-बहनों की जिंदगी में सोना शो के लिए नहीं होता, उसके स्वाभिमान से जुड़ा होता है। उसका मंगलसूत्र सोने की कीमत का मुद्दा नहीं है, उसके जीवन के सपनों से जुड़ा है, कांग्रेस अपने घोषणा पत्र में उसे छीनने की बात कर रही है। पहले जब उनकी सरकार थी, तब उन्होंने कहा था देश की संपत्ति पर पहला अधिकार मुसलमानों का है। इसका मतलब ये संपत्ति इकट्‌ठी करके किसको बांटेंगे, जिनके ज्यादा बच्चे हैं, उनको बांटेंगे, घुसपैठियों को बांटेंगे। क्या आपकी मेहनत की कमाई का पैसा घुसपैठियों को दिया जाना मंजूर है।

Share:

Next Post

'जीजा जी आएंगे तो घर के कागज छिपा लेना', स्मृति ईरानी ने साधा रॉबर्ट वाड्रा पर निशाना

Wed Apr 24 , 2024
अमेठी: केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने बुधवार (24 अप्रैल) को यूपी के अमेठी में एक चुनावी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गांधी परिवार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ”जीजा जी आएंगें तो तिवारी जी कह रहे हैं कि घर के कागज छिपा लेना, क्योंकि जीजा जी की नजर पक्की है.” स्मृति ईरानी ने रॉबर्ट वाड्रा […]