बड़ी खबर

RSS की पत्रिका के संपादकीय में दावा- सुप्रीम कोर्ट को औजार की तरह इस्तेमाल कर रहीं भारत विरोधी ताकतें

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की साप्ताहिक पत्रिका पंचजन्य में एक लेख लिखा गया है, जिसमें सुप्रीम कोर्ट पर बड़ा आरोप लगाया गया है। पत्रिका में लिखे लेख के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट को भारत विरोधी ताकतें टूल (औजार) की तरह इस्तेमाल कर रही हैं। बता दें कि बीबीसी डॉक्यूमेंट्री को प्रतिबंधित करने के केंद्र सरकार के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है। जिस पर कोर्ट ने केंद्र सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। इसी के बाद सुप्रीम कोर्ट पर पंचजन्य पत्रिका में लिखे लेख में उक्त टिप्पणी की गई है।

लेख में लगाए गए गंभीर आरोप
पंचजन्य पत्रिका के ताजा अंक के संपादकीय लेख में लिखा गया है कि मानवाधिकार के नाम पर आतंकवादियों को बचाने की कोशिशों, पर्यावरण के नाम पर भारत के विकास में बाधा डालने के बाद अब यह कोशिश की जा रही है कि देश विरोधी ताकतों को देश के खिलाफ प्रोपेगेंडा फैलाने का अधिकार भी मिलना चाहिए। लेख के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट को देशहित की सुरक्षा के लिए बनाया गया था लेकिन यह देश विरोधी ताकतों द्वारा अपना रास्ता साफ करने के लिए टूल की तरह इस्तेमाल हो रहा है। लेख के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट देश के करदाताओं के पैसे से, भारतीय कानून से और भारतीयों की भलाई के लिए चलता है।


बीबीसी डॉक्यूमेंट्री को बताया प्रोपेगेंडा
पंचजन्य के लेख में बीबीसी डॉक्यूमेंट्री को भारत को बदनाम करने के लिए प्रोपेगेंडा बताया गया है और दावा किया गया है कि यह गलत और काल्पनिकता पर आधारित है। देश विरोधी ताकतें हमारे लोकतंत्र, हमारी दयालुता और हमारी सभ्यता के मानकों का हमारे ही खिलाफ फायदा लेना चाहती हैं। उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट ने बीते हफ्ते ही बीबीसी पर भारत में प्रतिबंध लगाने की याचिका को खारिज कर दिया था। कोर्ट ने याचिका की मेरिट को आधारहीन बताया था।

वहीं सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार द्वारा बीबीसी डॉक्यूमेंट्री पर प्रतिबंध लगाने के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका भी लंबित है, जिस पर कोर्ट अप्रैल में सुनवाई करेगी। बता दें कि बीबीसी ने साल 2002 के गुजरात दंगों में प्रधानमंत्री मोदी की कथित भूमिका को लेकर एक डॉक्यूमेंट्री प्रसारित की थी, जिसे केंद्र सरकार ने प्रोपेगेंडा बताते हुए भारत में दिखाए जाने पर प्रतिबंध लगा दिया था।

Share:

Next Post

जवाहर मार्ग से चंद्रभागा तक की नई सडक़ का काम 31 मार्च तक पूरा करने का टारगेट

Thu Feb 16 , 2023
इंदौर (Indore)। जवाहर मार्ग से चंद्रभागा (Chandrabhaga to Jawahar Marg) के लिए बनाई जा रही नई रिवर साइड कारिडोर सडक़ का काम 31 मार्च तक हर हाल में पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं, ताकि जल्द से जल्द सडक़ शुरू की जा सके। वहां अभी भी तीन बाधक मकानों के हिस्से और एक धर्मस्थल […]