खेल

Asian Game 2023: मीराबाई चानू से लेकर निखत जरीन तक, ये हैं भारत के पदक के प्रबल दावेदार

नई दिल्ली: चीन के हांगझू में शुरू हुए एशियाई खेल 2023 (Hangzhou Asian Games 2023) में भारत इस बार अपना बेस्ट प्रदर्शन करने उतरेगा. भारत इस बार एशियाई खेलों 2023 में अपना 600 से ज्यादा खिलाड़ी उतारने जा रहा है, जोकि 40 खेलों में अपनी चुनौती पेश करेंगे. एशियन गेम्स के इतिहास में भारत ने अब तक कुल 672 मेडल जीते हैं. इनमें 155 गोल्ड, 201 सिल्वर और 316 ब्रॉन्ज़ मेडल हैं. 2018 एशियन गेम्स में भारत ने कुल 70 मेडल जीते थे, इनमें 16 गोल्ड, 23 सिल्वर और 31 ब्रॉन्ज़ मेडल थे. आइए एशियाई खेलों 2023 में पदक के कुछ दावेदारों पर एक नजर डालते हैं.

मुक्केबाज़ी-

  • निखत जरीन : मौजूदा विश्व चैंपियन निखत जरीन एशियाई खेलों में भारतीय मुक्केबाजी दल का नेतृत्व करेंगी. 2022 राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता, ज़रीन ने मार्च में 51 किग्रा वर्ग में विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचकर एशियाई खेलों के लिए क्वालीफाई किया. उन्होंने फाइनल में वियतनाम की गुयेन थी टैम को हराकर अपना दूसरा विश्व चैंपियनशिप स्वर्ण पदक जीता.
  • लवलीना बोरगोहेन : महिलाओं के 75 किग्रा वर्ग में ओलंपिक कांस्य पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन भी पदक जीतने की प्रबल दावेदार हैं. एशियाई खेल पेरिस ओलंपिक 2024 के लिए क्वालीफायर टूर्नामेंट भी है.
  • दीपक भोरिया : दीपक ने मई में विश्व चैम्पियनशिप में तोक्यो ओलंपिक कांस्य पदक विजेता और पूर्व विश्व चैम्पियन साकेन बिबोसिनोव को हराकर उलटफेर किया. वह अपने पहले एशियन गेम्स में गोल्डन पंच लगाना चाहेंगे.

भारोत्तोलन-

  • मीराबाई चानू (महिला 49 किग्रा), बिंद्यारानी देवी (महिला 55 किग्रा) और अचिंता शूली (पुरुष 73 किग्रा) एशियाई खेलों में भारत के लिए पदक के दावेदार हैं. जहां ओलंपिक रजत पदक विजेता मीराबाई चानू पोडियम फिनिश करना चाहेंगी तो वहीं 2022 राष्ट्रमंडल खेलों के पदक विजेता बिंद्यारानी और शूली में अपने-अपने वर्ग में पदक जीतने उतरेंगी.

भाला फेंक-

  • नीरज चोपड़ा : ओलंपिक और विश्व चैम्पियन नीरज स्वर्ण पदक के प्रबल दावेदार हैं. वह 2018 में जीते गए खिताब का बचाव करने के लिए उतरेंगे. पाकिस्तान के विश्व चैम्पियनशिप के रजत पदक विजेता अरशद नदीम उनके मुख्य प्रतिद्वंद्वी होंगे जिन्होंने 2018 एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीता था.
  • किशोर जेना : पिछले महीने अपनी पहली विश्व चैम्पियनशिप में 84.77 मीटर से अपने व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ पांचवें स्थान पर रहने वाले जेना भी पदक के दावेदार हैं.

गोला फेंक स्पर्धा-

  • तेजिंदरपाल सिंह तूर : तेजिंदर अपना 2018 का खिताब बचाने के लिए उतरेंगे. पंजाब के इस एथलीट ने जून में राष्ट्रीय अंतरराज्यीय चैम्पियनशिप में 21.77 मीटर की दूरी से स्वर्ण पदक जीतकर अपना ही एशियाई रिकॉर्ड सुधारा था.

लंबी कूद स्पर्धा-

  • मुरली श्रीशंकर : मुरली का व्यक्तिगत और सत्र का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 8.41 मीटर का है.

पुरुषों की 1500 मीटर स्पर्धा-

  • अजय कुमार सरोज : अजय मौजूदा एशियाई चैम्पियन और इस सत्र में महाद्वीप में दूसरा सर्वश्रेष्ठ समय निकलाने वाले खिलाड़ी हैं. उन्होंने अगस्त में विश्व चैम्पिनशिप में तीन मिनट 38.24 सेकंड का व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ समय निकाला था.

3000 मी स्टीपलचेस स्पर्धा-

  • अविनाश साबले: 2022 राष्ट्रमंडल खेलों के रजत पदक विजेता साबले के नाम आठ मिनट 11.20 सेकंड का राष्ट्रीय रिकॉर्ड है.

पुरुषों की 4×400 मी रिले स्पर्धा: अगस्त में विश्व चैम्पियनशिप के क्वालिफिकेशन राउंड में दो मिनट 59.05 सेकेंड के समय सेएशियाई रिकॉर्ड समय निकालन के बाद भारत पुरुषों की 4×400 मीटर रिले में स्वर्ण पदक का दावेदार है.

महिलाओं की 100 मीटर बाधा दौड़ स्पर्धा-

  • ज्योति याराजी : वह 100 मीटर बाधा दौड़ में देश की पहली एशियाई चैम्पियन हैं जिससे वह भारतीय महिलाओं में पदक की पक्की दावेदार हैं.

हेप्टाथलॉन स्पर्धा-

  • स्वप्ना बर्मन : स्वप्ना पदक की बड़ी दावेदार हैं और वह अपना खिताब बचाना चाहेंगी.

तीरंदाजी-

  • कम्पाउंड टीम स्पर्धा : मौजूदा विश्व चैम्पियन ओजस देवताले (पुरुष) और अदिति स्वामी (महिला) की बदौलत भारत टीम और मिश्रित युगल स्पर्धाओं के फाइनल में पहुंचने का प्रबल दावेदार होगा.

महिला कम्पाउंड टीम-

  • ज्योति सुरेखा वेन्नाम : चार साल से ‘लिम्का बुक’ तैराकी रिकॉर्ड धारक और दुनिया की चौथे नंबर की महिला कम्पाउंड तीरंदाज की मौजूदगी से भारत एशियाड में अपने पहले व्यक्तिगत स्वर्ण पदक का सपना लिए हैं.

पुरुषों की कम्पाउंड स्पर्धा-

  • अभिषेक वर्मा : एशियाड में एक टीम स्वर्ण और दो रजत पदक जीतने वाला यह 34 वर्षीय तीरंदाज अपने अनुभव की बदौलत पुरुष कम्पाउंड वर्ग में दूसरा टीम स्वर्ण जीतने की कोशिश करेगा.

बैडमिंटन-

  • एचएस प्रणय: प्रणय 2023 में अपने बेस्ट फॉर्म में चल रहे हैं और एशियाई खेलों 2023 में एकल स्पर्धा में इस बार वह पोडियम हासिल कर सकते हैं. 31 साल के प्रणय ने इस साल की शुरुआत में करियर की अपनी सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग सातवां स्थान हासिल किया था. हाल ही में ऑस्ट्रेलियन ओपन में वह दूसरे स्थान पर रहे थे.
  • प्रणय के अलावा, सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की पुरुष युगल जोड़ी के पास भी पदक जीतने का अच्छा मौका है। दुनिया की दूसरे नंबर की पुरुष युगल जोड़ी ने इस साल स्विस ओपन, इंडोनेशिया ओपन और कोरिया ओपन के रूप में तीन टूर्नामेंट जीते हैं।

क्रिकेट: भारतीय क्रिकेट टीम पहली बार एशियन गेम्स में भाग लेने जा रही है. बीसीसीआई ने एशियाई खेलों के लिए भारत की बी टीम की घोषणा की है. भारत के अलावा बांग्लादेश, श्रीलंका और पाकिस्तान की टीमें भी इसमें भाग ले रही है. रुतुराज गायकवाड़ की अगुवाई वाली भारतीय टीम के पास पोडियम पर पहुंचने का अच्छा मौका है.

फ़ुटबॉल: सुनील छेत्री की अगुवाई वाली भारतीय पुरुष फुटबॉल टीम एशियाई खेलों 2023 में पदक जीतने का लक्ष्य लेकर मैदान में उतरेंगी. इंटरकॉन्टिनेंटल कप और SAFF चैंपियनशिप जीतने के बाद भारतीय फुटबॉल टीम अपने इसी प्रदर्शन को आगे भी जारी रखना चाहेंगी. भारत को मेजबान चीन, बांग्लादेश और म्यांमार के साथ ग्रुप ए में रखा गया है.

Share:

Next Post

Asian Games 2023: भारतीय टीम का पहला मुकाबला मलेशिया से, स्मृति मंधाना होगी कप्तान

Wed Sep 20 , 2023
नई दिल्ली। भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम विश्व कप 2023 से पहले 22 सितंबर से ऑस्ट्रेलिया से भिड़ती हुई नजर आएगी। लेकिन इस बीच भारतीय महिला क्रिकेट टीम गुरुवार से एक्शन में होगी। दरअसल इस वक्त एशियन गेम्स शुरू हो चुके हैं, हालांकि इसकी औपचारिक शुरुआत 23 से होगी, लेकिन इससे पहले ही खेल शुरू हो […]