देश मध्‍यप्रदेश

अतिथि देवो भवः मुख्यमंत्री ने नागरिकों के घर में रुके एनआरआई से भेंट कर किया सम्मानित

प्रवासी भारतीयों ने मुख्यमंत्री चौहान की कार्य-शैली की सराहना की,
कहा- चौहान प्रदेशवासियों के ही नहीं, सभी प्रवासी भारतीयों के भी मामा

इंदौर (Indore)। प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन (Pravasi Bhartiya Divas Convention) में शामिल होने के लिए आए कई प्रवासी भारतीय (एनआरआई) नागरिकों के घरों में रुके हुए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) ने सोमवार शाम को इंदौर के आनंदा कॉलोनी स्थित बीके झंवर के निवास पर सपत्नीक पहुंचकर “पधारो म्हारे घर” कार्यक्रम (“Come to my home” program) में कॉलोनीवासियों के घर में रुके प्रवासी भारतीयों से भेंट की। मुख्यमंत्री ने सभी प्रवासी भारतीयों का माल्यार्पण कर स्वागत किया और उन्हें स्मृति-चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।


मुख्यमंत्री ने इंदौर विकास प्राधिकरण की विकास योजनाओं पर केंद्रित ‘‘ब्लू प्रिंट’’ पुस्तिका का विमोचन भी किया। उन्होंने कहा कि जब प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन इंदौर में करने का विचार आया, तभी यह भी विचार किया गया कि कुछ प्रवासी भारतीयों के लिए होटलों के स्थान पर स्थानीय नागरिकों के घर पर रुकने की व्यवस्था की जाए। मेहमान और मेजबान दोनों परिवार एक-दूसरे की संस्कृति और परंपराओं को समझ सके और विदेश से आए हमारे मेहमानों को अपनापन अनुभव हो।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रवासी भारतीयों के स्वागत और सत्कार में केवल प्रदेश सरकार एवं जिला प्रशासन ही नहीं, इंदौर का हर एक नागरिक लगा हुआ है। उन्होंने कहा कि हमारे देश की संस्कृति और परंपरा के अनुसार “अतिथि देवताओं के तुल्य माना गया है” और यह कहा गया है कि “मेहमां जो हमारा होता है वो जान से प्यारा होता है”। विभिन्न देशों से इंदौर आए प्रवासी भारतीयों ने भी यहाँ आने के बाद के अपने अनुभव सुनाये।

पिछले 20 वर्ष में मध्यप्रदेश की दशा ही बदल गई
बहरीन से इंदौर आए रमेश पाटीदार ने मुख्यमंत्री चौहान की कार्य-शैली और नीतियों की सराहना करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री चौहान केवल प्रदेश और देशवासियों के ही नहीं, दुनिया में बसे सभी प्रवासी भारतीयों के भी मामा हैं। उन्होंने कहा कि इंदौर शहर की स्वच्छता के बारे में बहरीन में सुना तो था, लेकिन जब यहाँ आकर देखा तो कल्पना से भी बेहतर पाया। उन्होंने कहा कि वह जब 20 वर्ष पूर्व मध्यप्रदेश आए थे तो यहाँ की सड़कें बहुत खराब थी। अब सड़कें बहुत अच्छी हैं। मुख्यमंत्री के बेहतर प्रयासों से मध्यप्रदेश की दशा ही बदल गई है।

इंदौर की सफाई व्यवस्था लंदन से भी बेहतर पाई
लंदन के मेयर सुनील चोपड़ा ने अपने अनुभव सुनाते हुए इंदौर की स्वच्छता व्यवस्था को सराहा। उन्होंने कहा कि इंदौर की साफ-सुथरी सड़कें लंदन की सड़कों से भी बेहतर हैं। संयुक्त अरब अमीरात से आए आदित्य प्रताप सिंह तथा साध्वी दिव्यप्रभा के साथ केलीफोर्निया अमेरिका से आई डॉक्टर वीणा चौहान ने भी अपने अनुभव सुनाते हुए इंदौर में मिले सम्मान और अपनेपन की सराहना की।

कार्यक्रम में इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष जयपाल सिंह चावड़ा, इंदौर संभाग के आयुक्त पवन शर्मा एवं कलेक्टर टी. इलैया राजा और प्रवासी भारतीय उपस्थित थे। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

पुरी में मप्र के तीर्थ यात्रियों से भरी बस में लगी आग, कोई जनहानि नहीं

Tue Jan 10 , 2023
– ग्वालियर से चारधाम यात्रा पर निकली स्लीपर कोच बस ग्वालियर (Gwalior)। ग्वालियर (Gwalior) से चार धाम की यात्रा (Char Dham Yatra) के लिए निकली एक स्लीपर कोच बस (sleeper coach bus) सोमवार को ओडिशा के पुरी में हादसे का शिकार हो गई है। बस में अचानक आग (sudden fire in the bus) लग गई। […]