विदेश

Gaza: हिजबुल्लाह ने उत्तरी इस्राइल पर दागीं मिसाइलें; आयरन डोम एंटी-मिसाइल से हमला रुका

येरुसलम (Jerusalem)। पश्चिम एशिया (West Asia) में इस्राइल और हमास (Israel and Hamas War) के हिंसक संघर्ष के छह महीने से अधिक बीत चुके हैं। अब तक 33 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। ताजा घटनाक्रम में लेबनान (Lebanon) की तरफ से हिजबुल्लाह (hezbollah) ने उत्तरी इस्राइल (Israel) पर दर्जनों मिसाइलें (missile firing) दागीं हैं। लेबनान (Lebanon) को कथित तौर पर ईरान का समर्थन हासिल है। ताजा घटनाक्रम में इस्राइली सेना (आईडीएफ) ने कहा कि शुक्रवार आधी रात के बाद लेबनान से उत्तरी इस्राइल की तरफ लगभग 40 रॉकेट दागे गए।


एक रिपोर्ट के मुताबिक हमलों को आयरन डोम एंटी-मिसाइल सिस्टम की मदद से नाकाम कर दिया गया। कुछ मिसाइलें खुले इलाकों में गिरीं, जबकि कुछ मिसाइल लेबनान की सीमा में ही रह गए।

रिपोर्ट के अनुसार, सीरिया में ईरानी दूतावास पर इस्राइल ने हवाई हमला किया था। इस कार्रवाई में ईरान के दो शीर्ष जनरलों की मौत हो गई थी। इस हमले से बौखलाए तेहरान ने जवाबी कार्रवाई की धमकी दी। अमेरिकी अधिकारियों के हवाले से आई मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया कि ईरान शुक्रवार-शनिवार की दरम्यानी रात इस्राइल पर हमला कर सकता है।

ईरान की ओर से हमले की आशंका के बीच चरमपंथी संगठन हिजबुल्ला ने इस्राइल के ऊपर 40 से अधिक रॉकेट दाग दिए हैं। इस्राइली रक्षा बलों ने बताया कि इस हमले में कोई मारा नहीं गया है। रक्षा बलों ने इस हमले का वीडियो जारी किया है। उत्तरी इस्राइल के गैलिली में हुए हमले के दौरान हिजबुल्ला के दो ड्रोन को इस्राइली सेना ने मार भी गिराया।

भारत ने जारी की एडवाइजरी, कहा-सतर्क रहें
ईरान सीरिया में अपने वाणिज्य दूतावास पर हुए हमले का बदला लेने के लिए जल्द ही इस्राइल पर हमला कर सकता है। अमेरिकी मीडिया ने यह आशंका जताई है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने तनाव को देखते हुए शुक्रवार को अपने नागरिकों को ईरान व इस्राइल की यात्रा न करने की एडवाइजरी जारी की है। साथ ही, इस्राइल में अप्रैल-मई में 6,000 मजदूर भेजने के फैसले को भी अगले आदेश तक के लिए टाल दिया गया। विदेश मंत्रालय ने ईरान व इस्राइल में रह रहे भारतीयों से भी अत्यंत सतर्कता बरतने और भारतीय दूतावास से संपर्क कर पंजीकरण कराने को कहा है।

उधर, विदेश मंत्रालय से एडवाइजरी जारी होने के तुरंत बाद इस्राइल में भारतीय दूतावास ने वहां बसे भारतीयों के लिए परामर्श जारी किया है। इसमें मौजूदा हालात में अनावश्यक यात्रा टालने व सुरक्षा दिशा-निर्देशों का पालन करने को कहा गया है। दूतावास ने नागरिकों के पंजीकरण के लिए लिंक जारी किया है। दरअसल, सीरिया के दमिश्क में ईरानी वाणिज्य दूतावास पर इस महीने के शुरू में इस्राइली हमले में ईरानी कुद्स फोर्स के दो जनरल व पांच अन्य अधिकारी मारे गए थे। ईरान ने इसे अपनी जमीन पर हमला करार देते हुए जवाबी कार्रवाई करने और इस्राइल ने हमला होने पर सीधे ईरान से युद्ध की धमकी दी है।

अमेरिका ने भी जारी किए दिशा-निर्देश
अमेरिका ने भी खतरे को देखते हुए अपने नागरिकों को ऐसी ही एडवाइजरी जारी की है। अमेरिका ने अपने लोगों से यात्रा से बचने, दिशा-निर्देशों का पालन करने और जरूरत पड़ने पर दूतावास में संपर्क करने को कहा है। मिसाइल या ड्रोन से हमला कर सकता है ईरान : अमेरिका और पश्चिम एशिया के कई मीडिया समूहों ने अनुमान जताया है, ईरान इस्राइल पर मिसाइल अथवा ड्रोन से हमले कर सकता है। यह हमला उसी तरह का हो सकता है, जैसा ईरान ने जनवरी, 2020 में अपने जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद अमेरिका के अल असद एयर बेस पर बैलेस्टिक मिसाइलों से किया था।

Share:

Next Post

किन्नर महामंडलेश्वर हिमांगी सखी ने दी चुनौती, बोलीं- 'पीएम मोदी गंगापुत्र.. तो मैं शिखंडी हूं..'

Sat Apr 13 , 2024
नई दिल्‍ली (New Delhi) । अखिल भारतीय हिंदू महासभा (All India Hindu Mahasabha) की तरफ से स्वामी चक्रपाणि (Swami Chakrapani) ने देशभर में 100 सीटों पर अपने उम्मीदवार को चुनावी मैदान में उतारा है. इनमें से एक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की वाराणसी लोकसभा सीट (Varanasi Lok Sabha seat) भी है. इस […]