देश

दान का खोला खजाना, गुरुद्वारा कमेटी बना रही 125 बेड का कोविड अस्पताल

नई दिल्‍ली। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (global pandemic corona virus) ने जिस तरह कहर बरपाया है यह किसी छिपा नहीं चाहे अमीर हो या फिर गरीब सब इसकी चपेट आ रहे हैं। समय पर आक्‍सीजन न मिलने हजारों लोगों की मौत हो गई, हालांकि कई समाजसेवी और संगठन (philanthropists and organizations) लोगों की मदद करने खुलकर सामने आए हैं। यहां तक कई धार्मिक संस्‍थाओं ने भी अपने खजाने आम जनता के लिए खोल दिए हैं।

यब राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delih) में जल्द ही गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सहयोग से निजामुद्दीन स्थित बालाजी गुरुद्वारा में सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल बनकर तैयार होगा। इसकी शुरुआत प्रबंधक कमेटी ने कर दी है। 125 बेड वाले इस अस्पताल में 35 आईसीयू व 4 बच्चों के लिए आईसीयू बेड होगा। बताया जा रहा है कि महिलाओं के लिए अलग से वार्ड तैयार किया जाएगा।


इस संबंध में दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी के प्रेजिडेंट मनजिंदर सिंह सिरसा का कहना है कि सारा सोना-चांदी कार सेवा वाले बाबा, बाबा बचन सिंह के सुपुर्द कर दी गई है। ये वक्त है जान बचाने का, अच्छी से अच्छी हेल्थ केयर फैसिलिटी देना का। उन्होंने बताया कि दान के तौर पर देश-विदेश के लोग गुरु की गुल्लक में कोई सोने की अंगूठी डाल देता है तो कोई कड़ा। किसी ने हार डाला को किसी श्रद्धालु ने कंगन। कोई चांदी दान में देता है। सिरसा ने बताया कि इनकी कीमत कोई नहीं लगा सकता। हमारा मकसद है लोगों से दान में जो कुछ मिला है वे उनकी सेवा में ही लगा दें।
कमेटी के अनुसार अस्पताल में कंस्ट्रक्शन का काम शुरू किया जा चुका है। पहले फेज में इसी जगह पर गुरुद्वारा कमिटी ने 100 बेड का फ्री डायलिसिस अस्पताल खोला था। सेकंड फेज में 125 बेड का कोविड अस्पताल तैया किया जाएगा।

Share:

Next Post

महामारी के चलते दुनिया भर में बेरोजगारी नया संकट, संयुक्त राष्ट्र की चेतावनी

Thu Jun 3 , 2021
संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र (United Nations) ने महामारी कोविड-19 (COVID-19 pandemic) के कारण वैश्विक स्तर पर आए ‘बेरोजगारी की समस्या’ (Globally ‘problem of unemployment’) का जिक्र किया है। दरअसल, अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन (International Labor Organization ) ने एक रिपोर्ट पेश की। जिसमें रोजगार पर महामारी के प्रभाव का विस्तार से विवरण दिया है। संयुक्त राष्ट्र […]