जीवनशैली धर्म-ज्‍योतिष

साल 2021 में इस दिन है हनुमान जयंती, जानें तिथि व महत्‍व

हनुमान जी (Hanuman Ji) एक ऐसे देवता हैं जो कलयुग में भी पृथ्वी पर विराजमान हैं। हिंदू धर्म में हनुमान जयंती (Hanuman Jayanti 2021) का विशेष महत्व होता है। हनुमान जयंती हिंदू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, इस दिन ही हनुमान जी का जन्म हुआ था। हिंदू पंचांग के अनुसार, हनुमान जयंती चैत्र मास की पूर्णिमा तिथि को मनाते हैं। जबकि देश के कुछ हिस्सों में इसे कार्तिक मास के कृष्णपक्ष की चतुर्दशी तिथि को भी हनुमान जयंती मनाई जाती है। इस साल हनुमान जयंती 27 अप्रैल 2021 को मनाई जाएगी। इस दिन भक्त हनुमान जी (Hanuman Ji) की विधि-विधान से पूजा-अर्चना के साथ ही व्रत रखते हैं। मान्यता है कि हनुमान जयंती के दिन हनुमान जी (Hanuman Ji) की विधि-विधान से पूजा करने से कष्टों से मुक्ति मिलती है और मनोकामना पूरी होती है। संकटों से मुक्ति दिलाने वाले भगवान हनुमान को संकटमोचन भी कहा जाता है।

हनुमान जयंती का महत्व
शास्त्रों के अनुसार आज भी हनुमान जी पृथ्वी पर वास करते हैं और उन्हें अमरत्व का आशीर्वाद प्राप्त है। सूर्यपुत्र और भगवान शिव के अंशावतार भगवान हनुमान की रोजाना पूजा करने से जीवन में संकटों से मुक्ति मिलती है। जिन लोगों की कुंडली में शनि जैसे ग्रह अशुभ प्रभाव डालते हैं, हनुमान जी की पूजा (worship) से ऐसी समस्याएं दूर हो जाती हैं। हनुमान जी की आराधना करने से भूत-प्रेत, बाधा, नकारात्मक ऊर्जा, मरण से मुक्ति मिलती है। हनुमान जी को खुश करने के लिए चोला चढ़ाना ,सुगन्धित तेल और सिंदूर चढ़ाना चाहिए। साथ ही रामचरित मानस का अखंड पाठ, सुंदरकांड का पाठ, हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa), बजरंग बाण, हनुमान बाहुक का पाठ करना फलदायी माना जाता है।

हनुमान जयंती तिथि और शुभ मुहूर्त
हनुमान जयंती 2021 तिथि- 27 अप्रैल 2021 (मंगलवार)
पूर्णिमा तिथि प्रारंभ- 26 अप्रैल 2021 (सोमवार) की दोपहर 12:44 बजे से
पूर्णिमा तिथि समापित- 27 अप्रैल 2021 (मंगलावर) की रात्रि 9:01 बजे तक

हनुमान जयंती पूजा विधि
हनुमान जयंती की पूर्व रात्रि जमीन पर सोना चाहिए। सोने से पहले भगवान राम और माता सीता के साथ हनुमान जी का ध्यान लगाना चाहिए। इसके अगले दिन स्नान करने के पश्चात हाथ में गंगाजल लेकर व्रत का संकल्प करें। अब पूर्व दिशा में हनुमान जी की प्रतिमा स्थापित करें। पूरे विधि-विधान के साथ हनुमान जी की पूजा करें। पूजा के बाद मंत्रोच्चारण करते हुए हनुमान जी का ध्यान लगाएं । कहते हैं कि ऐसा करने से संकटमोचन की कृपा से मनोकामनाएं पूरी होती हैं ।

नोट– उपरोक्त दी गई जानकारी व सूचना सामान्य उद्देश्य के लिए दी गई है। हम इसकी सत्यता की जांच का दावा नही करतें हैं यह जानकारी विभिन्न माध्यमों जैसे ज्योतिषियों (Astrologers) , धर्मग्रंथों, पंचाग आदि से ली गई है । इस उपयोग करने वाले की स्वयं की जिम्मेंदारी होगी ।

Next Post

जनजागरूकता ही Corona infection रोकने का एकमात्र उपाए: Shivraj

Thu Apr 1 , 2021
मुख्यमंत्री ने कहा… सभी जिलों में कोरोना उपचार के लिए बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जाए भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना (Corona) का संक्रमण (Infection) रोकने के लिए सभी धर्मगुरुओं, सामाजिक संगठनों, समुदायों, राजनीतिक दलों, जन अभियान परिषद, एनसीसी (NCC), एनएसएस (NSS) आदि के माध्यम से […]