भोपाल

जनजागरूकता ही Corona infection रोकने का एकमात्र उपाए: Shivraj

  • मुख्यमंत्री ने कहा… सभी जिलों में कोरोना उपचार के लिए बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जाए

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना (Corona) का संक्रमण (Infection) रोकने के लिए सभी धर्मगुरुओं, सामाजिक संगठनों, समुदायों, राजनीतिक दलों, जन अभियान परिषद, एनसीसी (NCC), एनएसएस (NSS) आदि के माध्यम से जन-जागरूकता अभियान चलाया जाए। संक्रमण (Infection) रोकने के लिए जनजागरुकता ही एक मात्र उपाए है। सभी जिलों में कोरोना (Corona)  के उपचार के लिए बिस्तरों की संख्या यथासंभव बढ़ाई जाए तथा उपचार की उत्कृष्ट व्यवस्थाएँ हों। चौहान ने कहा कि कोरोना (Corona)  रोकथाम के संबंध में पूर्व में जारी निर्देश यथावत रहेंगे। जिन जिलों में रविवार को लॉक डाउन (Lockdown) किया जा रहा था, वहाँ रविवार को ही लॉक डाउन (Lockdown) रहेगा। लॉक डाउन (Lockdown) का समय जिलों की परिस्थिति अनुसार शनिवार को रात्रि 9 या 10 बजे से सोमवार को प्रात: 6 बजे तक रहेगा। भोपाल, इंदौर, जबलपुर, बैतूल, छिन्दवाड़ा, खरगोन एवं रतलाम शहरों में 15 अप्रैल तक समस्त स्कूल एवं कॉलेजों में शिक्षण बंद रहेगा। महाराष्ट्र से आने वाली तथा महाराष्ट्र जाने वाली बसों का आवागमन 15 अप्रैल तक प्रतिबंधित रहेगा।

जन-जागरूकता का अच्छा असर
सागर में 39 प्रकरण औसतन आ रहे हैं। जिला मुख्यालय के ही अस्सी प्रतिशत केस हैं। जन-प्रतिनिधियों का अच्छा सहयोग मिला है। उनके साथ निरंतर प्रशासन की बैठकें हो रही हैं।जिले में जन-जागरूकता अभियान का अच्छा असर दिख रहा है।

रंगपंचमी पर रहेगी सख्ती
रंग पंचमी पर गेर, चल समारोह आदि नहीं होंगे। नियंत्रित संख्या में साप्ताहिक हाट बाजार लग सकेंगे। क्लब, पिकनिक स्पॉट आदि, जहाँ संक्रमण फैलने की आशंका रहती है, बंद रहेंगे। दुकानों के सामने गोले अनिवार्य। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने पर दुकानें सील भी की जा सकेंगी। मास्क नहीं लगाने पर जुर्माना होगा। सरकारी दफ्तरों में भी मास्क लगाकर नहीं आने पर अधिकारी/ कर्मचारियों पर जुर्माना। महाराष्ट्र की सीमाएँ सील रहेंगी तथा महाराष्ट्र के लिए बसों का संचालन बंद रहेगा। कहीं भी कोई मेला आयोजित नहीं होगा।

ओपन जेल व्यवस्था में कम समय रोकें
मुख्यमंत्री चौहान ने निर्देश दिए कि राजगढ़ में मास्क का उपयोग न करने वालों को ओपन जेल में रखने की व्यवस्था अच्छी है, उपयोगी भी है, लेकिन ऐसे लापरवाह नागरिकों को एक-दो घंटे की सीमित अवधि तक ही रोका जाए। समझाईश देकर उन्हें मास्क पहनने के लिए प्रेरित किया जाए।

धर्मगुरुओं ने लगवाी वेक्सीन
भोपाल में कोरोना के इलाज के लिए अस्पतालों में बेड क्षमता 4 से 6 हजार है। भोपाल में अनेक धर्मगुरु सार्वजनिक तौर पर वेक्सीन लगवा चुके हैं, जिससे अन्य लोगों को प्रेरणा मिली है। भोपाल में जहाँ दस हजार चालान हुए हैं, वहीं बिना मास्क के घूमने वालों की रोका-टोकी का कार्य भी हो रहा है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि इंदौर, भोपाल, जबलपुर, खरगोन पर विशेष ध्यान दिया जाये। इन स्थानों पर कुछ माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाकर नियंत्रण करें। भोपाल में 498, इंदौर में 643, जबलपुर में 161 तथा खरगोन में कोरोना के 89 नए प्रकरण आए हैं।

Share:

Next Post

Josh Hazlewood ने आईपीएल से वापस लिया अपना नाम

Thu Apr 1 , 2021
नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड (Australian fast bowler Josh Hazlewood) ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 14वें संस्करण (14th edition of Indian Premier League (IPL)) से अपना नाम वापस ले लिया है। हेजलवुड आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम का हिस्सा थे। हेजलवुड ने एक बयान में कहा, ”अलग-अलग वक्त पर लगभग पिछले […]