जीवनशैली स्‍वास्‍थ्‍य

गर्भवती महिलाओं के लिए इस चीज का सेवन करना बेहद खतरनाक, WHO ने दी सलाह


गर्भावस्था हर महिला के जीवन का बेहद खास समय होता है. प्रेग्नेंसी (pregnancy) के दौरान महिलाओं को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है. गर्भावस्था को लेकर पहले भी कई स्टडीज सामने आई हैं. इसमें ये साबित हो चुका है कि गर्भावस्था (pregnancy) में शराब पीना खतरनाक हो सकता है. पर हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी कह दिया है कि गर्भावस्था के दौरान या जो महिला बच्चे पैदा करने की सोच रही हैं, उन्हें शराब पीने से रोकना चाहिए.

विश्व स्वास्थ्य संगठन
विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) कई देशों में अपने हालिया ग्लोबल अल्कोहल एक्शन प्लान के द्वारा शराब से जुड़े नुकसान और इसके हानिकारक उपयोग के बारे में लोगों के बीच जागरूकता बढ़ाने का काम करता है.

प्लान के पहले चरण के मुताबिक, बच्चों, गर्भवती महिलाओं और बच्चे पैदा करने की उम्र वाली महिलाओं को शराब पीने से रोकना चाहिए. इसके अलावा, शराब के ज्यादा सेवन से कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं. इससे मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित परेशानी, हिंसक स्वभाव, तनावपूर्ण संबंध (strained relationship) जैसी कई और समस्याएं हो सकती हैं.

मां बनने के लिए सोच रही महिलाओं और गर्भवती महिलाओं (pregnant women) के शराब पीने से पैदा होने वाले बच्चे में अल्कोहल एक्सपोजर (बर्थ डिफेक्ट और न्यूरो डेवलपमेंट एब्नार्मेलिटीज) का खतरा रहता है.गर्भावस्था में शराब पीने से नवजात को फीटल अल्कोहोल स्पेक्ट्रम डिसऑर्डर (Fetal Alcohol Spectrum Disorder) से संबंधित बीमारियां हो सकती हैं.


गर्भ के दौरान शराब पीने से बच्चों में कई तरह के विकार हो सकते हैं. इनमें बच्चे के विकास में कमी, चेहरे की आकृति में फर्क, सीखने और व्यवहार संबंधी समस्याएं हो सकती हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रस्ताव के मुताबिक, इस तरह की समस्याओं से सबको अवगत कराने के लिए अंतरराष्ट्रीय ‘विश्व शराब निषेध दिवस या सप्ताह’ (world no alcohol day/week) का आयोजन करना चाहिए.

यूके के मुख्य चिकित्सा अधिकारियों के अनुसार, मां बनने की योजना बनाने वाली महिलाओं से लेकर गर्भवती महिलाओं तक, किसी भी तरह से शराब का सेवन उनके लिए सुरक्षित नहीं है.

महिलाओं की स्वतंत्रता में बाधा डाल सकता है
हालांकि, यूके अल्कोहल ट्रेड बॉडी, पोर्टमैन ग्रुप के मैट लैम्बर्ट ने कहा कि WHO का प्रस्ताव बेहद चिंता का विषय है. क्योंकि उनका मानना है कि ये प्रस्ताव ज्यादातर महिलाओं की स्वतंत्रता में बाधा डाल सकता है.

एनएचएस
एनएचएस वेबसाइट का कहना है कि विशेषज्ञ अब भी इस बात को साबित करने में नाकाम रहे हैं कि गर्भवती महिलाओं के लिए शराब की कितनी मात्रा या शराब का सेवन पूरी तरह सुरक्षित है या नहीं. इसके अनुसार, गर्भावस्था में शराब पीने से बच्चे को लंबे समय तक नुकसान पहुंच सकता है और इसका बुरा प्रभाव बच्चे के किसी भी अंग पर हो सकता है.

अल्कोहल
अल्कोहल चेंज(alcohol change) यूके के चीफ एक्जीक्यूटिव डॉ रिचर्ड पाइपर के अनुसार, गर्भावस्था के शुरुआती चरण में शराब पीना भ्रूण के लिए बहुत हानिकारक साबित हो सकता है. ये महत्वपूर्ण है कि लोग शराब से शरीर को पहुंचने वाले नुकसान को समझें. हर व्यक्ति को शराब से होने वाले नुकसान के बारे में जागरूक होना बेहद जरूरी है, चाहे उम्र कोई भी हो.

Next Post

Gujrat: साबरमती नदी में मिला कोरोना वायरस, दो तालाबों का पानी भी संक्रमित

Fri Jun 18 , 2021
अहमदाबाद। कोरोना वायरस की दूसरी लहर का असर अब धीरे-धीरे कम होने लगा है, लेकिन संकट अभी पूरी तरह से टला नहीं है। कोरोना को लेकर हर नए दिन के साथ कुछ नए खुलासे हो रहे हैं। अब ऐसा ही गुजरात से नया मामला सामने आया है, यहां की सबसे महत्वपूर्ण साबरमती नदी में कोरोना […]