विदेश

Earthquake : नेपाल में आया भूकंप, काठमांडू दिखा तेज असर

काठमांडू। नेपाल (Nepal) की राजधानी काठमांडू ( Kathmandu) में भूकंप (Earthquake ) के झटके महसूस किए गए हैं। यहां 5.5 तीव्रता का भूकंप आया। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी (National Center for Seismology) ने बताया, सुबह करीब 7:58 मिनट पर झटके महसूस किए गए। भूकंप की तीवृता इतनी अधिक थी कि इसका असर भारत (India) के कई क्षेत्रों में देखने को मिला, बिहार ( Bihar) के कई जिलों में इसका सबसे अधिक असर देखने को मिला है।

लोगों का कहना है कि उन्हें भी झटके महसूस हुए। हालांकि भूकंप के झटके तेज थे लेकिन किसी भी तरह के कोई जान माल के नुकसान की खबर नहीं है। रविवार सुबह-सुबह भूकंप के झटकों ने लोगों को दहशत में डाल दिया। झटके महसूस होते ही लोग घरों से बाहर की ओर भागे।

पांच दिन पहले भी आया था भूकंप
नेपाल में पांच दिन पहले भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। अमेरिकी जियोलाजिकल सर्वे की माने तो यह भूकंप नागरकोट से 21 किमी उत्तर पूर्व में आया था। भूकंप की तीव्रता 4.1 मैग्नीट्यूड रही थी। हालांकि तब भी कोई नुकसान की जानकारी नहीं मिली थी।। हालांकि इससे अभी तक हुए जानमाल के नुकसान की कोई जानकारी सामने नहीं आई है। बता दें कि नेपाल हमेशा से भूकंप के डेंजर जोन में रहा है और यहां कई बार भूकंप आ चुके हैं।

उल्‍लेखनीय है कि धरती मुख्य तौर पर चार परतों से बनी होती हैं। इनर कोर, आउटर कोर, मैनटल और क्रस्ट। क्रस्ट और ऊपरी मैन्टल कोर को लिथोस्फेयर कहते हैं। ये 50 किलोमीटर की मोटी परत कई वर्गों में बंटी हुई है जिसे टैकटोनिक प्लेट्स कहते हैं। ये टैकटोनिक प्लेट्स अपनी जगह पर कंपन करती रहती हैं और जब इस प्लेट में बहुत ज्यादा कंपन हो जाती है, तो भूकंप महसूस होता है।

Share:

Next Post

देश की पहली Hydrogen Bus सेवा लद्दाख में होगी शुरू, एनटीपीसी करेगा संचालन

Sun Jul 31 , 2022
जम्मू। लद्दाख (Ladakh) की राजधानी लेह में देश की पहली (country’s first) हाइड्रोजन बस सेवा (Hydrogen fuel bus service) शुरू होने जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने शनिवार को उज्ज्वल भारत उज्ज्वल भविष्य कार्यक्रम के समापन पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से लेह में देश के पहले ग्रीन हाइड्रोजन मोबिलिटी […]