जीवनशैली स्‍वास्‍थ्‍य

देश में तेजी से फैल रहा कोरोना का नया वेरिएंट, इन लक्षणों को भूनकर भी न करें अनदेखा

नई दिल्‍ली। कोरोना (corona) के बढ़ते मामलें सभी की चिंता की वजह बने हुए हैं। इस बीच नए स्ट्रेन ओमिक्रॉन को लेकर भी लोगों में डर है। ज्यादातर हेल्थ एक्सपर्ट्स इस वैरिएंट को कम खतरनाक बता रहे हैं। हालांकि इस बीच 1 मरीज की मौत की खबर भी आ चुकी है। ये खबरें सभी को डरा रही हैं ऐसे में सतर्कता और सावधानी रखना बेहद जरूरी है। एक्सपर्ट्स ने इसके कुछ लक्षण बताए हैं जिन्हें वॉर्निंग साइन के रूप में देखा जा रहा है।

ये लक्षण दिखते ही हों अलर्ट
ओमिक्रॉन (omicron) के अब तक हल्के लक्षण ही रिपोर्ट हुए हैं। ये ज्यादातर जुकाम से मिलते हैं जैसे नाक बहना, गले में खराश, सिर दर्द, थकान, छींकना (sneezing) और हल्का बुखार। UK के ZOE Covid study app के हेड टिम स्पेक्टर का कहना है कि जिसको भी जुकाम का लक्षण (Symptom) दिखे उन्हें तुरंत कोरोना टेस्ट करवा लेना चाहिए। क्योंकि सभी एक्सपर्ट्स का मानना है कि जितनी जल्दी इसका इलाज शुरू होगा, बीमारी को हराने में उतनी ही आसानी होगी।

नहीं हैं पहले जैसे लक्षण
टिम ने बताया कि पहले की तरह सूखी खांसी, तेज बुखार और स्मेल जाना ओमिक्रॉन के लक्षण के रूप में काफी कम सामने आया है। इसमें जुकाम जैसे ही हल्के-फुल्के लक्षण हैं।


बदला दिखे त्वचा का रंग…
सीडीसी ने कुछ और लक्षण बताए हैं जो ओमिक्रॉन के सिंपटम्स हो सकते हैं जैसे सांस लेने में दिक्कत, थकान, शरीर में दर्द, सिर दर्द, जी मिचलाना और उल्टी। वहीं अगर आपकी त्वचा, होठों या नाखूनों का रंग पीला, ग्रे या नीला दिखाई दे तो भी सचेत हो जाएं।

वैक्सीन लगी हों तो भी रहें सतर्क
भले ही आपको पहले इन्फेक्शन हो चुका हो या वैक्सीन की सारी डोज लगी हों, लापरवाही न बरतें। मास्क और जरूरत हो तो फेसशील्ड लगाएं। सोशल डिस्टेंसिंग रखें साथ ही हाथ धोते और सैनिटाइज करते रहें। जरूरत हो तभी बाहर निकलें।

सावधानी बचा सकती है जान
यह बिल्कुल जरूरी नहीं कि आप विदेश गए हों तभी ओमिक्रॉन का इन्फेक्शन होगा। वायरस काफी तेजी से फैल रहा है तो आपको जैसे ही जुकाम के लक्षण दिखें सबसे पहले खुद को आइसोलेट कर लें। आइसोलेशन का ये मतलब नहीं आपको कोरोना हुआ ही है लेकिन सावधानी आपके घर के कई सदस्यों को संक्रमण से बचा सकती है।

नोट – उपरोक्त दी गई जानकारी व सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं इन्हें किसी प्रोफेशनल डॉक्टर की सलाह के रूप में न समझें। कोई भी बीमारी या परेंशानी हो तो विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

Share:

Next Post

सीएम अशोक गहलोत ने की ‘इन्वेस्ट राजस्थान-2022‘ समिट की तैयारियों की समीक्षा

Tue Jan 4 , 2022
जयपुर । मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने कहा कि कोविड की विषम परिस्थितियों से प्रभावित अर्थव्यवस्था (Economy) को गति देने (Speed up) के साथ ही निवेश एवं रोजगार बढ़ाने में इन्वेस्ट राजस्थान-2022 समिट (Invest Rajasthan-2022 Summit) महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी (Will play an Important Role) । उन्होंने कहा कि सभी विभाग पूर्ण सहयोग एवं […]