बड़ी खबर

राजस्थान के सीएम गेहलोत के बेटे वैभव पर महाराष्ट्र में FIR, करोड़ों की ठगी का है मामला

मुम्बई। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Rajasthan CM Ashok Gehlot) के बेटे वैभव गहलोत (Vaibhav Gehlot) के खिलाफ कथित तौर पर महाराष्ट्र के नासिक (Nashik) निवासी ने करोड़ों रुपये ठगने के आरोप में प्राथमिकी (FIR) दर्ज कराई है। गंगापुर पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक रियाज शेख ने कहा कि राजस्थान और गुजरात के रहने वाले 16 लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई है।

सुशील पाटिल नाम के एक व्यक्ति ने प्राथमिकी दर्ज की है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि उससे करोड़ों रुपये ठगे गए हैं. घटना के बारे में बताते हुए शिकायतकर्ता सुशील पाटिल ने कहा कि गुजरात कांग्रेस के एक कार्यकर्ता सचिन वलरे ने 2018 में उन्हें आश्वासन दिया था कि वह अशोक गहलोत के करीबी हैं और राज्य सरकार द्वारा दिए गए सरकारी अनुबंध का प्रबंधन करते हैं।


पाटिल ने कहा कि उन्होंने मुझे सरकारी अनुबंधों के प्रबंधन करने वाली एक निजी लिमिटेड कंपनी में भागीदार बनने के लिए कहा. मैंने उस कंपनी के माध्यम से 6.80 करोड़ रुपये का निवेश किया है. जब मेरे निवेश पर रिटर्न बंद हो गया, तो मैंने उनपर दबाव बनाना शुरू कर दिया. इसके बाद मेरे और वैभव गहलोत के बीच एक वीडियो कॉल की व्यवस्था की गई थी. जहां गहलोत ने मुझे मेरे निवेश पर रिटर्न का आश्वासन दिया था।

बीजेपी ने किया वार, वैभव ने दी सफाई
पाटिल ने सरकारी सुरक्षा की भी मांग की है क्योंकि प्राथमिकी दर्ज करने के बाद वह अपनी सुरक्षा को लेकर आशंकित हैं. उन्होंने कहा कि मैंने शक्तिशाली लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. मुझे अपनी जान का डर है. बीजेपी की राजस्थान इकाई ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे और राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन (आरसीए) के अध्यक्ष वैभव गहलोत पर राज्य के पर्यटन विभाग में कार्य निविदा में हुई कथित धोखाधड़ी में संलिप्तता को लेकर निशाना साधा है।

मुझे कोई जानकारी नहीं है…
वैभव गहलोत ने आरोपों का खंडन करते हुए कहा है कि चुनाव नजदीक आने पर इस तरह की और बातें उठेंगी. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने एक मराठी समाचार चैनल का वीडियो क्लिप साझा करते हुए ट्वीट किया कि मुख्यमंत्री के सुपुत्र का नाम इन मराठी ख़बरों में सुनाई दे रहा है। माननीय मुख्यमंत्री को स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए. राजस्थान की जनता सिर्फ़ सच्चाई जानना चाहती है. वहीं वैभव गहलोत ने अपना पक्ष रखते हुए ट्वीट किया है कि मीडिया में किसी प्रकरण को लेकर कुछ चल रहा है, जिसमें मेरा नाम भी डाला गया है. मुझे उसके बारे में कोई जानकारी नहीं है और मेरा इस सबसे कोई संबंध नहीं है।

Share:

Next Post

कई नॉवेल लिख चुके हैं IAS नियाज खान, क्यों कर रहे हैं मुस्लिमों की नुमाइंदगी? जानिए पूरी कहानी

Sun Mar 20 , 2022
भोपाल। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files) की बहस में एक ट्वीट कर प्रदेश के IAS अफसर नियाज खान (niaz khan) भी आ गए हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर फिल्म के निर्देशक विवेक अग्नीहोत्री (Vivek Agnihotri) का नाम लिए बिना कहा कि मुसलमान कीड़े नहीं, निर्माता उनके नरसंहार पर भी […]