विदेश

ब्राजील में टेलीग्राम एप पर लगा प्रतिबंध, सुप्रीम कोर्ट के जज ने इस वजह से सुनाया कड़ा फैसला


साओ पाउलो। ब्राजील के सर्वोच्च न्यायालय के एक न्यायाधीश ने शुक्रवार को देश भर में मैसेजिंग एप टेलीग्राम को प्रतिबंधित करने का आदेश दिया। अपना फैसला सुनाते हुए न्यायाधीश ने टेलीग्राम के अधिकारियों के साथ सहयोग नहीं करने को लेकर नाराजगी भी जाहिर की। कोर्ट की यह सख्ती राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो के लिए किसी झटके की तरह है। दरअसल, बोल्सोनारो के इस मंच पर 10 लाख से अधिक अनुयायी हैं, जो अक्तूबर में चुनाव के समय यह उनके प्रचार-प्रसार के लिए महत्वपूर्ण साबित हो सकते हैं।

जस्टिस अलेक्जेंड्रे डी मोरेस ने अपने फैसले में कहा कि टेलीग्राम ने ब्राजील के अधिकारियों के अनुरोधों को बार-बार नजरअंदाज किया है। कंपनी ने प्रोफाइल ब्लॉक करने और बोल्सनारो से जुड़े झूठ फैलाने के आरोपी ब्लॉगर एलन डॉस सैंटोस से जुड़ी जानकारी प्रदान करने के पुलिस के अनुरोध को भी नजरअंदाज किया है। न्यायाधीश ने कहा कि टेलीग्राम अपने प्रतिस्पर्धियों के विपरीत ब्राजील में एक कानूनी प्रतिनिधि का नाम देने में भी विफल रहा है। व्हाट्सएप के अपनी नीति बदलने बाद से ही बोल्सनारो के कई समर्थकों ने टेलीग्राम की ओर रुख कर लिया है। इधर, राष्ट्रपति ने अक्सर डी मोरेस और ब्राजील की शीर्ष अदालत पर उन फैसलों का आरोप लगाया है जो अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के खिलाफ जाते हैं।


ब्राजील के सोशल मीडिया में गलत सूचना की जांच की अध्यक्षता करने वाले डी मोरेस ने अक्तूबर में डॉस सैंटोस की गिरफ्तारी के लिए वारंट जारी किया था। हालांकि भगोड़ा घोषित हो चुका सामाजिक कार्यकर्ता कहलाने वाला यह शख्स अब संयुक्त राज्य अमेरिका में है, और वहीं से टेलीग्राम पर सक्रिय रहता है। डी मोरेस ने अपने फैसले में कहा कि टेलीग्राम प्लेटफॉर्म, हर संभव अवसर में, ब्राजील की न्यायपालिका के लिए पूरी तरह से अवहेलना करते हुए न्यायिक आदेशों का पालन करने में विफल रहा। उन्होंने कहा कि संघीय पुलिस की ओर से इस एप को बंद करने का सुझाव आया है। उधर, डॉस सैंटोस ने कहा है कि डी मोरेस का यह फैसला पूरी तरह से उनकी खुद की इच्छा पर आधारित है।

हर हफ्ते बोल्सनारो के लाइव प्रसारण को प्रसारित करने वाले एक रेडियो और टीवी चैनल जोवेम पैन को ब्लॉगर ने बताया कि किसी बिंदु पर उसे रोकना होगा या रोकना होगा। मुझे विश्वास नहीं है कि ब्राजील के लोग इन अत्याचारों को और बर्दाश्त करेंगे। न्यायाधीश ने अपने फैसले में कहा कि ब्राजील में टेलीग्राम के कार्यों का पूर्ण निलंबन तब तक रहेगा जब तक कि पहले जारी किए गए न्यायिक निर्णय तामील नहीं किए जाते। डी मोरेस ने टेलीग्राम को ब्लॉक करने के लिए एपल, गूगल और ब्राजीलियाई फोन कंपनियों को पांच दिन का समय दिया है।

बोल्सोनारो और उनके सहयोगियों ने जनवरी 2021 से उन्हें टेलीग्राम पर फॉलो करने के लिए अपने समर्थकों को प्रोत्साहित किया था। ब्राजील के नेता के लिए प्रेरणा पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को उसी महीने कैपिटल हिल में हुए दंगे के मद्देनजर ट्विटर से स्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया था। जनवरी में बोल्सोनारो से समर्थकों ने पूछा कि टेलीग्राम की जांच के बारे में वह क्या सोचते हैं। उन्होंने कहा कि यह कायरता है कि वे ब्राजील के लिए क्या करने की कोशिश कर रहे हैं। टेलीग्राम ने न्यायाधीश के फैसले पर कोई टिप्पणी नहीं की है और उनके कानूनी प्रतिनिधि से बात नहीं हो सकी है। हालांकि शुक्रवार दोपहर तक टेलीग्राम की सेवा चालू थी।

Share:

Next Post

ICC Women’s World Cup में छाईं हरमनप्रीत कौर

Sat Mar 19 , 2022
नई दिल्‍ली । भारतीय महिला क्रिकेट टीम (Indian Women Cricket Team) शनिवार को आईसीसी वनडे विश्व कप (ICC Women World Cup) में अपना अहम मैच खेल रही है. भारत के सामने है ऑस्ट्रेलियाई टीम. भारत को अगर अपनी सेमीफाइनल में जाने की दावेदारी को पुख्ता करना है तो उसे इस मैच में हर हाल में […]