देश

यमुना ने पार किया चेतावनी चिन्ह , जल स्तर खतरे के निशान के करीब

नई दिल्ली। रविवार (Sunday) की सुबह यमुना नदी (Yamuna River) में जल स्तर (Water level) एक बार फिर खतरे (Danger) के निशान के करीब पहुंच गया। इसका कारण दिल्ली (Delhi) और उसके आसपास के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्रो (एनसीआर) (Delhi NCR) में भारी गरज के साथ बारिश होने का अनुमान है। निचले क्षेत्रों में रहने वाले परिवारों को अस्थायी रूप से सरकार (Government) के तंबू और आश्रय घरों में ले जाया जा रहा है। पिछले कुछ दिनों में 100 से अधिक परिवारों को यमुना बाढ़ के मैदानों से ऊंचे इलाकों में पहुंचाया गया है।

रविवार सुबह (Sunday Mornimg) नौ बजे यमुना (Yamuna) में जलस्तर 205.30 मीटर (Water Level Metre) दर्ज किया गया, जो खतरे (Danger) के निशान के करीब है। यमुना के 204.50 मीटर के “चेतावनी चिह्न” (Warning Mark) को पार करने पर बाढ़ की चेतावनी (Warning) घोषित की जाती है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) (Delhi Disaster Management Authority) के एक अधिकारी का कहना है कि, “बाढ़ की चेतावनी (Warning) जारी है।हमने विभिन्न क्षेत्रों में नावों को तैनात किया है।” पिछले कुछ दिनों में 100 से अधिक परिवारों को यमुना (Yamuna) बाढ़ (Flood) के मैदानों से ऊंचे इलाकों में पहुंचाया गया है।हरियाणा (Haryana)  में हथिनीकुंड बैराज (Hathnikund Barrage) से भारी बारिश और उसके बाद पानी छोड़े जाने के बाद पिछले हफ्ते यमुना में उछाल आया है।

खतरे के स्तर का रिकॉर्ड
बता दे कि ऐतिहासिक रूप से कहें तो, यमुना नदी का जल स्तर अब तक का सबसे ऊंचा 1978 में 207.49 मीटर का रिकॉर्ड था। 2013 में, नदी बढ़कर 207.32 मीटर हो गई और 2019 में, यह 206.60 मीटर के निशान तक पहुंच गई।

Share:

Next Post

GST Collections जुलाई में 1.16 लाख करोड़ रु, पिछले साल के मुकाबले 33% ज्यादा

Sun Aug 1 , 2021
नई दिल्ली : GST revenue जुलाई महीने में 1,16,393 करोड़ रुपए कलेक्ट की गई है. यह पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 33 फीसदी ज्यादा है. Finance Ministry ने रविवार को यह जानकारी दी. इसमें CGST 22,197 करोड़ रुपए , SGST 28,541 करोड़ रुपए, IGST 57,864 करोड़ रुपए (27,900 करोड़ रुपए माल के आयात […]