देश भोपाल न्यूज़ (Bhopal News) मध्‍यप्रदेश

मप्र में मिले कोरोना के 28 नये मामले, 13 दिन से कोई मौत नहीं

भोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में बीते 24 घंटों में कोरोना के 28 नये मामले (28 new cases of corona in last 24 hours) सामने आए हैं, जबकि 35 मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त हुए हैं। इसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 10 लाख 41 हजार 689 हो गई है। राहत की बात है कि राज्य में लगातार 13वें दिन कोरोना से कोई मौत नहीं (no death from corona on the 13th day) हुई है। यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा रविवार देर शाम जारी कोविड-19 बुलेटिन में दी गई। एक दिन पहले राज्य में 27 नये संक्रमित मिले थे।


कोविड-19 बुलेटिन के अनुसार, आज प्रदेशभर में 7,421 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। इनमें 28 पॉजिटिव और 7,393 सैम्पल निगेटिव पाए गए, जबकि 167 सैम्पल रिजेक्ट हुए। पॉजिटिव प्रकरणों का प्रतिशत (संक्रमण की दर) 0.3 रहा। नये मामलों में इंदौर और ग्वालियर में 6-6. मुरैना और रायसेन में 3-3, भोपाल, सागर और सिंगरौली में 2-2 तथा दतिया, गुना, हरदा और कटनी में 1-1 नये संक्रमित मिले हैं, जबकि राज्य के 41 जिलों में आज कोरोना के नये मामले शून्य रहे। राज्य में आज कोरोना से कोई मौत नहीं हुई है। यहां 13 दिन से मृतकों की संख्या 10,735 पर स्थिर है।

प्रदेश में अब तक कुल दो करोड़ 91 लाख 40 हजार 814 लोगों के सैम्पलों की जांच की गई। इनमें कुल 10,41,689 प्रकरण पॉजिटिव पाए गए। इनमें 10,30,764 मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर अपने घर पहुंच चुके हैं। इनमें से 35 मरीज रविवार को स्वस्थ हुए। अब यहां सक्रिय प्रकरणों की संख्या 197 से घटकर 190 रह गई। हालांकि, राहत की बात यह भी है कि राज्य के 31 जिले पूरी तरह कोरोना संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। इन जिलों में अब कोरोना का एक भी सक्रिय मरीज नहीं है।

प्रदेश में रविवार को शाम छह बजे तक 4,326 लोगों का टीकाकरण किया गया। इन्हें मिलाकर राज्य में अब तक वैक्सीन की 11 करोड़, 80 लाख, 48 हजार 224 डोज लगाई जा चुकी है। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

मप्रः आईटी का बड़ा हब बनने की दिशा में इंदौर ने लगाई बड़ी छलांग

Mon May 9 , 2022
– 800 करोड़ से अधिक का पूंजी निवेश, आईटी निर्यात में 51.64 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज इंदौर। राज्य शासन (state government) द्वारा आईटी के क्षेत्र में निवेश (investment in IT) को प्रोत्साहित करने की दिशा में उपलब्ध कराये जा रहे संसाधन, सुविधाओं और अनुकुल वातावरण के परिणामस्वरुप इंदौर आईटी का बड़ा हब बनने (Indore to […]