देश

हरदोई में युवराज हत्याकांड को लेकर बड़ा बवाल, हिरासत में करणी सेना के अध्यक्ष, पुलिस पर पथराव

हरदोई: उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले (Hardoi district of Uttar Pradesh) के पाली इलाके में हुए युवराज हत्याकांड (Hardoi Yuvraj murder case) को लेकर मंगलवार दोपहर के समय बड़ा बवाल हो गया. प्रदर्शन में शामिल होने आए करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष (National President of Karni Sena) और बसपा नेता राजवर्धन को हिरासत में लिए जाने के बाद लोग आक्रोशित हो गए और पुलिस पर पथराव कर दिया. हालात इतने तनावपूर्ण हो गए कि पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े. यही नहीं प्रदर्शनकारियों को काबू में करने के लिए पुलिस को हल्का बल तक प्रयोग करना पड़ा. फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है. इलाके में धारा 144 लगा दी गई है. एसपी शिवचंद्र गोस्वामी पुलिस फोर्स के साथ फ्लैग मार्च कर रहे हैं.

पाली थाना क्षेत्र के इस्माइलपुर निवासी युवराज की हत्या के मामले में क्षेत्र में माहौल अभी भी गर्म बना हुआ है. पुलिस इससे पहले आरोपियों पर कठोर कार्रवाई कर चुकी है. इसके बावजूद और कड़ी कार्रवाई की मांग को लेकर करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेंद्र प्रताप सिंह ‘वीरू’ मंगलवार मल्लावा बॉर्डर पहुंचे. यहीं पर पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया. इस दौरान पाली में प्रदर्शन कर रहे बसपा नेता राजवर्धन ‘राजू’ को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया. वहीं अन्य प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने जब खदेड़ने की कोशिश की तो उन लोगों ने पुलिस पर ही पथराव कर दिया. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोले दागे.

फिलहाल पाली थाना क्षेत्र में उपद्रव और तनाव को देखते हुए बड़ी संख्या में कई थानों की पुलिस और एक बटालियन PAC तैनात कर दी गई है. गिरफ्तार किए गए लोगों पर कई धाराओं में मामला पंजीकृत करते हुए आवश्यक कार्रवाई की जा रही है. पुलिस पर पथराव करने वाले लोगों की भी पहचान कर उन पर कार्रवाई की जा रही है. युवराज हत्याकांड मामले में पुलिस पहले ही चार आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है. पुलिस ने बताया कि पूरे मामले में आवश्यक विधिक कार्रवाई की जा रही है, लेकिन इस घटना के बाद करणी सेना के द्वारा किए गए आवाह्न को देखते हुए जिले की पुलिस अलर्ट मोड पर है और घटना को लेकर राजनीति भी गर्म है.

SP शिवचंद्र गोस्वामी ने बताया कि पुलिस युवराज हत्याकांड पर पहले ही आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर चुकी है, लेकिन बेवजह का प्रदर्शन किया जा रहा है. आज प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस पहले ही अलर्ट मोड पर थी. शांतिपूर्वक प्रदर्शन की अनुमित दी गई थी, लेकिन इन लोगों ने पुलिस पर पथराव किया. बचाव में पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा. साथ ही आंसू गैस के गोले छोड़े गए. उपद्रव करने वाले कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है. इलाके में धारा 144 लगा दी गई है. इसका उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

मामला करीब 10 दिन पुराना है. बीती 30 मई को पाली थाना क्षेत्र के इस्माइलपुर में 12वीं के छात्र युवराज सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया था, जिसमें एक आरोपी के पैर में गोली भी लगी थी. चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था, लेकिन इसके बाद करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बसपा नेता राजवर्धन राजू ने युवराज के परिजनों से मुलाकात की थी. इसमें मृतक युवराज के चाचा ने आरोप लगाया था कि बीजेपी के वोट देने को लेकर आरोपियों ने युवराज की हत्या की थी. आरोपियों ने पहले भी धमकी दी थी, लेकिन पुलिस ने इसको गंभीरता से नहीं लिया.

युवराज के परिवार से मुलाकात के बाद करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेंद्र प्रताप सिंह ‘वीरू’ ने पुलिस-प्रशासन से आरोपियों के घर बुलडोजर चलाने की मांग की थी और कहा था कि अगर 10 दिन के अंदर प्रशासन ने ये कार्रवाई नहीं की तो वह पाली में ही धरने पर बैठ जाएंगे. मंगलवार को वह पाली पहुंचने वाले थे, लेकिन मल्लावां बॉर्डर पर पुलिस ने हरदोई में घुसने से पहले ही उन्हें हिरासत में ले लिया. वहीं पाली में प्रदर्शन कर रहे बसपा नेता राजवर्धन ‘राजू’ को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया, जिसके बाद इतना बड़ा बवाल हो गया.

Share:

Next Post

भूख हड़ताल के चौथे दिन हालत बिगड़ने पर इलाज कराने से इनकार कर दिया मनोज जरांगे-पाटिल ने

Tue Jun 11 , 2024
जालना (महाराष्ट्र) । मनोज जरांगे-पाटिल (Manoj Jarange-Patil) ने भूख हड़ताल के चौथे दिन (On the fourth day of Hunger Strike) हालत बिगड़ने पर (As his condition Worsened) इलाज कराने से इनकार कर दिया (Refused Treatment) । मराठा आरक्षण के लिए अपने पांचवें अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल आंदोलन के चौथे दिन मंगलवार को शिवबा संगठन के प्रमुख […]