विदेश

कोरोना हॉस्पिटल से निकल अचानक प्रशंसकों के बीच पहुंचे डोनाल्‍ड ट्रंप

वॉशिंगटन। कोरोना वायरस महामारी से जूझ रहे अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप रविवार शाम को अचानक अपने हॉस्पिटल से बाहर निकल आए और वहां पहले से मौजूद प्रशसंकों का अभिवादन स्‍वीकार किया। वाइट हाउस ने एक बयान जारी करके कहा कि ट्रंप शाम को 5.30 बजे कुछ देर के लिए वॉल्‍टर रीड हॉस्पिटल से बाहर आए और कार में बैठकर अपने प्रशंसकों के बीच गए। कुछ देर बाद वह वापस अस्‍पताल के अंदर चले गए।

इस यात्रा से पहले डोनाल्‍ड ट्रंप ने एक वीडियो जारी करके कहा था कि वह अपने समर्थकों से मिलने के लिए अचानक से बाहर आएंगे। डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा, ‘मैंने कोविड-19 के बारे में काफी कुछ सीखा है। मैंने वास्‍तव में इसे स्‍कूल जाकर सीखा है। यह वास्‍तविक स्‍कूल है।’ माना जा रहा है कि डोनाल्‍ड ट्रंप ने अपनी सेहत में हो रहे सुधार को द‍िखाने के लिए अस्‍पताल से बाहर आए। अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव प्रचार के बीच ट्रंप के दांव से विपक्षी भी हैरान हैं।

ट्रंप की इस यात्रा की डॉक्‍टरों ने काफी आलोचना की
उधर, ट्रंप की इस यात्रा की डॉक्‍टरों ने काफी आलोचना की है। उन्‍होंने कहा कि महामारी से जूझ रहे डोनाल्‍ड ट्रंप खुद को अलग-थलग नहीं रख रहे हैं। जॉर्ज वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी के डॉक्‍टर जेम्‍स फिलिप ने कहा, ‘राष्‍ट्रपति की एसयूवी न केवल बुलेटप्रूफ है बल्कि केमिकल हमले के लिए भी सील है। इस कार के अंदर कोविड-19 के संक्रमण का खतरा ज्‍यादा है। उनका यह गैरजिम्‍मेदाराना रवैया चौंका देने वाली है।’

बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की तबीयत को लेकर जारी अफवाहों के बीच उनका इलाज कर रहे डॉक्टरों ने बयान जारी किया है। उन्होंने कहा है कि राष्ट्रपति ट्रंप की हालत में तेजी से सुधार हो रहा है। शुक्रवार सुबह से उन्हें बुखार नहीं आया है। खून में ऑक्सीजन की मात्रा भी अब तेजी से बढ़ रही है। डॉक्टरों ने यह भी कहा कि वे सोमवार को वाइट हाउस वापस आ सकते हैं। अभी उनका इलाज अमेरिकी सेना के वॉल्टर रीड मेडिकल सेंटर अस्पताल में चल रहा है।

डेक्सामेथासोन और रेमेडिसविर से किया जा रहा इलाज
डॉक्टरों ने बताया कि फेफड़े की बीमारी से जूझ रहे राष्ट्रपति ट्रंप को गुरुवार और शुक्रवार को दो बार सप्लीमेंटरी ऑक्सीजन दी गई थी। इसके अलावा ट्रंप को डेक्सामेथासोन की डोज भी दी गई। डेक्सामेथासोन को ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे मरीजों के उपचार में प्रभावी माना गया है। डॉ ब्रायन गैरीबाल्डी ने कहा कि ट्रंप को ऑक्सीजन की कमी के कारण डेक्सामेथासोन दिया गया है। उन्होंने इसकी पहली खुराक गुरुवार को ली थी और हमारी योजना इसे अभी जारी रखने की है। वाल्टर रीड नेशनल मिलिट्री मेडिकल सेंटर में डॉ सीन पी कॉनले ने कहा कि उनका स्वास्थ्य लगातार सुधर रहा है। उन्हें शुक्रवार से बुखार नहीं आया है। रेमेडिसविर दवा की पांच दिनों का कोर्स पूरा करने के बाद उनकी लीवर और किडनी सही तरीके से काम कर रहे हैं। इसके अलावा ट्रंप को जिंक, विटामिन डी, फैमोटिडाइन, मेलाटोनिन और एस्पिरिन भी दी जा रही है।

ट्रंप को कोरोना वायरस की एक्सपेरिमेंटल दवा REGN-COV2 (पॉलीक्लोनल एंटीबॉडी ) भी दी जा रही है। इसे अमेरिकी दवा निर्माता रेजेनरॉन ने बनाया है। इस दवा को कोरोना वायरस एंडीबॉडीज की कई दवाओं को मिलाकर तैयार किया गया है। वहीं, ब्रिटेन में भी इस दवा का उपयोग रिकवरी ट्रायल के लिए किया जा रहा है। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर ने इस दवा को बहुत सकारात्मक और बहुत शक्तिशाली बताया है।

 

Next Post

बिग बॉसः बेडरूम इंचार्ज बने सिद्धार्थ, मनचाहे बेड के लिए जैस्मिन-निक्की ने अपनाया ये पैंतरा

Mon Oct 5 , 2020
मुंबई। बिग बॉस 14 का सफर इस बार कई नए ट्व‍िस्ट्स के साथ शुरू हो गया है। शो में पहली बार एक्स-कंटेस्टेंट्स सिद्धार्थ शुक्ला, हिना खान और गौहर खान बाकी नए कंटेस्टेंट्स पर रूल करते दिखेंगे। बिग बॉस के घर में इन तीनों एक्स-कंटेस्टेंट्स को अलग-अलग डिपार्टमेंट की ज‍िम्मेदारी दी गई है, जिसमें सिद्धार्थ बेडरूम […]