विदेश

एलन मस्क ने पहले नौकरी से निकाला, अब कर्मचारियों से वापस मांग रहे पैसा; जानें मामला

वॉशिंगटन। दुनिया के सबसे अमीर इंसान एलन मस्क एक बार फिर चर्चाओं में हैं। टेस्ला, स्पेसएक्स और एक्स कॉर्प जैसी कंपनियों के मालिक मस्क ने साल 2022 में ट्विटर को करीब 44 अरब डॉलर में खरीदा था। इसके बाद उन्होंने इसका नाम बदलकर एक्स कॉर्प कर दिया। इस अधिग्रहण के बाद एक्स के मैनेजमेंट समेत कई कर्मचारियों की छुट्टी कर दी गई थी। छंटनी के दौरान इन सभी को हर्जाना भी मिला था। हालांकि, अब टेस्ला सीईओ का कहना है कि इन लोगों को गलती से ज्यादा पैसे चले गए हैं। इन्हें यह वापस करना होगा।


दरअसल, यह विचित्र स्थिति एक्स कॉर्प द्वारा करेंसी कनवर्जन के दौरान हुई भूल के चलते बनी है। कंपनी का कहना है कि करेंसी कनवर्जन यानी अमेरिकी डॉलर को ऑस्ट्रेलियाई डॉलर में बदलने में हुई गलती के चलते ज्यादा पैसा नौकरी से निकाले गए ऑस्ट्रेलिया के कर्मचारियों को चला गया था। सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड के अनुसार, कंपनी ने इन छह कर्मचारियों से पैसा वापस मांगा है। साथ ही पैसा वापस न करने की स्थिति में कानूनी कार्रवाई की धमकी दी है। हाल ही में एलन मस्क ने टेस्ला में भी बड़े पैमाने पर छंटनी की थी।

रिपोर्ट के अनुसार, एक्स कॉर्प के एशिया पैसिफिक एचआर डिपार्टमेंट ने यह ईमेल भेजे हैं। इनके मुताबिक, अमेरिकी डॉलर (US Dollars) को ऑस्ट्रेलियाई डॉलर में बदलने के दौरान उनसे चूक हुई है। इसके चलते कर्मचारियों को 1500 से 70 हजार डॉलर तक अतिरिक्त चले गए हैं। यह गलती जनवरी, 2023 में हुई है। इसलिए अगर आप अपनी सुविधानुसार जल्द से जल्द हमें पैसे वापस करते हैं तो हम आपके आभारी होंगे। अब तक किसी कर्मचारी ने पैसा वापस नहीं किया है। यह पेमेंट उन्हें शेयरों के बदले मिला था। ऐसा बताया जा रहा है कि एक्स कॉर्प ने गलती से इन कर्मचारियों को 2.5 गुना पेमेंट किया था।

Share:

Next Post

G7 Summit: मोदी ने तुर्किये, यूएई और ब्राजील समेत कई देशों के नेताओं से की मुलाकात

Sat Jun 15 , 2024
अपुलिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi)  ने इटली (Italy) में जी7 शिखर सम्मेलन (G7 Summit) से इतर तुर्किए (Turkey) , संयुक्त अरब अमीरात (UAE), ब्राजील (Brazil) और जॉर्डन (Jordan) के नेताओं से बातचीत की और उनके साथ तस्वीरें खिंचवाईं। इन लोगों से की मुलाकात पीएम मोदी ने तुर्किए के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन, […]