जीवनशैली धर्म-ज्‍योतिष

साल 2021 में इस दिन लगेगा पहला चंद्र ग्रहण, जानें सूतक काल का महत्‍व

ज्‍योतिष शास्त्र में चंद्रग्रहण (Lunar eclipse) का बहुत अधिक महत्व बताया जाता है। कहा जाता हैं कि चंद्रमा पर लगने वाले ग्रहण की वजह से सभी राशियों पर सकारात्मक और नकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं। हिंदू पंचांग के अनुसार साल 2021 में पहला चंद्र ग्रहण (Lunar eclipse) मई महीने की 26 तारीख को लगेगा। आपको बता दें कि यह साल का पहला ग्रहण भी होगा । चंद्र ग्रहण (Lunar eclipse) के समय सूतक काल का भी विशेष महत्व (Special importance) बताया गया है। सूतक काल (Sutak period) में किसी भी प्रकार के शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं। आज इस लेख के माध्‍यम से हम आपको बतानें जा रहें हैं कि चंद्र ग्र‍हण क्‍यों लगता है और सूतककाल का क्‍या महत्‍व है ।


किस स्थिति में होता है चंद्रग्रहण
ग्रहण का महत्व केवल ज्योतिष शास्त्र (Astrology) ही नहीं, बल्कि विज्ञान की दृष्टि से भी महत्वपूर्ण है। विज्ञान के मुताबिक धरती सूर्य की परिक्रमा करती है, वहीं चंद्रमा पृथ्वी के चारों ओर घूमती है। धरती और चंद्रमा घूमते-घूमते एक बिंदु पर ऐसे स्थान पर आते हैं जहां सूर्य, चंद्रमा और धरती तीनों एक सीध में आ जाते हैं। ऐसे में जब धरती सूर्य और चंद्रमा (Sun and moon) के बीच आ जाती है तो सूर्य की रोशनी चांद तक नहीं पहुंच पाती है। इसे ही चंद्र ग्रहण (Lunar eclipse) कहते हैं। पंचांग के अनुसार 26 मई 20121 बुधवार को वैशाख मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि (Full moon date) रहेगी। इस दिन दोपहर 2 बजकर 17 मिनट पर चंद्र ग्रहण (Lunar eclipse) आरंभ होगा और शाम 7 बजकर 19 मिनट तक रहेगा।

सूतक काल का प्रभाव
ग्रहण के समय सूतक काल (Sutak period) को महत्वपूर्ण माना गया है। चंद्र ग्रहण (Lunar eclipse) जब लगता है तो सूतक काल का आरंभ ग्रहण से 9 घंटे पूर्व आरंभ हो जाता है। वहीं जब सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) लगता है तो सूतक का 12 घंटे पूर्व से आरंभ हो जाता है। लेकिन इस चंद्र ग्रहण (Lunar eclipse) के दौरान सूतक काल (Sutak period) मान्य नहीं होगा। क्योंकि साल का प्रथम चंद्र ग्रहण (Lunar eclipse) उपछाया ग्रहण है। उपछाया ग्रहण के कारण सूतक काल (Sutak period) का प्रभाव नहीं माना जाता है। इसलिए सूतक काल (Sutak period) के नियम प्रभावी नहीं होंगे। लेकिन कुछ मामलो में सावधानी बरती जा सकती है। छोटे बच्चों और गर्भवती महिलाओं (Pregnant women) को विशेष सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है ।

नोट– उपरोक्त दी गई जानकारी व सूचना सामान्य उद्देश्य के लिए दी गई है। हम इसकी सत्यता की जांच का दावा नही करतें हैं यह जानकारी विभिन्न माध्यमों जैसे ज्योतिषियों, धर्मग्रंथों, पंचाग आदि से ली गई है । इस उपयोग करने वाले की स्वयं की जिम्मेंदारी होगी ।

Share:

Next Post

Shehnaaz Gill ने बेबी बंप के साथ शेयर की फोटो

Sat Mar 13 , 2021
नई दिल्‍ली। सोशल मीडिया पर इन दिनों दिलजीत दोसांझ(Diljit Dosanjh) और शहनाज गिल(Shehnaaz Gill) की तस्वीरें छाई हुई हैं. बता दें कि इन तस्वीरों में शहनाज अपना बेबी बंप फ्लांट कर रही हैं. वहीं दिलजीत (Diljit Dosanjh) प्यार से अपने हाथ शहनाज(Shehnaaz Gill) के बेबी बंप (Baby bump) पर रखे हुए है. वायरल हो रही […]