विदेश

भगोड़ा मेहुल चोकसी डोमिनिका में गिरफ्तार, भारत को करना होगा इंतजार

नई दिल्‍ली/रोसेउ। पंजाब नेशनल बैंक घोटाले का आरोपी व भगोड़ा मेहुल चोकसी (Punjab National Bank scam accused and fugitive Mehul Choksi) को डोमिनिका से गिरफ्तार कर लिया गया है। वह मध्य अमेरिकी देश एंटीगुआ से अचानक गायब हो गया था। अब उसे एंटीगुआ लाने की तैयारी की जा रही है। मेहुल की गिरफ्तारी डोमिनिका के क्रिमिनल इन्वेस्टिगेशन डिपार्टमेंट ने की है, लेकिन अभी उसे भारत वापस लाने की राह लंबी और कठिन है। दूसरी ओर भगोड़ा चोकसी की गिरफ्तारी के बाद भारत की तरफ से प्रयास तेज कर दिए गए हैं, लेकिन सबसे बड़ी समस्या ये है कि डोमिनिका और भारत के बीच कोई प्रत्यर्पण संधि (extradition treaty) नहीं है। ऐसी स्थिति में आरोपी व भगोड़ा मेहुल चोकसी को भारत वापस लाने में अभी इंतजार करना होगा।
बता दें कि मेहुल चोकसी एंटीगुआ का नागरिक है। उसे यहां के मिलने वाले सभी अधिकार प्राप्त हैं। एंटीगुआ एक कैरेबियाई देश है। मेहुल चोकसी को जिस देश में पकड़ा गया है, वह भी एंटीगुआ के पास का है। मेहुल के डोमिनिका जाने का कारणों का पता नहीं चल सका है। दूसरी तरफ भारत लाने के संबंध में जानकार लोगों का कहना है कि चोकसी को वापस लाने में कई कानूनी पेचीदगियां हैं।



एंटीगुआ के पीएमओ के अनुसार हमने डोमिनिका सरकार से देश में अवैध रूप से प्रवेश करने के लिए गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही उसे सीधे भारत को सौंपने के लिए बात चल रही है।

एंटीगुआ प्रधानमंत्री कार्यालय की चीफ ऑफ स्टाफ लियोनेल हर्स्ट ने कहा है कि मेहुल चोकसी के डोमिनिका में पकड़े जाने की पुष्टि हुई है। वो कहते हैं कि उसे एंटीगुआ के बजाय भारत सरकार को सौंप देंगे।

घोटाले में आरोपी चोकसी और उनके भतीजे नीरव मोदी पर बैंक अधिकारियों से मिलकर पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के साथ कथित तौर पर 13,500 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का आरोप है। बता दें कि नीरव मोदी अभी लंदन की एक जेल में बंद है। दोनों के खिलाफ सीबीआई जांच कर रही है।



पीएनबी घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय ने कुछ समय पहले मेहुल चोकसी की 14 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति जब्‍त की थी। इसके अलावा उसके भांजे और अपराध में साझीदार, नीरव मोदी को यूनाइटेड किंगडम की एक अदालत से तगड़ा झटका लगा है। अदालत ने नीरव मोदी को किसी तरह की रियायत देने से इनकार कर दिया है।

Share:

Next Post

इंदौर के 22 निजी अस्पतालों को किया ग्रीन जोन में शिफ्ट

Fri May 28 , 2021
इंदौर। इंदौर के कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी मनीष सिंह ने कोरोना मरीजों की संख्या कम होने के मद्देनजर इंदौर के 22 अस्पतालों को ग्रीन श्रेणी में शिफ्ट किया है। उल्लेखनीय है कि कलेक्टर श्री सिंह द्वारा गत दिवस जारी किए गए आदेश के तहत इंदौर जिले के 21 अस्पतालों को ग्रीन जोन में रखा गया […]