विदेश

हेलिकॉप्टर नहीं बस लेकर आएंगे वैश्विक नेता, महारानी के अंतिम दर्शन के लिए इन नियमों का करना होगा पालन

लंदन। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार में शामिल होने वाले विदेशी नेताओं और उनकी पत्नी से कहा गया है कि उन्हें अंतिम दर्शन के लिए एयरपोर्ट से हेलिकॉप्टर की सेवा नहीं दी जाएगी। सभी को बस से आना होगा। समाचार एजेंसी एएफपी के अनुसार इस अंतिम संस्कार में करीब 500 विदेशी नेताओं के शामिल होने की उम्मीद है। इन सभी नेताओं की सुरक्षा के लिए बड़े पैमाने पर ऑपरेशन चलाए जा रहे हैं। बता दें कि महारानी की अंत्येष्टि अगले सोमवार, 19 सितंबर को लंदन के वेस्टमिंस्टर एबे में की जाएगी।

राजकीय कार भी नहीं कर सकेंगे उपयोग
‘पॉलिटिको’को प्राप्त हुए दस्तावेजों के मुताबिक, सभी विदेशी नेताओं को कहा गया है कि वे वेस्टमिंस्टर एबे में स्थानीय समयानुसार पूर्वाह्न 11 बजे निर्धारित कार्यक्रम में पहुंचने के लिए अपनी राजकीय कार का उपयोग नहीं कर सकते हैं। उन्हें पश्चिम लंदन में एक स्थान से बस से ले जाया जाएगा।

लोगों को करना होगा लंबा इंतजार
सरकार की ओर से महारानी के अंतिम संस्कार को लेकर भारी भीड़ की आशंका जताई गई है। कहा गया है कि महारानी के अंतिम दर्शन के लिए लंबी लाइन होगी, जिसमें लोगों को लंबे इंतजार से गुजरना होगा। महारानी का ताबूत बुधवार को शाम पांच बजे वेस्टमिंस्टर लाया जाएगा। तब से लेकर 19 सितंबर सुबह साढ़े छह बजे तक लोग यह ताबूत यहां रखा जाएगा।

अंतिम दर्शन के लिए नियम लागू
महारानी के अंतिम दर्शन के लिए रविवार को हजारों लोगों की लाइनें सड़कों पर देखी गईं। इसके बाद नियमों को सार्वजनिक किया गया। कहा गया है कि अंतिम दर्शन के लिए एक लंबी लाइन होगी, जो बहुत लंबी होने की उम्मीद है। आपको बैठेन का बहुत कम अवसर मिलेगा। यह लाइन रात भर लगी रह सकती है, जिसमें आपको कई घंटों तक खड़ा रहना पड़ सकता है। कहा गया है कि यह कतार लगातार चलती रहेगी।

एक चेन वाला छोटा बैग ला सकेंगे
नियमों को सार्वजनिक करते हुए कहा गया है कि यहां आने वालों को हवाई अड्डे पर भारी सुरक्षा से गुजरना होगा। आप अपने साथ केवल एक चेन वाला छोटा बैग ला सकते हैं। विशेष सुविधा के तहत बड़े बैग रखे जा सकते हैं, लेकिन वह सिर्फ तब होगा जब जगह उपलब्ध होगी। मंत्रालय ने कहा है कि संभावित लंबे इंतजार के लिए आंगतुक अपने साथ जरूरी सामान रखें। इसमें एक छाता, सनस्क्रीन, मोबाइल फोन के साथ पॉवर बैंक और जरूरी दवाएं। इसके अलावा अंतिम दर्शन के दौरान किसी भी प्रकार के खाद्य या तरल पदार्थ की अनुमति नहीं दी जाएगी। न ही फूल, मोमबत्तियों और खिलौनों को ले जाने की अनुमति होगी।

पैलेस के अंदर रहना होगा शांत
मंत्रालय की ओर जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि वेस्टमिंस्टर पैसेस के अंदर सभी को चुप रहना होगा। सभी को उचित कपड़े पहनने की सलाह दी जाती है, इसके अलावा सुरक्षा के दौरान मोबाइल फोन भी बंद करना अनिवार्य होगा।

Share:

Next Post

हिजाब विवाद: मुस्लिम पक्ष का तर्क, कुरान पर नहीं, महिलाओं के अधिकार पर हो फैसला

Tue Sep 13 , 2022
नई दिल्‍ली। शैक्षणिक संस्थानों (educational establishments) में हिजाब विवाद का मामला (hijab controversy) अभी शांति नहीं हुआ है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सुनवाई चल रही है। अब सोमवार को मुस्लिम पक्ष ने अपने सुर बदले हैं और कहा है कि हिजाब की जरूरत को कुरान के बजाए महिला के अधिकार के […]