मनोरंजन

ये है दीवानगी का जुनून : Sonu Sood से मिलने नंगे पांव ही हैदराबाद से मुंबई पहुंच गया उनका ये ‘फैन’

नई दिल्ली: बॉलीवुड स्टार्स को लेकर फैंस की दीवानगी कमाल की होती है, और वो स्टार जब सोनू सूद (Sonu Sood) हों तो बात कुछ और ही ज्यादा खास हो जाती है. वजह ये है कि सोनू सूद (Sonu Sood) एक फिल्म स्टार होने के साथ ही एक रियल लाइफ हीरो भी हैं. लोग उनके अभिनय के साथ-साथ उनकी नेकदिली के लिए भी पसंद करते हैं. अब जब कोई शख्स इतना खास हो तो उसके लिए लोगों की दीवानगी भी खास होती है.

नंगे पांव किया इतना लंबा सफर
हाल ही में ऐसी ही दीवानगी देखने को मिली एक युवक सोनू सूद (Sonu Sood) से मिलने हैदराबाद से मुंबई पैदल पहुंच गया. इस लड़के ने नंगे पैर इतनी लंबी दूरी तय की जिसके बाद एक्टर ने न सिर्फ उसके साथ तस्वीरें खिंचवाईं बल्कि उसे डैडिकेट करते हुए एक सोशल मीडिया पोस्ट भी अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर की है. इस लड़के ने हाथ में एक बोर्ड उठा रखा है जिस पर सोनू सूद (Sonu Sood) की तस्वीर लगी है.

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Sonu Sood (@sonu_sood)

सोनू ने लिखी लड़के के लिए पोस्ट
बोर्ड पर लिखा है- हैदराबाद से मुंबई. इस लड़के का नाम वैंकटेश है और इसके साथ तस्वीर शेयर करते हुए सोनू सूद (Sonu Sood) ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर लिखा, ‘वैंकटेश, ये लड़का मुझसे मिलने नंगे पैर हैदराबाद से मुंबई आ गया. बावजूद इसके कि मैं उसके यहां आने के लिए साधनों का बंदोबस्त करना चाहता था. यह वाकई प्रेरणादायक है और मुझे बहुत विनम्रता महसूस हो रही है.’

मजदूरों के मसीहा हैं सोन सूद
सोनू ने अपनी पोस्ट में लिखा, ‘मैं किसी को भी इस तरह की परेशानी उठाने के लिए उत्साहित नहीं कर रहा हूं. आप सभी से बहुत प्यार करता हूं.’ बता दें कि जब पूरे देश में तालाबंदी हुई थी तो सोनू सूद (Sonu Sood) प्रवासी मजदूरों के लिए मसीहा बनकर उभरे थे. उन्होंने दूर दराज इलाकों में फंसे बेहिसाब लोगों को उनके घरों तक पहुंचाने में मदद की थी. सोनू आज भी हर रोज तमाम लोगों की किसी न किसी तरह से मदद करते रहते हैं.

Next Post

कोरोना प्रबंधन के नाम पर गोले बनाते इंदौरी नेता

Fri Jun 11 , 2021
वार्ड स्तर पर बनी कमेटियां भी बोगस साबित… कोरोना से ज्यादा जनता और कारोबारियों से लड़ते रहे शासन-प्रशासन इंदौर, राजेश ज्वेल।  14 महीने कोरोना से जूझते हुए जनता और कारोबारियों को हो गए हैं। दूसरी तरफ इंदौरी नेता या तो फीते काटने में या सडक़ों पर निकलकर गोले बनाने जैसी नौटंकियों में ही व्यस्त अधिक […]