बड़ी खबर

‘जवाद’ मचा सकता है तबाही; 100 से अधिक ट्रेनें रद्द, NDRF तैनात

नई दिल्ली/भुवनेश्वर। देश के पूर्वी तट (east coast of the country) की तरफ चक्रवाती तूफान जवाद (Cyclone Jawad) संभावित खतरे से निपटने के लिए केन्द्र सरकार पूर्ण रूप से तैयार है । तेजी से आगे बढ़ रहा तूफान आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) और ओडिशा (Odisha) तटीय इलाकों से टकराने की संभावना है। इस तूफान का असर देश के अलग-अलग हिस्सों दिखाई दे सकता है, किंतु इससे सबसे ज्यादा आंध्र प्रदेश और ओडिशा प्रभावित होंगे। ऐसे में दोनों राज्यों की सरकार ने इसे लेकर कई दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।
वहीं चक्रवात से निपटने के लिए पूर्वी तट वाले राज्यों में NDRF की 46 टीमों को तैनात कर दिया गया है, जबकि चक्रवात जवाद के चलते इंडियन रेलवे ने 107 ट्रेनें कैंसिल कर दी हैं।



बता दें कि देश के पूर्वी तट की तरफ चक्रवाती तूफान जवाद (Cyclone Jawad) संभावित खतरे से निपटने के लिए केन्द्र सरकार पूर्ण रूप से तैयार है । प्रशासन द्वारा जारी किये गये सतर्क सूचना का पालन करना होगा तथा धैर्य व साहस के साथ इस तूफान का हमें मुकाबला करना होगा । केन्द्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने ट्वीट कर यह बात कही ।
श्री प्रधान ने ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार संभावित तूफान जवाद के मुकाबले के लिए पूरी तरह से तैय़ार है । प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में आयोजित तैयारी समीक्षा बैठक में ओडिशा समेत प्रभावित इलाकों के लोगों का सुरक्षित तरीके से स्थानांतरण पर जोर दिया गया है ।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि तूफान का मुकबला करने के लिए सभी मंत्रालय एवं संस्थाएं संयुक्त रूप से काम करने के लिए तैयार हैं । तूफान के बाद बिजली आपूर्ति, टेली कम्युनिकेशन, विशुद्ध पेय जल तथा अत्य़ावश्यक सामग्री एवं जरूरी सेवाएं सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक निर्देश दिये गये हैं । मंत्री ने लोगों से अपील की है कि आपदा के दौरान प्रशासन द्वारा जारी सतर्क सूचना को मानें तथा धैर्य एवं साहस के साथ इसका मुकाबला करें । जवाद के कारण किसी की कोई क्षति न हो, इसके लिए उन्होंने प्रभु जगन्नाथ जी से प्रार्थना की है । एजेंसी

Share:

Next Post

कोरोना के डेल्टा वैरिएंट के मुकाबले ओमिक्रॉन से दोबारा संक्रमण होने का खतरा तीन गुना ज्यादा

Sat Dec 4 , 2021
जोहानिसबर्ग। कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर पूरी दुनिया एक बार फिर से दहशत में है। वैज्ञानिक भी नए वैरिएंट को लेकर सकते में हैं। ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर नए-नए अध्ययन सामने आ रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका के स्वास्थ्य संगठनों के एक समूह ने एक स्टडी की है। समूह ने नए अध्ययन में […]