देश

Jharkhand : मां के धर्मांतरण से आहत बेटे ने किया Suicide, प्रार्थना के जरिए जिंदा करने की हुई घंटों कोशिश

चतरा। झारखंड (Jharkhand) के चतरा जिले (Chatara District) में जोरी-वशिष्ठ नगर थाना क्षेत्र स्थित कटैया पंचायत (Kaitya Panchayat)  के पन्नाटांड रविदास टोला में अपने परिजनों के द्वारा ईसाई धर्म (Christian Religion) अपनाने की बात से आहत होकर बेटे ने कुएं में कूदकर जान दे दी। दरअसल पन्नाटाड रविदास टोला के कमलेश दास के एक 14 वर्षीय पुत्र सूरज कुमार दास ने शुक्रवार की देर शाम कुएं में कूदकर अपनी जान दे दी।

ईसाई धर्म की प्रार्थना से मृत युवक को जिंदा करने की हुई कोशिश
बताते हैं कि युवक के शव को कुएं से निकालने के बाद ईसाई धर्म की प्रार्थना से मृत युवक को जीवित करने का प्रयास काफी घंटों तक किया जाता रहा। इस घटना की जानकारी मिलने के बाद वशिष्ठ नगर पुलिस ने गांव पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लेते हुएपोस्टमार्टम (Post Mortem) के लिए चतरा सदर अस्पताल (Sadar Hospital) भेज दिया गया। इस घटना को जहां लोग धर्मांतरण से जोड़कर बता रहे हैं। वहीं पुलिस इस मामले से इत्तेफाक नहीं रखती।

मां के ईसाई धर्म में संलिप्तता से नाराज था युवक
स्थानीय ग्रामीण नित्यानंद मिश्रा ने बताया किसूरज इन दिनों अपनी मां के ईसाई धर्म में संलिप्तता से खासा आक्रोशित था और मिशनरियों (Missionaries) द्वारा गांव के लोगों को गुमराह कर धर्मांतरण कराने की बात को लेकर लगातार विरोध कर रहा था। कहते हैं कि पिछले एक महीने से इस बात को लेकर सूरज डिप्रेशन(Depression)  में चला गया था। घर के लोग बच्चे का मानसिक संतुलन बिगड़ने की बात समझ कर उसका इलाज ईसाई धर्म की प्रार्थना के माध्यम से करने का काम कर रहे थे। जिसके कारण बच्चे का मानसिक संतुलन लगातार बिगड़ता चला गया और उसने कुएं में कूदकर अपनी जान दे दी।

पैसे का लालच देकर की जा रही धर्मांतरण की कोशिश?
सूरज के द्वारा गांव के लोगों से धर्मांतरण का विरोध करने के लिए ग्रामीणों को जागरूक करने की भी बात बताई जा रही है। सूरज हंटरगंज कॉलेज के इंटर का छात्र था। ग्रामीण बताते हैं कि बाहरी लोगों के साथ मिलकर कुछ स्थानीय लोग पैसे का लोभ लालच देकर पन्नाटांड में लोगों को ईसाई धर्म अपनाने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। पन्नाटाड़ टोला 12 घरों के करीब एक सौ लोगों की आबादी वाला टोला (Tola) है। जहां गरीब मजदूर तबके के लोग निवास करते हैं और इनकी गरीबी व आर्थिक तंगी (Economic Crisis) का लाभ उठाकर ईसाई मिशनरी के लोग उन्हें धर्म परिवर्तित करने के लिए कहते हैं।

मामले की जांच में जुटी पुलिस
इधर पुलिस पूरे मामले की पड़ताल में जुटी हुई है। जोरी थाना के एएसआई (ASI) ने कहा कि सूचना मिली थी कि किसी युवक की मौत हो गई है और ईसाई मिशनरी प्रार्थना (Christian Missionary Prayer) के  जरिए उसे जिंदा करने की कोशिश कर रहे हैं। मामला क्या है, इसकी जांच की जा रही है।

Share:

Next Post

PSLV-C51 launch : ISRO कर रहा है 2021 का पहला लॉन्‍च, अंतरिक्ष में ले जाएगा भगवदगीता

Sun Feb 28 , 2021
बेंगलुरु। भारत का रॉकेट रविवार को श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से पहली बार ब्राजील का उपग्रह लेकर अंतरिक्ष रवाना होगा। यह भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) का 2021 में पहला प्रक्षेपण है। इस रॉकेट को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (एसडीएससी) एसएचएआर से प्रक्षेपित करने का समय 28 फरवरी को सुबह 10 बजकर 24 मिनट […]