मनोरंजन

Kuch Kuch Hota Hai: जानें रानी मुखर्जी को अपने ही रोल के बचाव में क्‍यों उतरना पड़ा

मुंबई। रानी मुखर्जी (Rani Mukerji) ने 1998 में आई फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ (Kuch Kuch Hota Hai) में अपने और शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) के रोल का बचाव किया है. एक इंटरव्यू में, रानी मुखर्जी (Rani Mukerji) ने कहा कि फिल्म में उनके रोल (टीना) में इतनी गहराई थी कि शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) का रोल (राहुल) उसके लिए अपना प्यार जाहिर कर सके. उन्होंने यह भी कहा कि चूंकि टीना एक दयालु इंसान थी, जिसे पाना बहुत मुश्किल था, इसलिए राहुल ने उसमें बेहद दिलचस्पी दिखाई.
‘कुछ कुछ होता है’ (Kuch Kuch Hota Hai) एक रोमांटिक कॉमेडी-ड्रामा(romantic comedy-drama) है, जिसमें शाहरुख खान(Shahrukh Khan), काजोल (Kajol) और रानी मुखर्जी (Rani Mukerji) ने अभिनय किया है. इसे करण जौहर ने लिखा और निर्देशित किया था, जो एक ब्लॉकबस्टर साबित हुई थी. हालांकि, पिछले कुछ सालों में लोगों ने इस बात पर जोर दिया है कि फिल्म में शाहरुख का रोल काफी उतावले स्वभाव का था. दर्शकों ने यह भी बताया कि फिल्म में महिलाओं को किस तरह से दिखाया गया है.


एक इंटरव्यू में, रानी मुखर्जी ने कहा, ‘टीना एक दयालु इंसान थी, जिसे पाना राहुल के लिए बहुत कठिन था, इसलिए उसमें टीना को लेकर ज्यादा उत्सुकता थी. फैक्ट यह है कि उन्होंने कॉलेज में ‘ओम जय जगदीश हरे’ गाया था, जबकि वह लंदन में पैदा हुई और पली-बढ़ी है. इससे भी राहुल, टीना की ओर आकर्षित हुआ था.’
रानी ने यह भी कहा, ‘मैं ऐसा नहीं कहूंगी कि वह टॉमबॉय जैसी दिखने वाली अंजलि के पीछे जाने के बजाय एक ऐसी लड़की के पीछे गया था जो दिखने में बहुत अच्छी थी. मैं इसे उतना हल्का नहीं बनाऊंगी. मैं कहूंगी कि टीना के रोल में बहुत गहराई थी कि राहुल जैसे लड़का उसके प्यार में पड़ा. आखिर में टीना ही राहुल और अंजलि के बीच के प्यार को समझ पाती है. आप जानते हैं कि टीना में एक अच्छी दिखने वाली लड़की होने के साथ-साथ काफी गहराई भी थी.’
रानी ने यह भी कहा कि प्यार में पड़ना हर एक इंसान के लिए अलग-अलग होता है. इसलिए, किसी को उनकी पसंद की वजह से नहीं आंका जा सकता. उन्होंने आगे कहा कि जो आपको सही लगे, वह दूसरे व्यक्ति के लिए गलत हो सकता है.
फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ रानी मुखर्जी के करियर में खास जगह रखती है. एक्ट्रेस ने 1996 की फिल्म ‘राजा की आएगी बारात’ के साथ हिंदी सिनेमा में डेब्यू किया था, जिसके बाद फिल्म ‘गुलाम’ की थी. उन्होंने ‘साथिया’, ‘हम तुम’, ‘वीर-जारा’, ‘चलते चलते’, ‘ब्लैक’, ‘बंटी और बबली’, ‘मर्दानी’ और ‘हिचकी’ जैसी कई फिल्मों में भी अभिनय किया है.

Share:

Next Post

मद्रास हाई कोर्ट का फैसला, धर्म परिवर्तन कर लेना, अंतर-जातीय विवाह प्रमाण पत्र पाने का आधार नहीं

Fri Nov 26 , 2021
चेन्‍नई । मद्रास हाई कोर्ट (madras high court) ने फैसला सुनाते हुए कहा है कि दूसरे धर्म में परिवर्तित होने के बाद किसी व्यक्ति की जाति नहीं बदलती, वह अपरिवर्तित रहती है. उसके आधार पर, कोई अंतर-जातीय विवाह प्रमाण पत्र (inter-caste marriage certificate) जारी नहीं किया जा सकता है. न्यायमूर्ति एस एम सुब्रमण्यम ने मेत्‍तूर […]