बड़ी खबर मध्‍यप्रदेश

MP : आदिवासियों को बीजेपी नेता ने दी सलाह, कहा- ‘शराब बनाकर बेचो और खूब पैसे कमाओ’,

भोपाल। मध्य प्रदेश में बीजेपी नेता अनिल पांडे का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल (Anil Pandey Video Viral On Social Media) हो रहा है इस वीडियो में वह आदिवासियों से शराब न पीने की अपील जरूर कर रहे हैं, लेकिन उन्हें शराब बनाकर बेचने के लिए उकसाते नजर आ रहे हैं। बीजेपी नेता आदिवासियों से कह रहे हैं कि वह शराब बेचकर इससे पैसे कमाएं (Sell Liquor Or Earn Money) लेकिन इसे खुद न पिएं और न ही अपने बच्चों को इसे पीने दें।

बीजेपी नेता की यह अजीबोगरीब सलाह सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। वायरल वीडियो मध्य प्रदेश के जेरा खास गांव का बताया जा रहा है। सीएम शिवराज सिंह चौहान का बर्थडे (CM Shivraj Birthday Celebration) मनाने बीजेपी के सीनियर नेता अनिल पांडे अपने समर्थकों के साथ आदिवासियों के बीच पहुंचे थे। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि आदिवासी शरबा जरूर बनाएं और बेचें, लेकिन इसे न तो खुद पिएं और न ही अपने बच्चों को पीने दें। उन्होंने कहा कि शराब बेचकर मिलने वाले पैसों से वह अपने बच्चों को खूब पढ़ाएं।

लोगों को दिलाई शराब न पीने की शपथ : अनिल पांडे का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। एक तरफ तो वह लोगों को शराब न पीने को लेकर शपथ दिला रहे हैं वहीं दूसरी तरफ वह उन्हें अवैध रूप से शराब बनाकर बेचने की सलाह दे रहे हैं। जिस गांव में अनिल पांडे अवैध शराब बनाकर बेचने की सलाह दे रहे थे उनकी पत्नी सिमता उस गांव की सरपंच भी हैं।

सीएम के शराबबंदी अभियान पर लगाया बट्टा : बीजेपी नेता की इस तरह की अजीबोगरीह अपील के बाद सीएम शिवराज सिंह के शराबबंदी के मिशन पर पलीता लगता नजर आ रहा है। कुछ दिनों पहले सीएम शिवराज सिंह ने लोगों से अपील करते हुए कहा था कि अगर लोग शराब नहीं खरीदेंगे तो शराब बेचने वाले खुद ही पीछे हटना शुरू कर देंगे। सीएम ने लोगों से राज्य को शराब मुक्त बनाने में सहयोग मांगा था। लेकिन बीजेपी नेता सीएम के बयान के बिल्कुल उलट लोगों को शराब बेचने के लिए उकसा रहे हैं।

Next Post

मध्यप्रदेश में निकाय चुनाव, 15 मार्च तक तारीखों का ऐलान संभव

Sun Mar 7 , 2021
30 अप्रैल तक चुनाव हो सकते हैं सम्पन्न, कलेक्टरों को तैयारी के निर्देश भोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में नगरीय निकाय चुनाव की तिथि का ऐलान 15 मार्च तक किया जा सकता है। चुनाव आयोग हर हाल में 30 अप्रैल तक चुनाव प्रक्रिया सम्पन्न कराना चाहता है। इसके लिए सभी कलेक्टरों (, Collectors) को निर्देश जारी […]