व्‍यापार

Gold में निवेश का है सही समय! 10,000 रुपये सस्ता मिल रहा सोना, जानें विशेषज्ञ की राय

नई दिल्ली। अगर आप सोना खरीदने (Buy Gold) की सोच रहे हैं तो आपके पास यही सबसे सही मौका है. ऐसा इसलिए क्योंकि वर्तमान में सोना रिकॉर्ड हाई से 10,000 रुपये (Gold rates) सस्ता मिल रहा है. जानकारों के मुताबिक, सोने का भाव अभी और नीचे जा सकता है. इसके अलावा US Fed की उम्मीद से पहले दरें बढ़ाने के संकेत, Strong डॉलर और चीन का Evergrande संकट टलने समेत कई ट्रिगर हैं, जो Gold पर दबाव बना रहे हैं. क्या सोना खरीदने का ये सही मौका है या अभी थोड़ा इंतजार करें…यहां जानिए…

1 साल में 10,000 सस्ता
1 साल में सोने की चाल पर नजर डालें तो अगस्त 2020 में सोने की कीमत 56,191 रुपये प्रति 10 ग्राम थी जबकि सितंबर 2021 में सोने की कीमत 46,000 रुपये प्रति 10 ग्राम है.


सोने में गिरावट की बड़ी वजह
सोने में गिरावट की बड़ी वजह यह भी है कि डॉलर इंडेक्स एक महीने की हाई पर पहुंचा है. Fed ने उम्मीद से पहले दरें बढ़ाने के संकेत दिए है. Fed 2022 मध्य तक पैकेज खत्म कर सकता है. वही वैक्सीनेशन में तेजी, इकोनॉमी में रिकवरी के संकेत नजर आ रहे है. इस बीच चीन का Evergrande संकट टलने से भी इसमें दबाव बना है.

सोने में निवेश का है मौका
फेस्टिवल सीजन में सोने में बड़ी गिरावट आई है. सोना 6 हफ्ते के निचले स्तर पर फिसला है. कॉमेक्स पर सोने का भाव 1750 डॉलर के लेवल के करीब है जबकि MCX पर 46,000 के स्तर पर कारोबार कर रहा है. SPDR Gold ETF होल्डिंग 8.1 टन घटी है. गुरुवार को होल्डिंग 0.8% घटकर 992.65 टन पर रही है. सोने का भाव रिकॉर्ड हाई से करीब 20% नीचे पहुंचा है. 7 अगस्त 2020 को 56191 का रिकॉर्ड हाई बनाया था.

इस तरह चेक कर सकते हैं सोने की शुद्धता
बता दें अगर अब आप सोने की शुद्धता चेक करना चाहते हैं तो इसके लिए सरकार की ओर से एक ऐप बनाया गया है. BIS Care app से ग्राहक (Consumer) सोने (Gold) की शुद्धता (Purity) की जांच कर सकते हैं. इस ऐप (App) के जरिए सिर्फ सोने की शुद्धता की जांच ही नहीं बल्कि इससे जुड़ी कोई भी शिकायत भी कर सकते हैं.

Share:

Next Post

1 अक्टूबर से वेतन में हो सकती है कटौती, जानें सरकार के नए वेज कोड में क्‍या-क्‍या

Sat Sep 25 , 2021
नई दिल्ली। कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर आ सकती है. सरकार 1 अक्टूबर से नया वेज कोड (New Wage Code) लागू कर सकती है. पहले ये 1 अप्रैल से लागू होने वाला था. लेकिन राज्य सरकारों के अटकलों के कारण इसे नहीं लागू किया गया. अब ये नियम अक्टूबर में लागू किया जा सकता है. […]