बड़ी खबर

पुलिस ने तीन किडनैपर्स को पकड़ा व्यापारी को अगवा कर 5 करोड़ रुपए की फिरौती मांगने के मामले में


भीलवाड़ा । व्यवसाई को अगवा कर (Kidnapping the Businessman) 5 करोड रुपए फिरौती की मांगने के मामले में (In the Case of Demanding a Ransom of Rs. 5 Crore) पुलिस (Police) ने त्वरित कार्रवाई कर घटना में प्रयुक्त एक i20 कार (An i20 Car Used in the Event) , एक पिस्टल मय कारतूस (A Pistol with Cartridge) बरामद कर तीन किडनैपर्स (Three Kidnappers) को गिरफ्तार कर लिया (Arrested) । फिलहाल पुलिस की टीम घटना में शामिल छह अन्य अभियुक्तों की तलाश में जगह-जगह दबिश दे रही है। 15 दिन पहले किडनैप की योजना तैयार की गई, जिसे किडनैपर्स ने शनिवार को अंजाम दे दिया।


एसपी आदर्श सिद्धू ने बताया कि शहर के शास्त्री नगर निवासी व्यापारी ललित कृपलानी के पास नामी पान मसाला कंपनी की एजेंसी है। शनिवार दोपहर ऑफिस से खाना खाने घर आते समय सोनी अस्पताल के पास i20 कार में आए बदमाशों ने गन पॉइंट पर अपहरण कर परिजनों से 5 करोड़ रुपयों की फिरौती की मांग की। भाई दीपक कृपलानी की रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज कर संपूर्ण जिले में नाकाबंदी कराई गई।

इसी दौरान सूचना मिली की अपहरण में काम में ली गई कार को कोदूकोटा की तरफ देखा गया है। इस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चंचल मिश्रा के नेतृत्व में उस क्षेत्र में पडने वाले थानों पर सघन नाकाबंदी कर सर्च ऑपरेशन चलाया गया। कोटडी थाना पुलिस द्वारा की गई नाकाबंदी को देख एक संदिग्ध i20 कार वापस मुड़कर भागने लगी।
मौके पर नाकाबंदी में लगे थानाधिकारी कोटडी खिवराज गुर्जर द्वारा दो टीमें बनाकर कार का पीछा किया और उसे कोटडी जाजपुर रोड पर रोक लिया। रुकते ही कार से दो युवक उतरकर भागने लगे, जिन्हें पीछा कर दबोच लिया। कार में बैठे एक अन्य आरोपी को डिटेन कर पीछे की सीट पर लहूलुहान हालत में मिले अपह्रत ललित कृपलानी को छुड़ाया गया।

व्यापारी ललित कृपलानी को अगवा कर फिरौती के मामले में मौके से पकड़े गए आरोपी सनी ओड उर्फ संदीप पुत्र हजारीलाल (19) निवासी ओड़ों का खेड़ा थाना कोतवाली, सत्तू माली पुत्र भैरूलाल (21) निवासी विजय नगर थाना सुभाष नगर एवं विनय प्रताप सिंह पुत्र मनोहर सिंह (21) निवासी सांगानेर थाना सुभाष नगर भीलवाड़ा को बापर्दा गिरफ्तार किया गया। घटना में शामिल अन्य आरोपियों राहुल माली, विनोद राजपूत, लक्ष्मण माली, कन्हैया पुरी, लोकेश सिंह एवं किशनपुरी की तलाश की जा रही है।

पूछताछ में सामने आया कि घटना की योजना 15 दिन पहले विनोद सिंह उर्फ लक्की शूटर एवं सत्तू माली ने जेल के सात साथियों के साथ मिल बनाई थी। सभी को मोटी रकम मिलने का लालच देकर साथ मिलाया। व्यापारी ललित के घर और ऑफिस की रेकी कर मालूम किया कि वह 10:00 बजे ऑफिस जाता है और लगभग दोपहर 2:00 बजे खाना खाने घर लौटता है। घटना के रोज शनिवार की दोपहर में सभी अभियुक्त कार एवं स्कूटी से रवाना हुए और सोनी हॉस्पिटल के पास घटना को अंजाम  दिया।

Share:

Next Post

‘मटका क्वीन’ जया के खिलाफ 13 नए मामले दर्ज किए क्राइम ब्रांच ने

Mon Sep 26 , 2022
मुंबई । मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच (Crime Branch of Mumbai Police) ने ‘मटका क्वीन’ जया के खिलाफ (Against ‘Matka Queen’ Jaya) 13 नए मामले (13 new cases) दर्ज किए (Registered), जिनमें आरोप लगाया है कि वह शहर में अपने मटका जुए के कारोबार को लगातार सक्रिय रख रही हैं। क्राइम ब्रांच द्वारा जया के […]