खेल

पीवी सिंधु पैर में स्ट्रेस फ्रैक्चर के चलते बैडमिंटन वर्ल्ड चैंपियनशिप से हटीं

नई दिल्ली। भारत (India) की दिग्गज महिला बैडमिंटन खिलाड़ी (Legendary female badminton player) पीवी सिंधु (PV Sindhu) ने आगामी बैडमिंटन वर्ल्ड चैंपियनशिप (Badminton World Championship) से हटने का फैसला लिया है। हाल ही में समाप्त हुए राष्ट्रमंडल खेल 2022 के दौरान सिंधु के बाएं पैर में स्ट्रेस फ्रैक्चर हुआ था और इसी कारण वह 21 अगस्त से शुरु हो रहे टूर्नामेंट में नहीं खेलेंगी। दर्द के बावजूद सिंधु ने फाइनल में अच्छा प्रदर्शन करते हुए जीत हासिल की और गोल्ड अपने नाम किया था।

सोशल मीडिया पर अपना बयान जारी करते हुए पीवी सिंधु ने लिखा कि गोल्ड जीतने के बाद वह काफी उत्साह में हैं, लेकिन दुर्भाग्य से उन्हें वर्ल्ड चैंपियनशिप से हटना पड़ेगा। उन्होंने आगे लिखा, “राष्ट्रमंडल खेल के क्वार्टर फाइनल में ही चोट का डर था, लेकिन कोच, फिजियो और ट्रेनर की मदद से मैं फाइनल तक खेल पाई। काफी अधिक दर्द के कारण हैदराबाद आते ही मैंने MRI कराई जिसमें स्ट्रेस फ्रैक्चर सामने आया है।”

वर्ल्ड चैंपियनशिप में कैसा रहा है सिंधु का प्रदर्शन?
बैडमिंटन वर्ल्ड चैंपियनशिप में सिंधु पांच बार मेडल जीत चुकी हैं। उन्होंने 2013 और 2014 में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। 2017 और 2018 में उन्होंने लगातार फाइनल गंवाए और सिल्वर से संतोष किया। 2019 में सिंधु का गोल्ड जीतने का इंतजार समाप्त हुआ और उन्होंने जापान की नोजोमी ओकुहारा को हराते हुए गोल्ड पर कब्जा जमाया। 2017 में ओकुहारा ने ही सिंधु को फाइनल में हराया था।

सिंगापुर ओपन में सिंधु ने किया था अच्छा प्रदर्शन
पिछले महीने सिंधु ने चीन की वैंग झी यी को 21-9, 11-21, 21-15 से हराते हुए पहली बार सिंगापुर ओपन का खिताब अपने नाम किया था। सिंगापुर ओपन जीतने के साथ ही सिंधु ने चौथा BWF वर्ल्ड टूर टाइटल जीता था। उन्होंने 2018 में BWF वर्ल्ड टूर फाइनल और फिर 2022 में तीन खिताब जीते हैं। वह BWF वर्ल्ड टूर इवेंट्स में पांच बार उपविजेता भी रह चुकी हैं।

Share:

Next Post

शेयर समीक्षाः लगातार चौथे सप्ताह शेयर बाजार में बनी रही तेजी

Mon Aug 15 , 2022
नई दिल्ली। शुक्रवार को खत्म हुआ कारोबारी सप्ताह एक बार फिर भारतीय शेयर बाजार (Indian stock market) के लिए मजबूती वाला सप्ताह (strong week) साबित हुआ। घरेलू शेयर बाजार में लगातार चौथे सप्ताह बढ़त बनी रही। विदेशी निवेशकों (foreign investors) की खरीदारी और पहली तिमाही के बेहतर नतीजों के कारण इस सप्ताह भी घरेलू शेयर […]