खेल

बेहद मुश्किल से मिला Shreyas Iyer को टेस्ट कैप, चोट ने लगा दिया था करियर पर ब्रेक

नई दिल्ली: अस्पताल के बिस्तर से लेकर टेस्ट डेब्यू तक, श्रेयस अय्यर ने कई उतार-चढ़ाव के बाद ये कामयाबी पाई है. क्रिकेटर्स को चोट लगना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन इंजरी से उबरना और टेस्ट में डेब्यू करना यह किसी बड़ी उपलब्धि से कम नहीं है.

श्रेयस अय्यर ने याद किया मुश्किल सफर
श्रेयस अय्यर ने मंगलवार को इंस्टाग्राम पर एक वीडियो पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने अपने इलाज के दौरान की एक तस्वीर साझा की थी, इसके थोड़े दिनों बाद ही उन्होंने टेस्ट जर्सी में सोशल मीडिया पर एक तस्वीर शेयर की.

लंबे वक्त तक मैदान से रहे बाहर
23 मार्च को पुणे में इंग्लैंड के खिलाफ चोट लगने के बाद, अय्यर को लंबे समय तक मैदान से दूर रहना पड़ा. उनको ब्रिटेन में सर्जरी करानी पड़ी, इस दौरान वह रॉयल लंदन कप में लंकाशायर के लिए भी गैरहाजिर रहे. वो 2021 की शुरुआत में आईपीएल के पहले फेस में नहीं खेले थे. उनकी जगह पर ऋषभ पंत को दिल्ली कैपिटल्स की कप्तानी सौंपी गई थी.

चोट की वजह से आई थी दिक्कतें
श्रेयस अय्यर इलाज के लिए यूके चले गए और इसके बाद वह फिट होकर आईपीएल के दूसरे फेस में वापस आए. आईपीएल के बाद, श्रेयस को न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत के लिए टी20 टीम में चुना गया था, लेकिन वह टी20 विश्व कप में मेन टीम का हिस्सा नहीं बन सके.

गावस्कर ने थमाया टेस्ट कैप
बुधवार को कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट की शुरुआत से पहले महान सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskat) से टेस्ट कैप हासिल करने के बाद अय्यर भारत के 303 वें टेस्ट क्रिकेटर बन गए.

लंबा रहा श्रेयस अय्यर का सफर
ये टेस्ट कैप, प्रथम श्रेणी में 54 मैचों में 52.18 के औसत से 4592 रन के बाद आई है. अय्यर ने 2017 में अपना वनडे डेब्यू किया. साथ ही 54 टी20 मैच खेले। उन्होंने वनडे में 42.7 और टी20 में 27.6 की औसत से 1393 रन बनाए। लगातार रन बनाने की उनकी क्षमता को देखकर माना जा रहा था कि जल्द ही उनको टेस्ट टीम में शामिल किया जाएगा.

इमोशनल हुए अय्यर
गुरुवार को बीसीसीआई ने एक वीडियो पोस्ट किया, जिसमें अय्यर के चेहरे पर शांति नजर आ रही थी. अय्यर को कोच द्रविड़, कप्तान अजिंक्य रहाणे के सामने गावस्कर ने उनको कैप देते हुए बधाई दी. इसके बाद टीम के बाकी साथियों ने उनको इस पल के लिए शुभकामनाएं दीं. अय्यर इस उपलब्धि को पाकर बेहद भावुक नजर आए.

अय्यर को कानपुर का तजुर्बा
अय्यर के लिए कानपुर का मैदान कोई नया नहीं है. 2019 में उन्होंने प्रवीण कुमार, अंकित राजपूत और पीयूष चावला के आक्रमण के खिलाफ 75 रनों की अपनी शानदार पारी से मुंबई रणजी टीम को बचाया था. अब उन्हें अपनी टेस्ट कैप उसी स्थान पर मिली जहां उन्होंने रेड-बॉल क्रिकेट की शुरुआत की थी.

पहले भी कर सकते थे डेब्यू
असल में वो पहले ही टेस्ट टीम के हिस्सा हो जाते, लेकिन हर बार किसी न किसी कारण वह रह जाते थे. मार्च 2017 में, उन्हें धर्मशाला में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे और अंतिम टेस्ट के लिए विराट कोहली की जगह बुलाया.

Share:

Next Post

सर्दी के मौसम में बढ़ जाता है बीमारियों का खतरा, इन 3 चीजों से बढ़ाएं अपनी इम्‍युनिटी

Thu Nov 25 , 2021
नई दिल्‍ली। सर्दियों के मौसम में सर्दी-जुकाम(Cold and cough), बुखार होना आम बात है, लेकिन इन सब के साथ इंफेक्शन और एलर्जी का भी खतरा बढ़ जाता है। ठंड के मौसम में सेहत के प्रति जरा सी लापरवाही आपकी तबीयत को बिगाड़ सकती है। इसलिए सर्दियों के मौसम (winter season) में सेहत को लेकर ज्यादा […]